लेडी डॉन गिरफ्तार, बहन के प्रेमी का अपहरण व मर्डर में थी वांटेड

0
विजय कुमार दिवाकर
स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज के एसीपी अत्तर सिंह की सुपरविजन व दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार हूण की टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी है। टीम ने पिछले चार साल से किडनैपिंग और हत्या के केस में कोर्ट से भगोड़ा चल रही 27 वर्षीय लेडी डॉन व गैंगस्टर राहुल जाट की पत्नी निधि उर्फ भारती को अरेस्ट किया है। वर्ष 2015 में लेडी डॉन निधि ने अपने गैंगस्टर पति राहुल जाट व कुछ अन्य साथियों के साथ मिलकर जीटीबी एन्क्लेव निवासी व अपनी बहन के प्रेमी सागर उर्फ चुन्नू का दिल्ली से अपहरण करने के बाद यूपी के बागपत जिले में मर्डर करके फेक दिया था। इस मामले में वह जेल गई, लेकिन 2017 में बहन की शादी के लिए जेल से बाहर आई और फरार हो गई थी।
स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह ने बताया की स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज एसीपी अत्तर सिंह के नेतृत्व में दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार हूण की टीम गैंगस्टरों, वांटेड क्रिमिनलों व कोर्ट से भगोड़े आरोपियों को खोज खोज कर दबोच रही है।
इसी कड़ी में वर्ष 2018 से किडनैपिंग और हत्या के केस में कोर्ट से भगोड़ा चल रही गैंगस्टर राहुल जाट की पत्नी व लेडी डॉन निधि उर्फ भारती को दबोचने के लिए इंस्पेक्टर शिवकुमार हूण की टीम लगातार प्रयास कर रही थी। टीम ने लेडी डॉन के सभी सस्पेक्ट ठिकानों दोस्तों व रिश्तेदारों पर नजर रखने के साथ साथ मुखबिरों को भी एक्टिव कर दिया था। लेकिन टीम को न तो मुखबिरों से कोई लीड मिल रही थी और न ही दोस्तों व रिश्तेदारों से।
इसी दौरान लेडी डॉन निधि उर्फ भारती का पति गैंगस्टर राहुल जाट भी जमानत पर बाहर आ गया था। दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार हूण को पूरा भरोसा था की लेडी डॉन या उसका पति एक दूसरे से संपर्क जरूर करेंगे।
टीम ने तुरंत लेडी डॉन के पति गैंगस्टर राहुल जाट के चारों तरफ मुखबिरों का जाल बिछाने के साथ उसका मोबाइल भी सर्विलांस पर लगवा दिया। लेकिन काफी समय तक नजर रखने के बाद भी लेडी डॉन के मूवमेंट को लेकर कोई इनफार्मेशन नहीं मिली।
https://youtu.be/N_OJm7-zmIIस्पेशल सेल दक्षिणी रेंज के अनुभवी व तेजतर्रार एसीपी अत्तर सिंह को पूरा यकीन था की वांटेड लेडी डॉन काफी शातिर और क्रिमिनल बैकग्राउंड से है और मोबाइल से ट्रैक किया जा सकता है यकीनन इसलिए वो मोबाइल का तो इस्तेमाल नहीं कर रही होगी। लेकिन एसीपी अत्तर सिंह को एक बात खटक रही थी को लेडी डॉन काफी समय से अंडर ग्राउंड हैं। इतने लम्बे समय तक बिना मदद के लेडी डॉन का सर्वाइव करना आसान नहीं है कोई न कोई तो लिंक है जो लेडी डॉन की मदद कर रहा है।
एसीपी अत्तर सिंह के नेतृत्व में दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार हूण की एक सोशल मीडिया टीम ने लेडी डॉन के पति गैंगस्टर राहुल जाट के मोबाइल में डाउनलोड सभी आप्लिकेशन, सोशल मिडिया अकाउंट, एसएमएस, ईमेल व् व्हाट्सअप की एक एक इंट्री पर बारीकी से नजर रखनी शुरू कर दी। टीम को लेडी डॉन के पति गैंगस्टर राहुल जाट के मोबाइल में डाउनलोड एक ईमेल आप्लिकेशन से ब्रेकथ्रू मिला। टीम ने ईमेल आप्लिकेशन को बारीकी से स्कैन किया तो पता चला की गैंगस्टर राहुल जाट के जेल से आने के बाद कुछ सस्पेक्ट मेल आये है। स्पेशल सेल की साइबर टीम ने अपने सिस्टम पर ईमेल रीड किया तो कोड वर्ड में कुछ लिखा मिला। टीम ने ईमेल के आईपी एड्रेस को ट्रैक किया तो पता चला की यह ईमेल गाजियाबाद के गोविंदपुरम इलाके में एक कैफे से आया है।
आज के समय में सभी के पास मोबाइल फ़ोन है। ज्यादातर लोग अपने मोबाइल से ही ईमेल आदि कर लेते हैं। ऐसे में कैफे से मेल आना टीम को हजम नहीं हो रहा था। दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार हूण को पूरा शक था की इन ईमेल का लेडी डॉन से कोई न कोई लिंक जरूर होगा।
दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार हूण ने गाजियाबाद के गोविंदपुरम स्थित कैफे में मुखबिरों को एक्टिव कर दिया। इंस्पेक्टर शिवकुमार का शक सही निकला। मुखबिरों से पता चला की गोविंदपुरम कैफे से लेडी डॉन ने ही अपने पति गैंगस्टर राहुल जाट को कोड वर्ड में मेल किये हैं। मुखबिरों से टीम को यह भी पता चला की 19 मार्च की शाम लेडी डॉन फिर से कैफे में आएगी।
इनफार्मेशन कन्फर्म होते ही स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह ने स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज एसीपी अत्तर सिंह की सुपरविजन व दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार हूण के नेतृत्व में एसआई निशांत, राजेश शर्मा, अनिल कुमार, महिला एसआई नीतू, हेड कांस्टेबल प्रताप सिंह, नीरज Teotia, रोहित रावल, पंकज शर्मा, मोहित पंवार, कांस्टेबल जितेंदर व महिला कांस्टेबल मंजीत की टीम का गठन किया।
टीम ने गाजियाबाद के गोविंदपुरम इलाके में सस्पेक्ट कैफे के चारों ओर जाल बिछा दिया। देर शाम लेडी डॉन निधि उर्फ भारती आती हुई दिखाई दी। कैफे में जब वो मेल करने के लिए कम्प्यूटर पर बैठी टीम ने उसे दबोच लिया।
स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह के अनुसार जीटीबी एन्क्लेव निवासी मृतक सागर उर्फ चुन्नू लेडी डॉन निधि की बहन का प्रेमी था। यह बात लेडी डॉन निधि उर्फ भारती व उसके गैंगस्टर पति राहुल को पसंद नहीं थी। इसको लेकर दोनों ने सागर को धमकी भी दी थी। लेकिन सागर उर्फ चुन्नू ने लेडी डॉन निधि उर्फ भारती की बहन से मिलना बंद नहीं किया। इस बात से नाराज होकर निधि ने सागर की हत्या की साजिश रची।
योजनानुसार 2015 में जीटीबी एन्क्लेव इलाके से सागर उर्फ चुन्नू का लेडी डॉन निधि ने अपने पति गैंगस्टर राहुल जाट व् कुछ अन्य लोगो की मदद से अपहरण कर लिया था। इसके बाद आरोपी सागर को अपनी गाड़ी में डालकर यूपी के बागपत में ले गए, जहां उसकी जमकर पिटाई की। इसके बाद बेहोशी की हालत में उसे एक तेज रफ्तार ट्रक के आगे फेंक दिया गया था। ट्रक से कुचलकर सागर उर्फ चुन्नू की मौके पर मौत हो गई थी। शुरुआत में यूपी पुलिस इसे सड़क हादसा ही मान रही थी, लेकिन जब सागर उर्फ चुन्नू के परिजनों ने अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया और शव की शिनाख्त की तो मामले की जांच दिल्ली पुलिस ने की। इसके बाद पूरे मामले से पर्दा उठा था। सागर के मर्डर में लेडी डॉन निधि और गैंगस्टर राहुल जाट सहित कुल 9 लोगों को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था। 2017 में लेडी डॉन निधि ने बहन की शादी के लिए अंतरिम जमानत अर्जी दिल्ली की अदालत में लगाई, जो स्वीकार हो थी। अंतरिम जमानत की अवधि समाप्त होने के बावजूद लेडी डॉन निधि कोर्ट में दोबारा पेश नहीं हुई थी। साल-2018 में दिल्ली कोर्ट ने उसको भगोड़ा घोषित कर दिया था ।
इस मामले में लेडी डॉन निधि का गैंगस्टर पति राहुल जाट भी जमानत पर बाहर हैं। उसका पति कुख्यात गैंगस्टर्स रोहित चौधरी और अंकित गुर्जर का सहयोगी था। गैंगस्टर राहुल हत्या, हत्या के प्रयास, हत्या के लिए अपहरण और दिल्ली में हथियार अधिनियम सहित तीन जघन्य आपराधिक मामलों में भी शामिल है। वह गैंगस्टर अंकित गुर्जर, रघुनाथ अलियास विक्की पहलवान और अन्य के साथ पहले वर्ष 2019 में दिल्ली के लक्ष्मी नगर इलाके में उनके प्रतिद्वंद्वी अमन पर गोलीबारी में गिरफ्तार किया गया था।
सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क