शूटआउट मर्डर और हथियार तस्करी में फरार वांटेड गिरफ्तार

0
विजय कुमार दिवाकर
दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज टीम ने थाना अमर कॉलोनी इलाके मे तीन महीने पहले गैंगवार में हुई हत्या में शूटरों को पिस्तौल की Supply करने वाले फरार वांटेड inter state हथियार तस्कर को गिरफ्तार किया है। आरोपी मर्डर और हथियार तस्करी के दो मामलों में तीन महीने से फरार था। फरार आरोपी की पहचान हापुड़ यूपी निवासी 30 वर्षीय नाजिम अली के रूप में हुई है। आरोपी को दिल्ली में गाजीपुर मुर्गा मंडी के पास से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के समय वांटेड क्रिमिनल के पास से 4 जिंदा कारतूसों के साथ पॉइंट 315 की एक सिंगल शॉट पिस्टल बरामद की गई है।
स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह ने बताया की दिनांक 31 अक्टूबर व एक नवम्बर 2021 की दरमियानी रात को आश्रम में रहने वाला राहुल अपने आटो से थाना अमर कॉलोनी इलाके में जमरूदपुर रेड लाइट के पास खड़ा होकर किसी साथी का इंतजार कर रहा था। राहुल मिट्टू चीनू गैंग का बदमाश था। मुर्गेश गैंग और मिट्टू चीनू गैंग में आपस में दुश्मनी चल रही थी। राहुल को अकेला पाकर मुर्गेश गैंग का सरगना एस मुर्गेश अपने दो गुर्गों वरुण मान और कमल उर्फ बड्डी के साथ सरेराह गोली मारकर फरार हो गया था। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस राहुल को एम्स लेकर गई थी, जहां घायल राहुल ने मुर्गेश गैंग के तीन बदमाशों के नाम लिए थे। हालांकि, इलाज के दौरान राहुल की मौत हो गई थी। पुलिस टीम ने उस समय राहुल द्वारा बताए मुर्गेश गैंग के तीनो बदमाशों एस मुर्गेश, वरुण मान और कमल उर्फ बड्डीको सनलाइट कालोनी इलाके से गिरफ्तार कर लिया था।
पूछताछ में पुलिस को पता चला था की नाजिम नामक एक हथियारों का सप्लायर है और उसने अपने ही गांव के एक निवासी कामिल के माध्यम से अमर कॉलोनी थाना इलाके में हुए शूटआउट में शूटरों को पिस्तौल की आपूर्ति की थी, जिसका इस्तेमाल उन्होंने राहुल की हत्या में किया था। कुल सात लोग राहुल की साजिश और हत्या में शामिल थे। कामिल सहित सभी आरोपी व्यक्तियों को हत्या के उपरोक्त मामले में गिरफ्तार कर लिया था लेकिन नाजिम फरार हो गया था।
स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह ने बताया की फरार नाजिम को दबोचने की जिम्मेवारी स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज के एसीपी अत्तर सिंह की सुपरविजन व इंस्पेक्टर शिव कुमार एवं इंस्पेक्टर पवन कुमार के नेतृत्व वाली एक टीम को सौंपा।
टीम ने फरार नाजिम अली के movements पर टेक्नीकल व मैनुएल सर्विलांस से नजर रखकर इनफार्मेशन जुटानी शुरू कर दी। फरार नाजिम अली को दबोचने के लिए सस्पेक्ट स्थानों पर छापेमारी के साथ साथ उसके दोस्तों, रिश्तेदारों व परिवार के लोगो से कड़ी पूछताछ की। नाजिम अली के सर्कल में मुखबिरों का जाल बिछाया।
टीम की मेहनत रंग लाई। टीम को इनफार्मेशन मिली की फरार नाजिम अली दिनांक तीन फरवरी 2022 को शाम 7 से 8 बजे के बीच मुर्गा मंडी, गाजीपुर, दिल्ली किसी काम से आएगा।
इनफार्मेशन मिलते ही स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह ने मर्डर और हथियार तस्करी के दो मामलों में तीन महीने से फरार चल रहे वांटेड नाजिम अली को दबोचने के लिए स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज एसीपी अत्तर सिंह की सुपरविजन व टीम इंचार्ज इंस्पेक्टर शिव कुमार एवं इंस्पेक्टर पवन कुमार के नेतृत्व में एसआई सुमित, राजेश शर्मा, एएसआई रविंद्र सरोहा, गुरुवेंद्र, संजीव, सचिन कौशीक, हेड कांस्टेबल रोहित डांगी, मोहित पंवार, रोहित पंवार, पंकज शर्मा, रविंदर, कांस्टेबल जितेंदर और कोपिल की एक टीम का गठन किया।
टीम ने गाजीपुर मुर्गा मंडी के पास अपना जाल बिछाया। करीब 7:45 बजे नाजिम अली को स्पॉट किया गया। टीम ने आरोपी को चारो ओर से घेरकर दबोच लिया। आरोपी के पास से 4 जिंदा कारतूसों के साथ पॉइंट 315 की एक सिंगल शॉट पिस्टल बरामद की गई। फिलहाल, आरोपित से पुलिस की पूछताछ जारी है और पुलिस का दावा है कि अभी कई नये खुलासे होने की संभावना है।
सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क