सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क
नई दिल्ली, नार्थ वेस्ट डिस्ट्रिक।
कम रुपए में मंजिल तक छोड़ने का झांसा देकर लूटपाट करने वाले एक गैंग को पकड़ा गया है। पुलिस ने इस मामले में एक नाबालिग समेत तीन लोगों को अरेस्ट किया है। इनके पास से छह मोबाइल फोन और कैश बरामद हुआ है। नार्थ वेस्ट डिस्ट्रिक डीसीपी उषा रंगनानी ने बताया आरोपियों की पहचान भलस्वा डेयरी क्षेत्र निवासी अंकित व जहांगीरपुरी निवासी महाबीर के तौर पर हुई।

आरोपियों की पहचान भलस्वा डेयरी क्षेत्र निवासी अंकित व जहांगीरपुरी निवासी महाबीर के तौर पर हुई। ये लोग इको कार में बैठाकर यात्रियों से लूटपाट करते थे।

इन्हें 20 जनवरी की सुबह एक सूचना पर मुकरबा चौक के नजदीक करनाल बाईपास से पकड़ा गया। ये लोग इको कार में बैठाकर यात्रियों से लूटपाट करते थे। आरोपियों ने पूछताछ में बताया जहांगीर पुरी इलाके में उन्होंने 14 जनवरी को पंद्रह हजार रुपए और मोबाइल लूटा था। पीड़ित रविन्द्र मुकुंदपुर इलाके का रहने वाला है, जिसे इको कार में बिठाकर वारदात की गई।

इनके पास से चार हजार रुपए और पीड़ित का मोबाइल फोन बरामद हो गया। आरोपियों ने आईएसबीटी कश्मीरी गेट, आनंद विहार और करनाल बाईपास पर भी इसी तरह की लूट की वारदात को अंजाम देने की बात स्वीकार की है। आरोपी अंकित झपटमारी और वाहन चोरी के दस मामले में शामिल रह चुका है। वह पिछले साल नौ दिसंबर को ही जेल से छूटा था। इसके बाद उसने वारदात को अंजाम देना शुरु कर दिया। वहीं दूसरा आरोपी महाबीर भी पेशेवर अपराधी है।