लड़की बनकर लूटपाट करने वाले किन्नर गैंग का भंडाफोड़

0
विजय कुमार दिवाकर
दिल्ली पुलिस ने किन्नरों के एक ऐसे गैंग का भंडाफोड़ किया है जो लड़कियों की भेषभूषा में सुनसान जगाहों या घने जंगलो के पास खड़े होकर राह चलते लोगो को अश्लील इशारों से आकर्षित करके सुनसान जगाहों या घने जंगलो में ले जाकर लूट लिया करता था। गिरफ्तार किन्नरों की पहचान 42 वर्षीय रुबी, 30 वर्षीय रानी और 20 वर्षीय रवीना के रूप में हुई है। तीनों परगना पश्चिम बंगाल के रहने वाले है। यह गैंग सराय काले खां इलाके में एक्टिव था। यह गैंग लड़कियों के कपडे पहनकर और लड़कियों जैसा मैकअप करके वारदातों को अंजाम देता था। इनकी गिरफ्तारी से लूट की तीन वारदातें सुलझ गई है। इनके पास से लूट के 4500 रुपये बरामद हुए हैं।
 
थाना सनलाइट की सराय काले खां चौकी इलाके में लड़कियों के कपड़े पहनकर लूट करने वाले किन्नरों के गैंग ने दिल्ली पुलिस की नींद उड़ा रखी थी।
 
दक्षिण पूर्व जिला डीसीपी एशा पांडेय ने बताया कि किन्नर गैंग ने सराय काले खां इलाके में दिसंबर माह मे दो वारदातों को अंजाम दिया था। थाना सनलाइट काॅलोनी थाना प्रभारी विजय संसवाल की सुपरविजन व सराय काले खां चैकी इंचार्ज विष्णु दत्त के नेतृत्व मे एसआई अरूण कुमार मामले की तफ्दीश में लगे हुए थे। दिसंबर माह में हुई वारदातों में पीड़ितो ने पुलिस कंट्रोल रूम मे काॅल तो किया था लेकिन जांच के दौरान सामने नहीं आयें। पीड़ितो के सामने न आने के वाबजूद थाना सनलाइट कॉलोनी पुलिस ने एफआईआर संख्या 558/21 अन्डर सैक्शन 392/34 व एफआईआर संख्या 561/21 अन्डर सैक्शन 356/379/34 में मामला दर्जकर जांच शुरू कर दी थी।
 
उस समय एसआई अरूण कुमार ने जांच के दौरान पीड़ितों से संपर्क करने की कोशिश की थी लेकिन पीड़ितों ने जांच में सहयोग नहीं किया। एसआई अरूण कुमार ने किन्नर गैंग को दबोचने के लिए हर संभव कोशिश की थी लेकिन पीड़ितो के सामने न आने से किन्नर गैंग की पहचान नहीं हो पाई थी।
 
दक्षिण पूर्व जिला डीसीपी एशा पांडेय ने बताया कि दिनांक 18 जनवरी 2022 को सराय काले खां चौकी प्रभारी एसआई विष्णु दत्त, एसआई अरुण कुमार, एएसआई सुनील कुमार, कांस्टेबल सचिन व महिला कांस्टेबल चंद्रप्रभा यमुना खादर इलाके में गश्त कर रहे थे। गश्त के दौरान रोशन नाम का एक व्यक्ति उनके पास आया और बताया कि वह शाप्पोरजी श्रम शिविर जा रहा था। तभी लड़कियों के कपड़े पहने तीन किन्नर उसके पास आये और मश्ती का लालच देकर उसे जंगल में ले गये और उससे 4500 रुपये लूट लिए।
 
टीम तुरंत हरकत में आई और वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर जंगल के अंदर छापेमारी की। शिकायतकर्ता भी टीम के साथ था। पुलिस टीम को जंगल के अंदर तीन किन्नर दिखाई दिये। पुलिस टीम को देखकर तीनों किन्नर भागने लगे। शिकायतकर्ता के इशारा करने पर पुलिस टीम ने दौड़कर तीनो किन्नरों को दबोच लिया। सरसरी तलाशी लेने पर उनके पास से लूटे हुये 4500 रुपये नकद बरामद हुए।
 
पूछताछ में आरोपियों की पहचान 42 वर्षीय रूबी केयर ओफ रूहूल अमीन, 30 वर्षीय रानी केयर ओफ रूहूल अमीन व 20 वर्षीय रावीना केयर ओफ रानी के रूप में हुई है। तीनों आरोपी परगना पश्चिम बंगाल के रहने वाले है। तीनों के खिलाफ थाना थाना सनलाइट में एफआइआर संख्या 83/22 अन्डर सैक्शन 392/411/34 के तहत मामला दर्ज कर पूछताछ की गई।
 
कड़ी पूछताछ में तीनों आरोपियों ने कबूल किया की सराय काले खां इलाके में दिंसबर माह में हुई लूट की वारदातों को अंजाम भी इन्हीं लोगो ने दिया था।
 
पूछताछ में आरोपियों ने यह भी बताया कि आजीविका कमाने के लिए इनके पास कोई काम धंधा नहीं है। शार्टकट रास्ते से पैसा कमाने के लिए यह लोग लड़की के कपड़े पहनकर व लड़कियों जैसा मैकअप करके सुनसान जगाहों पर राह चलते लोगो को अश्लील इशारा करके जंगलो में ले जाकर लूट लेते थे।
 
42 वर्षीय रूबी केयर ओफ रूहूल अमीन ने तीसरी कक्षा तक पढाई की है और बेरोजगार है। 30 वर्षीय रानी केयर ओफ रूहूल अमीन अनपढ़ और बेरोजगार है व 20 वर्षीय रावीना केयर ओफ रानी ने 5वीं कक्षा तक पढ़ाई की है। यह सभी परगना पश्चिम बंगाल के रहने वाले है। इनकी गिरफ्तारी से लूट की तीन वारदातें सुलझ गई हैं।
 
सनसनी ऑफ इंडिया नेटवर्क