कुख्यात गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू गैंग के तीन शूटर गिरफ्तार

0

विजय कुमार दिवाकर
क्राईम ब्रांच दक्षिणी रेंज की टीम कोे लाजपत नगर मार्किट में गैंगवार में दुश्मनी के चलते विरोधी गैंगस्टर की कार पर दनादन गोलीबारी करके फरार दक्षिण दिल्ली का कुख्यात गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू गैंग के तीन गुर्गों को दबोचने में बड़ी सफलता हाथ लगी है। गिरफ्तार बदमाशों की पहचान 32 वर्षीय दीपक उर्फ गंजा, 28 वर्षीय शाहरुख उर्फ भूरा और 28 वर्षीय जितेंद्र उर्फ लंबू के रूप में हुई है। तीनों दक्षिण दिल्ली के रहने वाले हैं। इनसे 32 बोर की तीन ऑटोमेटिक पिस्तौल, दो देशी पिस्तौल, 11 जिंदा कारतूस व एक टीवीएस स्कूटी बरामद हुई है। गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू फरार है क्राईम ब्रांच की टीमे गैंगस्टर शिब्बू को भी दबोचने के लिए लगातार छापेमारी कर रही हैं।

डीसीपी राजेश देव के मुताबिक दीपक उर्फ गंजा दक्षिण दिल्ली का कुख्यात गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू गैंग का सक्रिय बदमाश है। गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू का विरोधी गैंगस्टर कपिल पंवार 16 फरवरी 2022 कीे शाम 4 बजकर 30 मिनट के आसपास लाजपत नगर कार एक्सेसरीज मार्किट में अपनी कार से आया था। कपिल पंवार की भी आपराधिक पृष्ठभूमि है और शिब्बू गैंग के साथ उसका विवाद चल रहा है।
तब दुश्मनी के चलते गैंगस्टर शिब्बू व उसकी गैंग के दस बारह बदमाशों ने गैंगस्टर कपिल पंवार पर हमला कर दिया था। बदमाश उसकी कार का शीशा तोड़ फायरिंग करते हुए फरार हो गए थे। पुलिस ने मौके से सात बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया था। गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू सहित गैंग के चार बदमाश फरार थे।

दक्षिण दिल्ली का कुख्यात गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू

क्राइम ब्रांच डीसीपी राजेश देव ने बताया की क्राइम ब्रांच दक्षिण रेंज के तेज तर्रार एसीपी संतोष कुमार की सुपरविजन में दबंग इंस्पेक्टर नरेश सोलंकी की टीम फरार गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू व उसके अन्य गुर्गों को दबोचने के लिए आरोपियों की मूवमेंट्स और इनफार्मेशन पर काफी समय से काम कर रही थी।

क्राईम ब्रांच दक्षिणी रेंज के दबंग इंस्पेक्टर नरेश सोलंकी के नेतृत्व में एसआई कृष्ण कुमार ने फरार गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू को दबोचने के लिए मुखबिरों का जाल बिछा दिया। आखिरकार 42 दिनों की कड़ी मेहनत के बाद दबंग इंस्पेक्टर नरेश सोलंकी की टीम के हाथों सफलता लग ही गई। दिनांक 29 मार्च को टीम के कांस्टेबल सूर्या देव को अपने सूत्रों से पता चला कि गैंग दक्षिण दिल्ली के देवली इलाके में कोई बड़ी वारदात को अंजाम देने आने वाली है। दंबग इंस्पेक्टर नरेश सोलंकी ने कांस्टेबल सूर्या देव को मिली इनफार्मेशन को तेज तरार्र एसीपी संतोष के साथ शेयर की।

गैंगस्टर कपिल पंवार

गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू गैंग की इनफार्मेशन मिलते ही बदमाशों को दबोचने के लिए क्राइम ब्रांच डीसीपी राजेश देव ने क्राइम ब्रांच दक्षिण रेंज के तेज तर्रार एसीपी संतोष कुमार की सुपरविजन व दबंग इंस्पेक्टर नरेश सोलंकी के नेतृत्व में एसआई कृष्ण कुमार, उदयवीर सिंह, हैड कांस्टेबल दीपक, नरेंद्र, कांस्टेबल सूर्य देव, घनश्याम, ओमप्रकाश और रवि की एक टीम का गठन किया।

टीम ने 29 मार्च को प्राचीन वाल्मीकी मंदिर, देवली रोड पर सब्जी मंडी के पास जाल बिछाया। लगभग 9 बजकर 15 मिनट के आसपास दो संदिग्ध टीवीएस स्कूटी पर आते हुए दिखाई दिये। मुखबिर के कहने पर टीम ने दोनों संदिग्धों को रूकने का इशारा किया लेकिन पुलिस टीम को देखकर दोनों संदिग्धों ने मौके से भागने की कोशिश की। टीम ने दौड़कर दोनों संदिग्धों को दबोच लिया।

संदिग्धों की पहचान दीपक उर्फ गंजा औैर शाहरुख उर्फ भूरा के रूप में हुई। दोनों देवली के रहने वाले है और गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू गैंग के सक्रिय बदमाश हैं। आरोपी दीपक उर्फ गंजा की तलाशी से दो जिंदा कारतूस के साथ एक पिस्टल और शाहरूख उर्फ भूरा से तीन जिंदा कारतूस सहित एक पिस्टल बरामद किया गया।
टीवीएस स्कूटी की तलाशी लेने पर स्कूटी की डिक्की से एक देसी पिस्टल और दो जिंदा कारतूस बरामद हुए। बरामद अवैध हथियारों से बदमाश दक्षिणी दिल्ली में एक बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे। गिरफ्तार दीपक उर्फ गंजा औैर शाहरुख उर्फ भूरा के खिलाफ थाना क्राईम ब्रांच में दिनांक 29 मार्च को एफआईआर संख्या 40/22 आम्र्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस ने गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू व अन्य बदमाशों का पता लगाने के साथ साथ अवैध हथियारों की और बरामदगी के लिए कोर्ट से दीपक उर्फ गंजा औैर शाहरुख उर्फ भूरा की दो दिन की पुलिस रिमांड ली। रिमांड के दौरान दोनो आरोपियों ने बताया कि पुलिस से बचने के लिए यह लोग मोबाईल का इस्तेमाल नहीं करते है। गैंग के एक दुसरे सदस्य तक बात पहुंचाने के लिए इन्होने खानपुर में एमबी रोड पिपल चौक के पास मीटिंग पोइन्ट बना रखा है। यह बदमाश दिन में एक बार पिपल चौक पर जरूर मिलते है।

दीपक उर्फ गंजा की निशानदेही पर आरोपी जितेंद्र उर्फ लंबू को खानपुर के एमबी रोड पीपल चैक से दबोच लिया। इसके पास से एक पिस्टल, एक तमंचा व दो जिंदा कारतूस बरामद हुआ। पूछताछ के दौरान इन लोगों ने कबूल किया की गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू के कहने पर इन लोगों ने विरोधी गैंगस्टर कपिल पंवार पर गोलियां चलाई थीं। जितेंद्र उर्फ लंबू के खिलाफ भी दिनांक 31 मार्च को थाना क्राईम ब्रांच में एफआईआर संख्या 41/22 धारा 25 आम्र्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू फरार है क्राईम ब्रांच की टीमे गैंगस्टर शिब्बू को दबोचने के लिए लगातार छापेमारी कर रही है।

गिरफ्तार तीनों बदमाशों के पास से कुल 32 बोर की तीन आॅटोमेटिक पिस्तौल, दो देशी पिस्तौल, 11 जिंदा कारतूस व एक टीवीएस स्कूटी बरामद हुई है।

शार्प शूटर्स दीपक उर्फ गंजा पुत्र

आरोपी 32 वर्षीय दीपक उर्फ गंजा पुत्र सुरेंद्र मकान नंबर 407 देवली का रहने वाला है। इसने 8वीं तक पढ़ाई की है। यह शादीशुदा है और इसका एक बच्चा है। यह गैंगस्टर सिबेक उर्फ सिब्बू गैंग का सक्रिय सदस्य है इसकी लंबी क्राईम हिस्ट्री है। इसके खिलाफ पहले से ही थाना नेब सराय, संगम विहार व तिगरी में सात आपराधिक मामलें दर्ज हैं। अपने खर्चो को पूरा करने व बिंदास लाईफ स्टाईल जीने के लिए यह सिब्बू के गिरोह में शामिल हो गया। यह इतना खतरनाक व खुंखार है कि इसने दिंसबर 2018 में दक्षिण दिल्ली के टाॅप अपराधियों व गैंगस्टरों को पीटा और उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी है। इसने गैंगस्टर सिबेक उर्फ सिब्बू गैंग के अन्य सदस्यों के साथ मिलकर विरोधी गैंगस्टर कपिल पंवार को पीट पीटकर गंभीर रूप से इतना घायल कर दिया की उसके शरीर में 16 छड़ें लगाई गई है।

शार्प शूटर शाहरूख उर्फ भूरा

दूसरा आरोपी 28 वर्षीय शाहरूख उर्फ भूरा पुत्र समीर मकान नंबर एच 328, गली नंबर 16, संगम विहार, दिल्ली का रहने वाला है। इसने तीसरी कक्षा तक पढ़ाई की है। यह भी शादीशुदा और एक बच्चे का पिता है। यह दीपक उर्फ गंजा का खास दोस्त है। दीपक उर्फ गंजा ने शाहरूख उर्फ भूरा को गैंग में शामिल करनेे के लिए गैंगस्टर सिबेक सिंह से सिफारिश की थी। इसने गैंगस्टर सिबेक सिंह उर्फ सिब्बू के कार्यालय से सटे लाजपत नगर में लीज पर एक प्राॅपटी ली और ओयो होटल चलाने लगे। तब से यह गैंगस्टर सिबेक सिंह उर्फ सिब्बू से सक्रिय रूप से जुड़ा हुआ था। कोरोना दौरान लॉकडाउन के कारण इसके ओयो होटल के धंधे को नुकसान हुआ और इसके बाद यह गैंगस्टर सिबेक सिंह गैंग का सक्रिय सदस्य बन गया। पूछताछ में उसने खुलासा किया कि उसके पास से बरामद हथियार गैंगस्टर सिबेक सिंह ने उसे दिए थे। इसकी पहली कोई क्राईम हिस्ट्री नहीं है।

शार्प शूटर जितेंदर उर्फ लम्बू

तीसरा आरोपी 28 वर्षीय जितेंदर उर्फ लम्बू पुत्र संतराम मकान नंबर डी 218, प्रथम तल कृष्णा पार्क, देवली का रहने वाला है। इसने 5वीं तक पढ़ाई की है। एक गौरव का दोस्त है। गौरव ने जितेंदर उर्फ लम्बू को गैंग में शामिल करनेे के लिए गैंगस्टर सिबेक सिंह से सिफारिश की थी। गौरव गैंगस्टर सिबेक सिंह उर्फ सिब्बू का सक्रिय सहयोगी हैं। जितेंदर उर्फ लम्बू की भी लंबी क्राईम हिस्ट्री है। इसके खिलाफ थाना मालवीय नगर, तिगरी व नेब सराय में चार अपराधिक मामले दर्ज है।

क्राईम ब्रांच दक्षिणी रेंज की टीम इनसे बरामद अवैध हथियारों के स्रोत का पता लगाने व फरार गैंगस्टर शिबेक सिंह उर्फ शिब्बू को दबोचने के लिए लगातार छापेमारी कर रही है।

सनसनी आॅफ इंडिया नेटवर्क