तुगलकाबाद किले में प्रेमी जोड़े के साथ लूटपाट करने वाले तीन लुटेरें गिरफ्तार

0

विजय कुमार दिवाकर
मात्र सातवीं व आठवीं कक्षा तक पढ़े तीन बेरोजगार युवाओं ने महंगी गाड़ी व विंदास लाइफ स्टाइल जीने के लिए शार्ट कट तरीके से जल्दी और मोटा पैसा कमाने के लालच में अपना गैंग बनाकर दिल्ली के तुगलकाबाद किले में घूमने आने वाले प्रेमी जोड़ों को लूटने की योजना बनाई। लेकिन पहली वारदात को अंजाम देते ही पुलिस के हत्थे चढ़ गए। गिरफ्तार आरोपियों की पहचान पुल प्रह्लादपुर निवासी 22 वर्षीय ज्योतिष मिश्रा उर्फ़ उत्तम, तुगलकाबाद निवासी 23 वर्षीय मोहम्मद हसनयान उर्फ चांद व पुल प्रह्लादपुर निवासी 24 वर्षीय शिवम शर्मा उर्फ पाववा के रूप में हुई है। इनके पास से प्रेमी जोड़े से लूटा मोबाइल फोन और ब्लूटूथ बरामद हुआ है।

दक्षिण पूर्व जिला डीसीपी ईशा पांडेय ने बताया की दिनांक 15 मार्च 2022 को थाना पुल प्रह्लादपुर में सत्यम नामक शिकायतकर्ता ने लूटपाट की एक शिकायत दी थी। शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत में बताया की वो तुगलकाबाद किले में अपनी फ्रेंड के साथ एक बेंच पर बैठा था। तभी तीन लड़के उसके पास आए और उसका मोबाइल फोन व ब्लूटूथ छीन लिया।

डीसीपी ईशा पांडेय का दक्षिण पूर्व जिले में क्रिमिनलों को क्लियर व कड़ा सन्देश है की क्राइम छोटा हो या बड़ा क्रिमिनलों को किसी भी कीमत पर बक्शा नहीं जायेगा। क्रिमिनल अपने दिमाग से गलतफहमी निकाल दे की अपराध करके वो बच जायेगा। क्राइम को अंजाम देने वाले क्रिमिनल के साथ साथ क्राइम में क्रिमिनल की मदद करने वाले किसी को भी बक्शा नहीं जायेगा।

तुगलकाबाद किला एक पर्यटन स्थल है। सैकड़ों की संख्या में युवक युवतियां हर रोज तुगलकाबाद किला घूमने आते है। तुगलकाबाद किले में घूमने आये प्रेमी जोड़े के साथ हुई लूट की वारदात को गंभीरता से लेते हुए राम निवास भाटी एसएचओ थाना पुल प्रह्लादपुर ने तुरंत ही थाना पुल प्रह्लादपुर में एफआईआर संख्या 150/22 अंडर सेक्शन 379/356/411/34 के तहत मामला दर्ज कर जाँच शुरू कर दी।

डीसीपी ईशा पांडेय ने अपराधियों को हर हाल में दबोचने के लिए बदरपुर के तेजतर्रार एसीपी अजय कुमार की सुपरविजन व राम निवास भाटी एसएचओ थाना पुल प्रह्लादपुर के नेतृत्व में एसआई नरेश कुमार, एएसआई हरी सिंह, एएसआई राजेश कुमार व हेड कांस्टेबल धर्मपाल की एक क्रेक टीम का गठन किया।

टीम ने सबसे पहले क्राइम सीन के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाला। लेकिन सीसीटीवी फुटेज से आरोपियों की पहचान नहीं हो सकी। एसएचओ राम निवास भाटी ने शिकायतकर्ता की मदद से आरोपियों का स्कैच बनाकर दिल्ली एनसीआर के सभी थानों में सर्कुलेट किया। मुखबिरों का जाल बिछाया। क्राइम डाटा को भी खंगाला गया। काफी हाथ पैर मारने के बाद भी आरोपियों का कोई सुराग नहीं लगा।

आरोपियों की कोई क्रिमिनल हिस्ट्री नहीं मिल रही थी इससे बदरपुर के तेजतर्रार एसीपी अजय कुमार ने अंदाजा लगाया की आरोपी या तो फर्स्ट टाइम ऑफेंडर है या बहुत ही शातिर। एसीपी अजय कुमार आरोपियों से चार कदम आगे निकले और प्रेमी जोड़े से लुटे हुए मोबाइल के आईएमईआई नंबर को सर्विलांस पर लगवा दिया। एसीपी अजय कुमार की मेहनत रंग लाई। आईएमईआई नंबर से पता चला की आरोपियों ने लुटे हुए मोबाइल में से पुराना सिम निकालकर नया सिम इंसर्ट किया है।

मोबाइल सर्विलांस से नये नंबर की लोकेशन आदिलाबाद किले से काया माया पार्क की ओर आती हुई दिखाई दी।

एसीपी अजय कुमार के नेतृत्व में तुरंत ही राम निवास भाटी एसएचओ थाना पुल प्रह्लादपुर ने आरोपियों की पहचान के लिए अपने साथ शिकायतकर्ता को लेकर एक टीम के साथ आदिलाबाद किले से काया माया पार्क की ओर आते रोड पर अपना जाल बिछा दिया।
कुछ देर बाद टीम ने देखा कि तीन लड़के आदिलाबाद किले की तरफ से आ रहे हैं। शिकायतकर्ता के इशारा करने पर टीम ने उन्हें तुरंत दबोच लिया।

आरोपियों की पहचान पुल प्रह्लादपुर निवासी 22 वर्षीय ज्योतिष मिश्रा उर्फ़ उत्तम पुत्र हर्षित मिश्रा, तुगलकाबाद निवासी 23 वर्षीय मोहम्मद हसनयान उर्फ चांद पुत्र सरवर अली व अली प्रह्लादपुर निवासी 24 वर्षीय शिवम शर्मा उर्फ पाववा पुत्र सतीश चंद के रूप में हुई है। इनके पास से प्रेमी जोड़े से लूटा मोबाइल फोन और ब्लूटूथ बरामद हुआ है।

आरोपित ज्योतिष मिश्रा उर्फ़ उत्तम 7वीं तक पढ़ा है। यह स्वीपर का काम करता है।

दूसरा आरोपी शिवम शर्मा उर्फ पाववा 8 वीं तक पढ़ा है। यह भी स्वीपर का काम करता है।

तीसरा आरोपी 8वीं तक पढ़ा है। यह स्वीपर का काम करता है। इन तीनो की पहले की कोई क्राइम हिस्ट्री नहीं है।

पूछताछ में तीनो ने बताया की महंगी गाड़ी व विंदास लाइफ स्टाइल जीने के लिए शार्ट कट तरीके से जल्दी और मोटा पैसा कमाने के लालच में उन्होने वारदात को अंजाम दिया।

सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क