ड्रग्स के लिए करते थे डकैती, चोरी व स्नैचिंग, पुलिस ने दबोचा

0

विजय कुमार दिवाकर
सरिता विहार थाना पुलिस ने लुटेरों के एक ऐसे गैंग को दबोचा है जो मात्र अपनी ड्रग्स की लत को पुरा करने के लिए डकैती, चोरी व स्नैचिंग जैसी संगीन वारदातों को अंजाम देता था। गिरफ्तार लुटेरों की पहचान 23 वर्षिय विशाल मंडल, 22 वर्षिय बादल उर्फ बंटी व 22 वर्षिय बिट्टू के रूप में हुई है। सभी आरोपी संजय कॉलोनी दिल्ली के रहने वाले है। इनके पास से चोरी की दो मोटरसाइकिल, एक स्कूटी, दो मोबाइल फोन, एक बाली व एक बटन वाला चाकू बरामद हुआ है।

दक्षिणपूर्व जिले की डीसीपी ऐशा पाडें ने बताया कि दिनांक 21 अप्रैल को थाना सरिता विहार में डकैती को लेकर एक पीसीआर कॉल आई थी। कॉल का तुरंत जवाब देते हुए टीम मौके पर पहुंची। मौके पर पहुंची टीम को पता चला की घायल महिला को कुछ स्थानीय लोग एम्स के ट्रॉमा सेंटर लेकर चले गये हैं। तुरंत पुलिसकर्मी घायल महिला की स्थिति व बयान दर्ज करने के लिए एम्स अस्पताल पहुंचे।

घायल महिला ने जाँच टीम को बताया कि मैं अपने घर जा रही थी और जब मैं सरिता विहार अंडरपास के पास पहुंची तो तीन लड़के मोटरसाइकिल पर पीछे से आए और मुझे घेर लिया। आरोपियों ने बटन से चलने वाला चाकू दिखाकर सब कुछ देने की धमकी दी। जब मैंने इसका विरोध किया तो एक आरोपी ने चाकू निकाल कर मुझे चाकू मार दिया और मेरा मोबाइल फोन, एक बाली और नकद 6000 रुपये लूट लिए।

पीड़िता के ब्यान पर थाना सरिता विहार थाना पुलिस ने एफआईआर संख्या 253/2022 धारा 394, 397, 34 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

लुटेरों को जल्द से जल्द दबोचने के लिए दक्षिणपूर्व जिले की डीसीपी ऐशा पाडें ने ‘ऑपरेशन संरक्षण’ के तहत एसीपी सरिता विहार की सुपरविजन व राकेश कुमार शर्मा एसएचओ सरिता विहार के नेतृत्व में एसआई परवीन, मोहित, कांस्टेबल मनोज, अजय और अरुण की एक टीम का गठन किया।

जांच टीम ने सबसे पहले क्राईम सीन की इन्ट्री और एगजिट पाॅइन्ट पर लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला। अन्धेरा होने की वजह से आरोपियों की पहचान नहीं हो पा रही थी।

राकेश कुमार शर्मा एसएचओ सरिता विहार ने हिम्मत नहीं हारी और टेक्निकल टीम की मदद से सीसीटीवी फुटेज से मिली आरोपियों की धुंधली फोटो को क्लीयर करने की कोशिश की।

टीम की मेहनत रंग लाई। टेक्निकल टीम तीन आरोपियों में से एक आरोपी की फोटो को जूम व क्लीयर करने में सफल रही।

टीम के पास अब तीन आरोपियों में से एक आरोपी की फोटो तो थी लेकिन आरोपी की पहचान नहीं थी।

आरोपी की पहचान के लिए राकेश कुमार शर्मा एसएचओ सरिता विहार ने आरोपी का फोटो सोशल मिडिया के साथ साथ मुखबिरों के बीच फैला दिया।

जाँच टीम ने सरीता विहार के आसपास इलाकों में आरोपी की फोटो दिखाकर उसके बारे में पूछताछ की। फोटो की मदद से जांच टीम आरोपी के पते संजय कॉलोनी तक पहुंच गई। आरोपी की पहचान विशाल मंडल पुत्र रासु मंडल के रूप में हुई।
पता चला की आरोपी पिछले कई दिनों से अपने घर पर नहीं आया है। जाँच टीम को आरोपी के घर से आरोपी का मोबाईल नंबर मिल गया।

टीम ने तुरन्त मोबाईल सर्विलांस पर लगा दिया गया। आरोपी का मोबाइल जसोला स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के पास एक्टीव मिला। जाँच टीम ने मोबाइल की पिनपॉइंट लोकेशन पर छापेमारी कर आरोपी को दबोच लिया।

पूछताछ करने पर आरोपी की पहचान 23 वर्षीय विशाल मंडल पुत्र रासु मंडल निवासी संजय कॉलोनी, के रूप में हुई। पूछताछ के दौरान विशाल मंडल ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। विशाल मंडल की निशानदेही पर वारदात में शामिल उसके दो सहयोगी 22 वर्षीय बादल उर्फ बंटी पुत्र मोहन लाल निवासी संजय कॉलोनी और 22 वर्षीय बिट्टू पुत्र शश भूषण निवासी संजय कॉलोनी को भी उनके आवास से गिरफ्तार किया गया। कड़ी पूछताछ में तीनों आरोपियों के पास से चोरी की दो मोटरसाइकिल, एक चोरी की स्कूटी, दो मोबाइल फोन, एक कान की बाली और एक बटन वाला चाकू बरामद किया गया। जिपनेट की जांच के बाद बरामद मोबाइल फोन में से एक थाना सरिता विहार इलाके से चोरी हुआ मिला। आगे की जांच के दौरान एक मोटरसाइकिल थाना गोविंदपुरी और एक स्कूटी थाना अमर कॉलोनी क्षेत्र से चोरी हुई मिली। इनकी गिरफ्तारी के साथ ही सभी बरामद सामान को जब्त कर लिया गया है। मामले की आगे की जांच जारी है।

गिरफ्तार आरोपियों ने बताया की उन्हें ड्रग्स की लत है और कोई काम धंधा न होने के कारण अपनी ड्रग्स की लत को पूरा करने के लिए डकैती, चोरी व स्नैचिंग जैसी वारदातों को अंजाम देते थे।

23 वर्षीय आरोपी विशाल मंडल पुत्र रासु मंडल निवासी संजय कॉलोनी ने 5वीं तक पढाई की है। आजीविका कमाने के लिए उसके पास कोई काम नहीं है। वह पहले एनडीपीएस एक्ट के 1 मामले में शामिल था।

दूसरा आरोपी 22 वर्षीय बादल उर्फ बंटी पुत्र मोहन लाल निवासी संजय कॉलोनी ने 8वीं तक पढ़ाई की है। आजीविका कमाने के लिए इसके पास करने के लिए कुछ नहीं है। यह पहले सेंधमारी के 1 मामले में शामिल है।

तीसरा आरोपी 22 वर्षीय बिट्टू पुत्र शश भूषण निवासी संजय कॉलोनी, ने भी 5वीं कक्षा तक पढ़ाई की है। आजीविका कमाने के लिए उसके पास कोई काम नहीं है। यह पहले लूट के 1 मामले में शामिल है।

सनसनी ऑफ इंडिया नेटवर्क