बदरपुर में 34 लाख से भरा ATM उखाड़ ले गया मेवात गैंग, 90Kms, 1000 CCTV खंगालने में सूज गईं पुलिसवालों की आंखें

0
विजय कुमार दिवाकर
स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज के एसीपी अत्तर सिंह की सुपरविजन और दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार हूण व तेज तर्रार इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह की टीम व दक्षिण पूर्व जिले की स्थानीय पुलिस के जॉइंट ऑपरेशन ने एटीएम लूट की वारदात को अंजाम देने वाले मेवात क्षेत्र के एक अंतरराज्यीय गैंग के सरगना समेत तीन बदमाशों को गिरफ्तार करने में बड़ी सफलता हासिल की है। ये गैंग पुलिस को चकमा देने के लिए पहले वाहन चोरी करता था फिर चोरी के वाहन से ही दिल्ली एनसीआर में एटीएम लूट की वारदात को अंजाम देता था । बीते 31 मार्च की रात यह बदमाश बदरपुर के आली विलेज इलाके में लगे एसबीआई बैंक के एटीएम को जड़ से उखाड़कर उसे चोरी की बोलेरो कार में डालकर फरार हो गए थे। मेवात में बदमाशों ने एटीएम में मौजूद 34 लाख रुपये निकालकर आपस में बांटने के बाद एटीएम को मेवात के ही एक कुएं में फेंक दिया था। गिरफ्तार किए गए बदमाशों की पहचान हथीन पलवल निवासी 35 वर्षीय इमरान उर्फ इम्मा, हथीन पलवल निवासी 26 वर्षीय सलमान व नूंह हरियाणा निवासी 32 वर्षीय शकील के रूप में हुई है। इमरान उर्फ इम्मा गैंग का सरगना है। तीनों के पास से एक पिस्टल, दो कटटा, आठ कारतूस बरामद किए गए हैं। इनके कब्जे से पुलिस ने लूट की आठ लाख रुपये में खरीदी गई क्रेटा कार भी जब्त कर ली है।
31 मार्च व एक अप्रैल की दरमियानी रात बदरपुर इलाके के ए 7, सरपंच कॉम्प्लेक्स आली विलेज में लगे एसबीआई बैंक के एटीएम को चोर जड़ से उखाड़कर चोरी करके ले गये थे। एटीएम के गार्ड तारा शंकर ने बताया की हर रोज की तरह देर शाम एटीएम का शटर बंद करके अपने घर चला गया था। उसका घर एटीएम के पास में ही है। सुबह गार्ड तारा शंकर दूध लेने घर से निकला तो उसने देखा की एटीएम के शटर का ताला टूटा हुआ है और कोई एटीएम को जड़ से चोरी करके ले गया है। गार्ड तारा शंकर ने तुरंत पुलिस को सूचना दी।
एटीएम चोरी की वारदात से बदरपुर थाना पुलिस में हड़कंप मच गया। तुरंत ही दक्षिण पूर्व जिला डीसीपी ईशा पांडे की सुपरविजन में एसीपी अजय कुमार, एसीपी ऑपरेशन मनोज कुमार, बदरपुर थाना प्रभारी, स्पेशल स्टाफ की कई टीमें क्राइम सीन पर पहुंची। चोर इतने शातिर थे की वारदात से पहले एटीएम के सीसीटीवी कैमरों को तोड़ दिया था लेकिन सरपंच कॉम्प्लेक्स के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों में चोरों की सभी हरकतें कैद हो गई।
सीसीटीवी फुटेज में पुलिस टीम ने देखा की चोरो ने वारदात को अंजाम देने से पहले एटीएम के सीसीटीवी व अलार्म की तार को काटा फिर एटीएम के सभी सीसीटीवी कैमरों पर ब्लैक स्प्रे कर दिया। एटीएम का शटर तोड़ने के बाद अपने साथ लाये बोलेरो गाड़ी को एटीएम के अंदर तक खड़ा करके एटीएम को बांधकर बोलेरो गाड़ी से खींचकर जड़ से उखाड़ दिया और एटीएम को बोलेरो गाड़ी में रखकर फरार हो गए।
मेवात गैंग के का सरगना इमरान उर्फ़ इम्मा, शकील व सलमान पुलिस की गिरफ्त में

दक्षिण पूर्व जिला की स्पेशल स्टाफ ने सीसीटीवी फुटेज और वारदात के समय का मोबाइल डंप डाटा के आधार पर कुछ स्थानीय लोगो को उठाया लेकिन कुछ सस्पेक्ट नहीं मिलने पर पूछताछ करके छोड़ दिया।

स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज डीसीपी जसमीत सिंह ने बताया की एटीएम चोरों को जल्द से जल्द दबोचने के लिए एसीपी अत्तर सिंह की सुपरविजन और दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार हूण व तेज तर्रार इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह के नेतृत्व में दक्षिण पूर्व जिले की स्थानीय पुलिस का एक जॉइंट ऑपरेशन चलाया गया।
इंस्पेक्टर शिवकुमार व ईश्वर सिंह की टीम ने सबसे पहले क्राइम सीन के आसपास लगे सभी सीसीटीवी फुटेज को खंगाला। मुखबिरों का जाल बिछाया।
जिस route से बदमाशों के भागने की आशंका थी जाँच टीम ने उस route पर पड़ने वाले सभी corners, multiple turns, मकानों, दुकानों, बस स्टॉप और रेड लाइट पर लगे सीसीटीव फुटेजों को खंगाला।
क्राइम सीन से करीब 90 किलोमीटर के दायरे में लगे 1000 से अधिक एक एक सीसीटीवी कैमरे को खंगालते खंगालते जाँच टीम बदमाशों की तलाश में मेवात तक पहुँच गई। मेवात से आगे के सीसीटीवी फुटेजों में बदमाश दिखाई नहीं दे रहे थे इससे जाँच टीम ने अंदाजा लगा लिया की आरोपी मेवात में ही कहीं छुपे हुए हैं।
आरोपियों को दबोचने के लिए स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज की टीम के कुछ सदस्य मेवाती ड्रैस पहनकर मेवात में घूम घूमकर आरोपियों के बारे में इन्फ्रोमेशन जुटाने लगे।
स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज टीम की मेहनत रंग लाई। टीम को मुखबिरों से पता चला की एटीएम चोरी की वारदात को अंजाम मेवात के इमरान उर्फ इम्मा ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर दिया था।
टीम को यह भी पता चला की इमरान उर्फ इम्मा दिल्ली के लाडो सराय इलाके में एक और एटीएम को लूटने की योजना बना रहा है।
इनफार्मेशन मिलते ही इमरान उर्फ इम्मा को दबोचने के लिए स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह ने एसीपी अत्तर सिंह की सुपरविजन और दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार व तेज तर्रार इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह के नेतृत्व में टीम का गठन किया।
टीम ने दिल्ली के लाडो सराय इलाके में इमरान उर्फ इम्मा की आवाजाही के बारे में और जानकारी जुटाई और इलाके में इमरान उर्फ इम्मा व उसके साथियों की गतिविधियों पर नजर रखनी शुरू कर दी।
टीम को कन्फर्म इनफार्मेशन मिली छह अप्रैल रात आठ से नौ के बीच इस गैंग के दो सदस्य इमरान और सलमान क्रेटा कार में सवार होकर लाडो सराय स्थित चिल्ड्रन पार्क के पास आएंगे। इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह और शिव कुमार की टीम ने वहां जाल बिछाया।
रात लगभग आठ बजकर पांच मिनट पर दोनों सस्पेक्ट क्रेटा कार से लाडो सराय स्थित चिल्ड्रन पार्क वाले रोड पर आते दिखाई दिए। मुखबिर के इशारा करने पर टीम ने क्रेटा कार को रुकने को कहा। इस दौरान बचने के लिए इमरान ने स्पेशल सेल की टीम पर गोली चला दी, लेकिन टीम बचाव करते हुए उन्हें पकड़ने में कामयाब रही। इमरान उर्फ ​​इम्मा के पास से एक सेमी ऑटोमेटिक पिस्तौल और दो जिंदा कारतूस बरामद हुए। वहीं एक सिंगल शॉट पिस्तौल और दो जिंदा कारतूस सलमान के पास से बरामद हुए। मौके पर इमरान उर्फ ​​इम्मा द्वारा चलाई गई गोली का खाली खोल भी बरामद हुआ। लूटे गए रुपये से खरीदी गई एक क्रेटा कार को जब्त कर लिया गया है।
आरोपियों की निशानदेही पर टीम ने तीसरे आरोपी शकील को भी दबोच लिया। उसके पास से एक सिंगल शॉट पिस्तौल और चार जिंदा कारतूस बरामद हुए।
पूछताछ के दौरान आरोपियों ने पुलिस को बताया कि इमरान उर्फ ​​इम्मा उनके गैंग का सरगना है। 31 मार्च और एक अप्रैल की दरमियानी रात गैंग का सरगना इमरान उर्फ ​​इम्मा गैंग के सहयोगियों राहुल चौरा, शकील, सलमान और तैयब के साथ एटीएम चोरी करने की योजना से डिजायर कार से दिल्ली में आये थे।
योजनानुसार इमरान उर्फ ​​इम्मा व अन्य बदमाश ने बदरपुर फ्लाईओवर के नीचे पहले से खड़ी एक चोरी की बोलेरो गाड़ी लेकर एटीएम की चोरी करने गए । आरोपितों ने खुलासा किया है की उन्होंने बोलेरो गाड़ी 21 मार्च को थाना सनलाइट कॉलोनी इलाके में राजदूत होटल के पास एटीएम को उखाड़ने में इस्तेमाल करने के उद्देश्य से चुराया था। वारदात वाली रात पांच आरोपियों ने दिल्ली के थाना बदरपुर इलाके में स्थित एसबीआई बैंक के एटीएम को तोड़कर जड़ से उखाड़ दिया था और एटीएम को चोरी की बोलेरो में डालकर फरार हो गए थे। एटीएम में रखे 34 लाख रुपये की नकदी निकाल ली और पैसे आपस में बांट दिए। इसके बाद मेवात इलाके के एक कुएं में एटीएम को फेंक दिया गया था।
इस वारदात में इमरान को 14 लाख 5 हजार रुपए मिले थे। इसमें से 8 लाख रुपये से उसने क्रेटा गाड़ी खरीद ली थी। गिरफ्तार आरोपियों ने बताया कि उन्होंने मार्च में पश्चिमी दिल्ली में एक और एटीएम को उखाड़ने का प्रयास किया था, लेकिन वे सफल नहीं हो पाए थे।
गैंग सरगना इमरान उर्फ़ इम्मा पर दिल्ली और हरियाणा में हत्या, हत्या के प्रयास, एटीएम को उखाड़ने, चोट, हमला, चोरी, आर्म्स एक्ट आदि सहित 20 से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं।
गिरफ्तार किए गए बदमाशों की पहचान ग्राम मामोलका थाना हथीन जिला पलवल हरियाणा निवासी 35 वर्षीय इमरान उर्फ इम्मा पुत्र शमशुद्दीन, ग्राम मामोलका थाना हथीन जिला पलवल हरियाणा निवासी 26 वर्षीय सलमान पुत्र कमरुद्दीन व ग्राम रायपुरी तहसील नूंह हरियाणा निवासी 32 वर्षीय शकील पुत्र आसरूके रूप में हुई है।
गिरफ्तार आरोपितों से उनके सिंडिकेट के शेष सदस्यों को गिरफ्तार करने के लिए आगे की पूछताछ और लूटे गए धन की बरामदगी के प्रयास जारी हैं।
सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क