नंदू-बाबा गैंग से जुड़ा सोनू गिरफ्तार, रंगदारी व फायरिंग मामले था वांटेड

0
विजय कुमार दिवाकर
दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज टीम ने करोडो रुपयों की रंगदारी मांगने और न मिलने पर फायरिंग करने के दो मामलो में नंदू बाबा गैंग के एक कुख्यात वांटेड गैंगस्टर 26 वर्षीय सोनू को नजफगढ़ इलाके से गिरफ्तार किया है। जेल में बंद गैंगस्टर ज्योति बाबा गैंग के डायरेक्शन पर आरोपी सोनू ने गांव सुरहेरा में 90 एकड़ में बनी गौशाला के चेयरमैन और विकासपुरी के एक बिल्डर से एक एक करोड़ की रंगदारी मांगी थी। गौशाला के चेयरमैन द्वारा रंगदारी देने से मना करने पर आरोपी सोनू गौशाला के गेट पर गोलियां चलाकर फरार हो गया था। आरोपी के पास से पॉइंट 32 बोर की एक सेमीऑटोमैटिक पिस्टल और 6 जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं।
स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह ने बताया की स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज को जेल में बैठकर extortion गैंग चला रहे गैंगस्टरों को नियंत्रित करने का काम सौंपा गया है। स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज ने एसीपी अत्तर सिंह की सुपरविजन व दबंग इंस्पेक्टर शिव कुमार के नेतृत्व में अच्छा काम करते हुए हाल के दिनों में extortion गैंग के कई सदस्यों को दबोचा है। जेल में बंद गैंगस्टरों द्वारा पैदा किए गए दहशत के माहौल को नियंत्रित करने के लिए स्पेशल सेल लगातार प्रयास कर रही है।
स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह ने बताया की जनवरी 2022 में गैंगस्टरों द्वारा गांव सुरहेरा में 90 एकड़ में बनी गौशाला के चेयरमैन और विकासपुरी दिल्ली के बिल्डर से एक एक करोड़ की रंगदारी मांगी गई थी। गौशाला के चेयरमैन द्वारा रंगदारी देने से मना करने पर दहशत का माहौल बनाने के लिए जेल में बंद गैंगस्टरों ने अपने गुर्गों से गौशाला के गेट पर गोलियां चलवाई थी। इस संबंध में थाना जफरपुर कलां दिल्ली में एक मामला दर्ज किया गया था। लेकिन आरोपी स्थानीय पुलिस की पकड़ में नहीं आ रहे थे।
स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह ने extortion गैंग के फरार बदमाशों को दबोचने का काम स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज को सौंपा। तभी से स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज एसीपी अत्तर सिंह की सुपरविजन में दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार की टीम आरोपियों पर नजर रखे हुए थी।
दिनांक 10 फरवरी 2022 को स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज के दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार व इंस्पेक्टर जितेंदर की टीम ने गौशाला के चेयरमैन और विकासपुरी दिल्ली के बिल्डर से एक एक करोड़ की रंगदारी मांगने और गोलियां चलाने के आरोप में extortion गैंग के एक गैंगस्टर सुमित धनकर को आउटर दिल्ली से दबोच लिया था। आरोपी सुमित धनकर के पास से पॉइंट 32 बोर की एक सेमीऑटोमैटिक पिस्टल और 5 जिंदा कारतूस बरामद हुए थे।
सुमित धनकर की गिरफ्तारी से वारदात में नंदू बाबा गैंग के एक कुख्यात वांटेड गैंगस्टर सोनू का भी नाम आया था। इंस्पेक्टर शिवकुमार ने वांटेड सोनू को दबोचने के लिए मुखबिरों का जाल बिछा दिया।
इंस्पेक्टर शिवकुमार को नजफगढ़ इलाके में वांटेड सोनू की एक्टिविटी के बारे में पता चला।
इंस्पेक्टर शिवकुमार ने स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज एसीपी अत्तर सिंह के साथ इनफार्मेशन shared की।
स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज एसीपी अत्तर सिंह ने इनफार्मेशन से स्पेशल सेल के वरिष्ठ अधिकारीयों को अवगत कराया।
इनफार्मेशन मिलते ही वांटेड को दबोचने के लिए स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह ने स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज एसीपी अत्तर सिंह की सुपरविजन और स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज के दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार व इंस्पेक्टर करमवीर सिंह के नेतृत्व में एसआई सुमित, अनिल, राजेश शर्मा, एएसआई रविंदर सरोहा, गुरुवेंद्र, संजीव, सचिन कौशिक, हेड कांस्टेबल रोहित डांगी, मोहित पंवार, रोहित पंवार, नीरज, पंकज शर्मा, यशपाल, रविंदर, कांस्टेबल जितेंदर और कोपिल की एक टीम का गठन किया।
टीम को 13 फरवरी 2022 को दिल्ली के नजफगढ़ दौराला रोड स्थित श्मशान घाट के पास वांटेड सोनू के आने की सीक्रेट इनफार्मेशन थी। टीम ने नजफगढ़ दौराला रोड स्थित श्मशान घाट के पास अपना जाल बिछा दिया। देर रात वांटेड सोनू आता दिखाई दिया। टीम ने आरोपी को चारों और से घेरकर दबोच लिया।
वांटेड आरोपी की पहचान धर्मपुरा एक्सटेंशन, नजफगढ़, दिल्ली निवासी 26 वर्षीय सोनू पुत्र ओम प्रकाश के रूप में हुई। आरोपी के पास से पॉइंट 32 बोर की एक सेमीऑटोमैटिक पिस्टल और 6 जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं।
गिरफ्तार सोनू ने बताया की वो गैंगस्टर कपिल सांगवान उर्फ़ नंदू और गैंगस्टर ज्योति उर्फ़ बाबा का एक्टिव सदस्य है। पूछताछ में गिरफ्तार सोनू ने आगे बताया की उसका भाई अनिल उर्फ ​​पोडी गैंगस्टर नंदू-बाबा गैंग का सहयोगी है। और अपने भाई के कहने पर ही वो पिछले 5 साल से नंदू-बाबा गैंग से जुड़ा हुआ है। गैंगस्टर कपिल सांगवान उर्फ़ नंदू, गैंगस्टर ज्योति उर्फ़ बाबा और निल उर्फ ​​पोडी इस समय दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद हैं।
जेल में बंद गैंगस्टर ज्योति उर्फ ​​बाबा के आदेश पर सोनू गैंग के अन्य सदस्यों को आर्थिक मदद, सिम कार्ड एवं मोबाइल हैंडसेट की व्यवस्था करने के साथ गैंग के सदस्यों के बीच संदेश पहुँचाने का कार्य करता रहा है।
गिरफ्तार सोनू ने आगे बताया की गैंगस्टर ज्योति बाबा के directions पर उसने सुमित धनखड़ और गैंग के अन्य सदस्यों के साथ मिलकर दिल्ली के पैसे वाले लोगो से धन उगाही की योजना बनाई थी। टारगेट को धमकाने के लिए जेल में बंद गैंगस्टर ज्योति बाबा ने दो अंतरराष्ट्रीय नंबरों की व्यवस्था कराई थी ताकि कॉल करने वाले की पहचान न हो सके।
सोनू ने आगे बताया की जनवरी 2022 माह गांव सुरहेरा में 90 एकड़ में बनी गौशाला के चेयरमैन और विकासपुरी के एक बिल्डर को अंतरराष्ट्रीय नंबरों से धमकी भरे संदेश भेजकर एक एक करोड़ की रंगदारी मांगी थी। गौशाला के चेयरमैन द्वारा रंगदारी देने से मना करने पर आरोपी सोनू गौशाला के गेट पर गोलियां चलाकर फरार हो गया था।
गिरफ्तार सोनू के अनुसार जेल में बंद गैंगस्टर ज्योति उर्फ बाबा व गैंग के अन्य सदस्य एक दूसरे से मोबाइल के थ्रू संपर्क में थे।
स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह के बताया की आगे की जाँच जारी है और गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ मकोका के तहत कार्यवाही की जा रही है।
सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क