सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क
सोनीपत । राई क्षेत्र के गांव बढ़मलिक में शरारती तत्वों की हैवानियत भरा कृत्य सामने आया है। कुछ शरारती तत्वों ने एक सांड पर तेजाब फेंक दिया और उसके एक सरिये का टुकड़ा सांड़ के मुंह के हिस्से के आरपार निकाल दिया। तेजाब से सांड की पीठ झुलस गई और मुंह के हिस्से से सरिये का टुकड़ा निकलने से खून टपकने लगा। सांड के घायल होने के बाद बृहस्पतिवार को ग्रामीणों ने सांड़ को पकड़कर सरिये का टुकड़ा उसके मुंह से निकाला। घायल सांड़ के फोटो सोशल मीडिया पर वायरल गए। शरारती तत्वों के इस हैवानियत भरे कृत्य से लोगों में रोष बढ़ रहा है। वहीं सूचना देने के बाद भी पशुपालन विभाग ने सांड़ के उपचार की व्यवस्था नहीं की है।

घटना की सूचना देने के बाद भी पशुपालन विभाग ने सांड़ के उपचार की व्यवस्था नहीं की है।

गांव बढ़मलिक निवासी सुमित और सुरेंद्र ने बताया कि बृहस्पतिवार को उन्होंने गांव में घूम रहे एक सांड़ को देखा जिसकी पीठ पर तेजाब फेंका गया था और उसके मुंह के एक हिस्से के आरपार एक सरिये का टुकड़ा निकला हुआ था। तेजाब फेंके जाने से सांड़ की पीठ झुलस गई है। उन्हाेंने बताया कि किसी शरारती तत्व ने सांड़ को घायल किया है। इसकी सूचना लोगों को लगी तो उन्होंने बड़ी मशक्कत से सांड को पकड़ा और उसके मुंह के हिस्से के आरपार निकले सरिये के टुकड़े को निकाला।

इसकी सूचना पशु पालन विभाग को दी, लेकिन कोई पशु चिकित्सक मौके पर नहीं पहुंचा। वहीं सांड़ पर तेजाब डाले जाने की घटना सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। फेसबुक पर लोग तीखी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। सभी इसे अमानवीय हरकत बताते हुए आरोपित के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। कांग्रेसी नेता जसपाल खेवड़ा का कहना है कि सांड पर तेजाब डालने और सरिया मारने वाले शख्स को किसी भी सूरत में नही बख्शा जाना चाहिए। आरोपित के खिलाफ पुलिस में शिकायत दी जाएगी।