देखिये द्वारका पुलिस ने डेबिट कार्ड से चोर को कैसे दबोचा ?

0

विजय कुमार दिवाकर
बालाजी मंदिर घूमने गए एक वकील के घर का ताला तोड़कर कीमती सामान और बैंक डेबिट कार्ड चोरी करने वाले चोर को द्वारका पुलिस ने चोरी हुए डेबिट कार्ड की मदद से 24 घंटे के अंदर धर दबोचा है। चोर की पहचान न्यू रोशन पुरा, नजफगढ़ दिल्ली निवासी 23 वर्षीय सौरभ उर्फ़ भोलू के रूप में हुई है। आरोपी की गिरफ्तारी से चोरी की छह वारदातें सुलझ गई हैं। आरोपी के पास से चोरी किया घर का सभी कीमती सामान, चोरी की एक Bajaj Pulsar bike और एक लोहे की छेनी बरामद हुई है।

डीसीपी द्वारका शंकर चौधरी ने बताया की थाना छावला में दिनांक 20 फरवरी 2022 की सुबह लगभग चार बजे चोरी की एक पीसीआर कॉल प्राप्त हुई थी। शिकायतकर्ता मुकेश कुमार शर्मा एडवोकेट ने कॉल करके बताया की वो अपने परिवार के साथ बालाजी मंदिर घूमने गए थे। वापस आकर देखा तो उनके मकान नंबर आरज़ेड 63 रोशन पूरा विस्तार का किसी ने ताला तोड़कर सभी कीमती सामान के साथ बैंक डेबिट कार्ड भी चोरी कर लिया है।

डीसीपी द्वारका शंकर चौधरी का द्वारका जिले में ऑपरेशन वर्चस्व के तहत क्रिमिनलों को क्लियर मेसेज है की क्राइम छोटा हो या बड़ा क्रिमिनलों को किसी भी कीमत पर बक्शा नहीं जायेगा। क्रिमिनल अपने दिमाग से गलतफहमी निकाल दे की अपराध करके वो बच जायेंगे। क्राइम को अंजाम देने वाले क्रिमिनल के साथ साथ क्राइम में क्रिमिनल की मदद करने वाले किसी को भी बक्शा नहीं जायेगा।

चोरी की वारदातों पर अंकुश लगाने और चोर को जल्द से जल्द दबोचने के लिए डीसीपी द्वारका शंकर चौधरी ने विजय सिंह एसीपी ऑपरेशन द्वारका की सुपरविजन व इंस्पेक्टर कमलेश कुमार के नेतृत्व एएसआई सुरेंदर, सतेंदर, राजेश, हेड कांस्टेबल सोनू, अमित, राजेश, देवेंदर, कांस्टेबल अरविन्द, मनोज और विनीत की एक टीम का गठन किया।

टीम ने क्राइम सीन के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला लेकिन गली में आसपास अंधेरा होने की वजह से आरोपी की पहचान नहीं हो पा रही थी। जाँच टीम ने मुखबिरों का जाल बिछाया। चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाले चोरों का डाटा स्कैन किया। जाँच टीम को पीड़ित से पता चला था की चोर उसके एसबीआई बैंक का डेबिट और क्रेडिट कार्ड भी चोरी करके ले गया है।

डीसीपी द्वारका शंकर चौधरी को पूरा शक था की चोर चोरी किये डेबिट और क्रेडिट कार्ड को जरूर इस्तेमाल करेगा। डीसीपी द्वारका शंकर चौधरी की सुपरविजन में विजय सिंह एसीपी ऑपरेशन ने पीड़ित के बैंक से संपर्क कर चोरी हुए डेबिट और क्रेडिट कार्ड से होने वाली किसी भी प्रकार की एक्टिवटी से अलर्ट करने को कहा। डीसीपी द्वारका शंकर चौधरी का शक सही निकला। चोर ने राव रिशाल सिंह मार्ग पर एक दुकान से चोरी हुए डेबिट और क्रेडिट कार्ड से कुछ खरीदने की कोशिश की। लेकिन चोर के पास डेबिट और क्रेडिट कार्ड का पिन नहीं था इसलिए transaction फ़ैल हो गई।

transaction फ़ैल का एक मैसेज डीसीपी द्वारका शंकर चौधरी और एसीपी ऑपरेशन विजय सिंह के पास भी पहुंचा। transaction राव रिशाल सिंह मार्ग की एक दुकान से हुआ था। डीसीपी द्वारका शंकर चौधरी आरोपी को दबोचने का यह मौका हाथ से नहीं निकलने देना चाहते थे।

टीम ने तुरंत राव रिशाल सिंह मार्ग पर नाकाबंदी कर आने जाने वाले लोगों की जाँच शुरू कर दी। तभी बाइक पर एक सस्पेक्ट आता दिखाई दिया। पुलिस टीम को देखकर सस्पेक्ट ने बाइक से यूटर्न लेकर भागने की कोशिश की। पुलिस टीम ने दौड़कर सस्पेक्ट को दबोच लिया।

सस्पेक्ट की पहचान मकान नंबर 237, जेड-ब्लॉक न्यू रोशन पुरा, नजफगढ़ निवासी 23 वर्षीय सौरभ उर्फ़ भोलू पुत्र राजेश के रूप में हुई। तलाशी लेने पर आरोपी की जेब से वकील के घर से चोरी किये दो एसबीआई बैंक के डेबिट और क्रेडिट कार्ड बरामद हुए। सख्ती से पूछताछ में आरोपी ने वकील के घर चोरी की वारदात को अंजाम देने की बात कबुल की। आरोपी की निशानदेही पर वकील के घर से चोरी किया सोने का हार, एक जोड़ी सुनहरी चूड़ी, एक जोड़ी चांदी की पायल, पांच चांदी के सिक्के, राष्ट्रीय विज्ञान ओलंपियाड का एक रजत पदक, एसबीआई बैंक के दो क्रेडिट डेबिट कार्ड, एक मैक्सिमा कलाई घड़ी, एक लैपटॉप, लैपटॉप चार्जर, एक जियो मोबाइल फोन, वन बोट हेड फोन, एक सैमसंग ईयर फोन, इलेक्ट्रिक इंडक्शन, स्मार्ट एलईडी टीवी 51इंच, काले रंग का वुडलैंड पर्स, थाना छावला इलाके से चोरी की एक बजाज पल्सर बाइक और एक लोहे की छेनी बरामद हुए हैं।

आरोपी की गिरफ्तारी से थाना छावला और थाना नजफगढ़ के चोरी के तीन तीन कुल छह मामले सुलझ गए हैं।

आरोपी 23 वर्षीय सौरभ उर्फ़ भोलू पुत्र राजेश मकान नंबर 237, जेड-ब्लॉक न्यू रोशन पुरा, नजफगढ़ में रहता है। यह आठवीं पास और अविवाहित है। यह नशे का आदी है और किराए पर अपने माता-पिता के साथ रहता है। इसके पिता सब्जी विक्रेता हैं।

सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क