सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क
फरीदाबाद। शहर में बीते फरवरी महीने में गुड़गांव पुलिस की वैन पर हमला कराकर संदीप उर्फ काला जठेड़ी को फरार होने में मदद करने वाले एक और आरोपित को क्राइम ब्रांच-48 की टीम ने गिरफ्तार करने का दावा किया है। क्राइम ब्रांच ने आगरा निवासी अंशुल उर्फ पहलवान उर्फ अंशुल बवाना को बाबा मस्तनाथ विश्वविद्यालय रोहतक के पास स्थानीय पुलिस की मदद से दबोचा है। पुलिस सोमवार को उसे अदालत से रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी। आरोपित की गिरफ्तारी की पुलिस पीआरओ ने पुष्टि की है।

बता दें कि हरियाणा में कुख्यात लारेंस बिश्नोई और राजू बसौदी गैंग का प्रमुख सदस्य संदीप उर्फ काला जठेड़ी लंबे समय से जेल में बंद था। बीती 1 फरवरी को गुड़गांव पुलिस काला जठेड़ी और एक अन्य बदमाश नरेश सेठी को फरीदाबाद अदालत में पेश करने लाई थी। यहां पेशी के बाद वापस ले जाते समय गुड़गांव-फरीदाबाद रोड पर बदमाशों ने पुलिस की वैन घेर ली थी। इस दौरान बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर काला जठेड़ी और नरेश सेठी को पुलिस हिरासत से छुड़ा लिया था और फरार हो गए थे। घटना के बाद सक्रिय हुई फरीदाबाद पुलिस ने नरेश सेठी को थोड़ी देर बाद ही दबोच लिया था, मगर काला फरार होने में कामयाब रहा था। उसे अब तक नहीं पकड़ा जा सका है। बताया जाता है कि काला जठेड़ी ही लारेंस बिश्नोई और राजू बसौदी गैंग की कमान संभाल रहा है।

मोस्टवांटेड अपराधी संदीप जठेड़ी को छुड़ाने वाले आरोपी अंशुल को CIA 48की टीम ने दबोचा

हमलावरों में शामिल था गिरफ्तार आरोपित
पुलिस के मुताबिक इस वारदात में शामिल करीब 14 आरोपितों को पुलिस अब तक गिरफ्तार कर चुकी है। अब अंशुल को गिरफ्तार किया गया है। वारदात के दौरान अंशुल भी हमलावरों में शामिल था। उसने भी गोलियां चलाई थीं। उसने पुलिस को बताया है कि नरेश सेठी से उसकी दोस्ती थी। नरेश के कहने पर ही वह वारदात में शामिल हुआ। उस वारदात से पहले अंशुल के खिलाफ कोई मुकदमा दर्ज नहीं था।

मोस्टवांटेड अपराधी संदीप जठेड़ी को छुड़ाने वाले आरोपी अंशुल