सनसनी ऑफ़ इंडिया न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। द्वारका जिला पुलिस के स्पेशल स्टाफ ने एक लाख के इनामी बदमाश रिषी राज को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है। रिषी राज पर दिल्ली व हरियाणा में हत्या के प्रयास, लूटपाट, रंगदारी मांगने व अवैध हथियार रखने के 32 मामले दर्ज हैं। साथ ही रिषी को अवैध हथियार की आपूर्ति करने वाला लव कुमार तोमर भी पुलिस के हत्थे चढ़ गया है।

यूपी पुलिस ने लव पर रखा था 25 हजार का ईनाम
लव पर उत्तर प्रदेश की पुलिस ने 25 हजार रुपये का ईनाम घोषित कर रखा था। इस पर हत्या, हत्या के प्रयास सहित अन्य वारदातों के आठ मामले बड़ौत में दर्ज हैं। इन दोनों के पास से तीन पिस्टल व दस जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं। रिषी राज की तलाश क्राइम ब्रांच व स्पेशल सेल भी कर रही थी।

टीम को जानकारी मिलते ही एक्टिव हो गए पुलिसकर्मी
द्वारका जिला पुलिस उपायुक्त एंटो अल्फोंस ने बताया कि एसीपी ऑपरेशन जोगिंदर सिंह जून के मार्गदर्शन व स्पेशल स्टाफ के इंस्पेक्टर नवीन कुमार के नेतृत्व में एक टीम बनाई गई, जो इलाके में अपराध रोकने की दिशा में कदम उठा रही है। टीम में एसआइ रंजीव त्यागी, बिजेंद्र, एएसआइ उमेश सहित कई अन्य पुलिसकर्मी शामिल हैं। शुक्रवार को टीम को जानकारी मिली की नजफगढ़ के सुरखपुर रोड पर रिषी अपने साथी लव के साथ आनेवाला है। इसके बाद टीम के सदस्यों की तैनाती सुरखपुर रोड पर कर दी गई। जैसे ही ये दोनों बदमाश इलाके में पहुंचे पुलिसकर्मियों ने दबोच लिया।

गलत संगत के कारण क्राइम की दुनिया में मारी एंट्री
छानबीन के दौरान पता चला कि रिषी राज गलत संगत में आकर वारदात को अंजाम देने लगा था। वर्ष 2019 में भोंडसी जेल में उसकी मुलाकात नरेश सेट्ठी से हुई। दोनों ने तय किया की नजफगढ़ इलाके के प्रॉपर्टी डीलर व आभूषण विक्रेताओं को निशाना बनाकर उनसे रंगदारी वसूलेंगे। इस काम में नरेश ने सचिन उर्फ भांजा व संदीप उर्फ काना काे भी रिषी के साथ वारदात को अंजाम देने की जिम्मेदारी दी। साथ ही आभूषण विक्रेता व प्रॉपर्टी डीलर को धमकाने के लिए इन तीनों ने मंजीत, हरीश, परविंदर, ब्रजेश, विकास, अतुल त्यागी, अंकित को अपने गिरोह में शामिल किया। इलाके के प्रॉपर्टी डीलर व आभूषण विक्रेताओं की लिस्ट तैयार की गई।

एक लाख के इनामी बदमाश रिषी राज को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है।

प्रॉपर्टी डीलर और ज्वेलर को देते थे पैसे के लिए धमकी
बदमाश तय करते थे कि किसको धमकी देनी है। 23 जून को गिरोह के सदस्याें ने नजफगढ़ इलाके में दो आभूषण विक्रेताओं व बिंदापुर इलाके में एक प्रॉपर्टी डीलर के कार्यालय पर ताबड़तोड़ फायरिंग की। इसके बाद एक जुलाई को स्पेशल स्टाफ को जानकारी मिली की ये बदमाश नजफगढ़ इलाके में आने वाले हैं। बदमाशों ने आते ही पुलिसकर्मियों पर गोली चलानी शुरू कर दी थी। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए परविंदर, ब्रजेश व विकास को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई, लेकिन रिषी मौके से फरार हो गया था। उधर, लव पर उत्तर प्रदेश के बड़ौत में एक महिला की हत्या करने का आरोप है। उसे बड़ौत पुलिस पिछले काफी समय से खोज रही थी।