आरोपी गिरफ्तार

विजय कुमार दिवाकर
बल्लभगढ़, हरियाणा।
फरीदाबाद के बल्लभगढ़ सदर थाना क्षेत्र के सतोई गांव निवासी प्रॉपर्टी डीलर संदीप (25) पुत्र रघुवीर को अगवा कर हत्या कर दी गई। उसका शव आईएमटी के पास सड़क पर पड़ा मिला। पुलिस इसे दुर्घटना मान रही थी। इससे नाराज संदीप के परिजन व ग्रामीणों ने सड़क जाम कर हंगामा शुरू कर दिया। मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया और हत्या का मामला दर्ज किया।

प्रॉपर्टी डीलर का फाइल फोटो

मामले की जांच डीएलएफ क्राइम ब्रांच को सौंपी। त्वरित कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच की टीम ने मामले में सतोई गांव के ही एक धीरेंद्र उर्फ लाला को गिरफ्तार कर सेंट्रो कार व घटना में इस्तेमाल लाठी व अन्य हथियार भी बरामद कर लिया है। कार पर पुलिस को खून के धब्बे भी मिले हैं। संदीप के पिता रघुवीर ने बताया कि वह रोज शाम को आठ बजे तक घर आ जाता था। सोमवार को वह देर रात तक नहीं लौटा। उसके मोबाइल पर संपर्क किया गया तो फोन नहीं लगा। पूरी रात परिजन उसे तलाशते रहे। मंगलवार सुबह करीब सात बजे आईएमटी क्षेत्र में उसका शव पुलिस ने बरामद किया। आरोपी ने सिर पर चोट पहुंचा कर धारदार हथियार से हत्या कर दी। इसके बाद सेंट्रो कार चढ़ा कर दुर्घटना की शक्ल देने की कोशिश की गई।

प्रॉपर्टी डीलर की हत्या के बाद सड़क जाम

आरोपी की भतीजी से करता था छेड़छाड़
क्राइम ब्रांच डीएलएफ के प्रभारी संजीव कुमार ने बताया कि पूछताछ में आरोपी धीरेंद्र उर्फ लाला ने बताया कि संदीप उसकी भतीजी से छेड़छाड़ करता था। इस कारण उसने इस वारदात को अंजाम दिया। आरोपी ने बताया कि कुछ दिनों पहले इसी मामले में उसकी भाभी से भी संदीप का विवाद हुआ था। इसके बाद से ही वह संदीप को सबक सिखाने की फिराक में था। सोमवार शाम वह कार से अपने गांव जा रहा था। इसी दौरान चंदावली में उसे संदीप मिला। उसने संदीप को कार में बैठा लिया और आईएमटी के पास उसकी हत्या कर दी। इससे पहले धीरेंद्र ने संदीप को शराब पिलाई थी।

मृतक के परिजन

अपने परिजनों को आरोपी ने बता दी थी हत्या की बात
पुलिस पूछताछ में पता चला है कि इस वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी धीरेंद्र उर्फ लाला ने घर में अपने परिजनों को रात में ही बता दिया था कि उसने संदीप की हत्या कर दी है। घर के लोग इस बात को छिपाने का प्रयास कर रहे थे। पुलिस जांच में आरोपी धीरेंद्र उर्फ लाला के निशानदेही पर बरामद कार में मिले खून के धब्बे ने हत्या का राज खोल दिया। इधर, पुलिस ने संदीप के शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजन को सौंप दिया। इधर परिजन मामले में दो अन्य लोगों पर भी आरोप लगा रहे हैं। मामले की जांच की जा रही है। दोषी लोगों के नाम भी जांच में शामिल कर कार्रवाई की जाएगी।