सागर धनखड़ हत्याकांड का फरार आरोपित प्रवीण डबास गिरफ्तार

0

विजय कुमार दिवाकर

पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने फरार आरोपित 24 वर्षीय प्रवीण डबास को गिरफ्तार किया है। प्रवीण डबास पिछले 9 महीने से फरार था। इसे कोर्ट ने भगोड़ा घोषित कर रखा था। दिल्ली पुलिस की तरफ से इस पर 50 हज़ार का इनाम था। पिछले साल 4 मई की रात ओलंपियन सुशील पहलवान ने पत्नी के नाम का घर खाली न करने को लेकर विवाद में 20 साथियों के साथ मिलकर छत्रसाल स्टेडियम की पार्किंग में लाठी डंडे से बेरहमी से पीट पीट कर सागर की हत्या कर दी थी। सिर में गंभीर चोट लग जाने से उसकी मौत हो गई थी। इस मामले में क्राइम ब्रांच गिरफ्तार आरोपितों के खिलाफ कोर्ट में आरोप पत्र भी दायर कर चुकी है। स्पेशल सेल के एसीपी अतर सिंह की सुपरविजन व इंस्पेक्टर शिव कुमार, इंस्पेक्टर कर्मवीर सिंह के नेतृत्व में एसआई राजेश कुमार की टीम ने प्रवीण डबास को तीन जनवरी को प्रेम पियाओ रोड, सुल्तानपुर गांव के पास से गिरफ्तार किया। पिछले साल दिनांक पांच मई 2021 को पहलवान सागर धनखड़ की छत्रसाल स्टेडियम में सुशील और उसके साथियों ने पीटकर हत्या कर दी थी। मॉडल टाउन थाने में दर्ज हत्या, हत्या के प्रयास, अगवा, लूटपाटऔर आर्म्स एक्ट के केस में प्रवीण डबास वांटेड था। 9 महीने से फरार चल रहे प्रवीण डबास पर 50 हजार का इनाम भी रखा था। स्पेशल सेल की एक टीम फरार परवीन डबास को दबोचने के लिए लगातार छापे मारी कर रही थी। टीम को पिछले एक महीने से जानकारी मिल रही थी की परवीन डबास अपने ही गांव मदनपुर डबास में चोरी छुपे आ जा रहा है। टीम ने गांव में मुखबिरों का जाल बिछा दिया। दिनांक तीन जनवरी 2021 को इंस्पेक्टर शिव कुमार को सीक्रेट information मिली की फरार परवीन डबास तीन और चार जनवरी की मध्यरात्रि को अपने गांव किसी से मिलने आ रहा है। टीम ने गांव सुल्तानपुर डबास के पास प्रेम पियाओ रोड के पास अपना जाल बिछाया । देर रात टीम को परवीन डबास आते देखा गया। टीम को देखकर प्रवीण डबास उल्टा भागने लगा लेकिन टीम ने दौड़कर आरोपी को दबोच लिया। पूछताछ में प्रवीण डबास ने बताया कि वह और सुशील पहलवान समेत 20 आरोपितों ने 4 मई की रात लाठी डंडा, हॉकी स्टिक और हथियारों से लैस होकर सागर धनखड़, सोनू महाल, अमित और अन्य को अलग अलग जगहों से पकड़ कर गाड़ियों में बैठाकर छत्र साल स्टेडिम की पार्किंग में ले आए थे। वहां इन लोगों ने उनकी बेरहमी से घंटो पिटाई की थी । मॉडल टाउन स्थित सुशील की पत्नी के नाम वाला घर जिसमे सागर व सोनू को रहने के लिए दिया गया था। उक्त घर खाली न करने को लेकर सबक सिखाने के मकसद से सुशील ने इनकी पिटाई की थी लेकिन दिन पहलवान सागर धनखड़ की मौत हो जाने से वह बुरा फंस गया।