विजय कुमार दिवाकर
दिल्ली के पश्चिम विहार में 12 साल की बच्ची के साथ हैवानियत से रेप और जान से मारने की कोशिश के मामले में पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है। 33 वर्षीय गिरफ्तार युवक एक शातिर बदमाश है और वह कई गंभीर मामलों में शामिल रह चुका है।

दिल्ली पुलिस की ज्वॉइंट कमिश्नर शालिनी सिंह ने शुक्रवार को कहा कि आरोपी की पहचान सीसीटीवी फुटेज के आधार पर हुई है और उसका पुराना आपराधिक रिकॉर्ड भी है। उसके खिलाफ हत्या सहित चार आपराधिक मामले दर्ज हैं।

शालिनी सिंह, संयुक्त पुलिस आयुक्त

पुलिस ने कहा कि जांच के तहत आरोपी की पहचान के लिए पुलिस की 20 टीमों ने 100 से अधिक सीसीटीवी स्कैन किए थे। हालांकि, पुलिस ने अभी तक आरोपी की पहचान जाहिर नहीं की है। आगे की जांच जारी है।

पुलिस ने बताया कि पश्चिम विहार निवासी 12 बच्ची का के साथ सिर्फ यौन उत्पीड़न हुआ है बल्कि उसके चेहरे और सिर पर तेज धार हथियार से वार भी किया गया है। बच्ची के पड़ोसियों ने उसे खून में लथपथ देखकर पुलिस को सूचित किया था। फिलहाल एम्स में उसका इलाज चल रहा है।

पुलिस ने इस मामले में पश्चिम विहार थाने में धारा 307 (हत्या का प्रयास) और पॉक्सो एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की है। पुलिस ने कहा था कि शुरुआती जांच में सामने आया कि जिस समय घटना हुई, उस समय बच्ची के माता-पिता घर में मौजूद नहीं थे।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को एम्स में जाकर पीड़ित बच्ची और उसके परिजनों से मुलाकात की थी। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा था कि मैंने पुलिस कमिश्नर से बात की है। पुलिस आरोपियों को पकड़ने की कोशिश कर रही है। सरकार आरोपियों के लिए कड़ी सजा सुनिश्चित करेगी। सरकार उसके परिवार के सदस्यों को 10 लाख रुपये की आर्थिक मदद भी प्रदान करेगी।

ज्ञात हो कि मंगलवार को दिल्ली के पश्चिम विहार इलाके में एक अज्ञात व्यक्ति ने 12 साल की एक बच्ची का यौन शोषण किया। बच्ची एम्स में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। पीड़िता के शरीर पर चोट के निशान हैं। आरोपी का पता लगाने के लिए पुलिस पड़ोसियों से पूछताछ करने के साथ ही आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। पुलिस ने कहा कि उन्हें घटना की सूचना मंगलवार शाम को मिली। पड़ोसियों ने पीड़िता को खून से लथपथ देखने के बाद पुलिस और उसके माता-पिता को सूचना दी। बच्ची को पास के ही एक अस्पताल ले जाया गया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उसे एम्स के लिए रेफर किया गया। पुलिस ने इस मामले में धारा 307 (हत्या का प्रयास) और पॉक्सो एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

पुलिस ने कहा कि शुरुआती जांच में सामने आया कि जिस समय घटना हुई, उस समय बच्ची के माता-पिता घर में मौजूद नहीं थे। पुलिस के मुताबिक उसके माथे और चेहरे पर किसी धारदार चीज से कई बार वार किया गया है। वारदात के बाद आरोपी मौके से फरार होने में कामयाब रहा।

रेप पीड़ित बच्ची का हाल जानने के लिए एम्स में पहुंचे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पीड़ित परिवार से बात करते हुए।

रेप पीड़ित मासूम का हाल जानने एम्स पहुंचे केजरीवाल, बच्ची के परिवार को 10 लाख रुपये देने का किया ऐलान
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल गुरुवार को पश्चिम विहार इलाके में 4 अगस्त को यौन उत्पीड़न और जान से मारने की कोशिश में गंभीर रूप से घायल हुई 12 वर्षीय लड़की से मिलने एम्स में पहुंचे। इस दौरान केजरीवाल ने बच्ची का इलाज कर रहे डॉक्टरों और परिवार से भी बात की। एम्स में 12 वर्षीय रेप पीड़िता के माता-पिता से मिलने के बाद केजरीवाल ने कहा कि बच्ची ही हालत गंभीर है, उसे अंदर तक चोटें आई हैं। बच्ची बेहोशी की हालत में हैं, उसकी सर्जरी की गई है। डॉक्टरों ने बताया है कि बच्ची के लिए अगले 48 घंटे अहम हैं। हम पीड़ित परिवार को दिल्ली सरकार की तरफ से 10 लाख रुपये का मुआवजा देंगे। केजरीवाल ने कहा कि मैंने पुलिस कमिश्नर से बात की है। पुलिस आरोपियों को पकड़ने के लिए दबिश दे रही है। दिल्ली सरकार आरोपियों के लिए कड़ी सजा सुनिश्चित करेगी।