सनसनी ऑफ़ इंडिया
लखनऊ।
चंद रुपयों के खातिर खूंखार अपराधियों को खुलेआम मौज-मस्ती करवाना खाकी का शौक बन चुका है. इसका जीता जागता नमूना तब देखने को मिला, जब कई सनसनीखेज वारदातों को अंजाम देने वाले सोहराब को ऐशबाग के होटल श्री में मौज मस्ती करते हुए पकड़ा गया. बुधवार रात मिली सूचना के आधार पर हुई इस कार्रवाई में सोहराब के साथ उसकी बहन यास्मीन और पत्नी शन्नो को गिरफ्तार किया गया. इसके अलावा विवेक मिश्रा और होटल के मैनेजर को गिरफ्तार किया गया है. लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी ने मामले पर संज्ञान लेते हुए दिल्ली पुलिस के जवानों के खिलाफ एक रिपोर्ट दिल्ली पुलिस मुख्यालय को भेजी है. हत्या और हत्या के प्रयास समेत कई मामलों में दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद लखनऊ के कुख्यात अपराधी सोहराब को ऐशबाग के होटल श्री से बुधवार को गिरफ्तार कर लिया गया. 18 तारीख को दिल्ली पुलिस सोहराब को पहले फतेहगढ़ में पेशी पर ले गई थी, उसके अगले दिन उसे कानपुर लाया गया.

एएसपी पश्चिम ने बताया कि कुख्यात सोहराब को दिल्ली पुलिस का एएसआई, एक हेड कांस्टेबल व चार कांस्टेबल तिहाड़ जेल से कानपुर और लखनऊ में पेशी को लाए थे। बुधवार को कानपुर में पेशी के बाद वह लखनऊ आया, जहां बृहस्पतिवार को गैंगस्टर कोर्ट में हाजिर होना था।

बुधवार को उसे लखनऊ लाया गया था. गैंगस्टर एक्ट में उसे यहां कोर्ट में पेश किया जाना था. दिल्ली पुलिस के साथ सोहराब ऐशबाग के होटल श्री में रुका था. होटल के तीन कमरों को सोहराब के गुर्गों ने बुक कराया था.
होटल के कमरा नंबर 201 में सोहराब ठहरा था, जहां उससे मुलाकात करने के लिए उसकी पत्नी और बहन पहुंची थी. वहीं होटल के कमरा नंबर 205 और 206 में दिल्ली पुलिस की 6 सदस्य टीम ठहरी थी. एसएसपी कलानिधि नैथानी की अगुवाई में लखनऊ पुलिस की टीम ने छापेमारी की तो होटल के अंदर से सोहराब उसकी पत्नी, बहन के साथ उसका एक गुर्गा गिरफ्तार किया गया. एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि दिल्ली पुलिस के एक एएसआई, एक हेड कांस्टेबल और चार कॉन्स्टेबल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर सभी को हिरासत में ले लिया गया है. बाद में दिल्ली पुलिस के सिपाहियों के ख़िलाफ़ लिखा-पढ़ी करके उन्हें वापस रवाना कर दिया गया. जबकि सोहराब, उसकी पत्नी, बहन के अलावा होटल के मैनेजर और एक अन्य व्यक्ति के ख़िलाफ़ मामला दर्ज करके उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया है.
साथ ही कलानिधि ने यह भी कहा कि दिल्ली से पुलिस की दूसरी टीम वहां जाएगी, जिसके बाद सोहराब को वापस तिहाड़ भेजा जाएगा.

पत्नी और बहन के साथ सीरियल किलर अपराधी सोहराब

सोहराब गिरफ्तार कर 6 पुलिसकर्मी को हिरासत में रखा था
होटल के दो कमरों में दिल्ली पुलिस के 6 पुलिसकर्मी रुके थे, जबकि होटल के कमरे 206 में सोहराब अपनी पत्नी और बहन के साथ रुका था. पुलिस ने उनको तब पकड़ा जब सोहराब दिल्ली पुलिस के साथ होटल में पार्टी कर रहा था. लखनऊ पुलिस ने दिल्ली पुलिस के एएसआई, हेड कांस्टेबल समेत चार कांस्टेबल को हिरासत में ले लिया था। इसके साथ ही सोहराब की पत्नी को भी हिरासत में रखा गया था।

दिल्ली पुलिस ने अपने 6 जवानों को सस्पेंड कर दिया है.
दिल्ली पुलिस ने अपने 6 जवानों को सस्पेंड कर दिया है. निलंबित जवान लखनऊ में अपराधियों के साथ पार्टी करते पकड़े गए थे. उनके खिलाफ विभागीय जांच शुरू कर दी गई है. जिन अपराधियों के साथ पुलिस के जवान पार्टी कर रहे थे वे अभी अंडर ट्रायल हैं और कोर्ट में सुनवाई के लिए उन्हें लखनऊ की अदालत में ले जा रहे थे. दिल्ली पुलिस के 3 बटालियन के 6 पुलिसवालों पर कार्रवाई करते हुए सभी 6 पुलिसवालों को सस्पेंड किया गया है, जिसमें एक एसएसआई, 1 हेड कांस्टेबल और 4 कॉन्स्टेबल शामिल है.

क्यों सस्पेंड हुए पुलिस वाले
दरअसल, दिल्ली की जेल में बंद उत्तर प्रदेश के कुख्यात सीरियल किलर भाइयों रुस्तम और सोहराब को पेशी के लिए उत्तर प्रदेश ले गए थे. पुलिसवालों पर दोनों भाइयों को लखनऊ के होटल में ठहराने और सुविधाएं दिलवाने का आरोप है. लखनऊ के होटल में गुरुवार रात यूपी पुलिस ने छापा मारकर इसका खुलासा किया. दिल्ली पुलिस के जवानों ने उन्हें लखनऊ के ऐशबाग के होटल में ठहरने की इजाजत दी. जहां आरोपियों से उनके परिवार के लोग और उनके गुर्गे मिलने आ रहे थे. दोनों आरोपी भाइयों का दिल्ली के जेल से अय्याशी करते वीडियो भी हुवायरल हुआ था. दोनों भाइयों पर यूपी और दिल्ली में कई मुकदमे दर्ज हैं. उनपर हत्या, लूट और रंगदारी का आरोप है.

चलता हूं, घर से आई बिरयानी तो खा लूं
सोहराब के कमरे में जैसे ही पुलिस घुसी, हड़कंप मच गया। पत्नी शन्नो, बहन यासमीन व भांजा एनकाउंटर के डर से रोने लगे। हालांकि, सोहराब पर कोई असर नहीं पड़ा। वह बेड पर आराम से बैठकर बिरयानी खाता रहा। पुलिसकर्मियों ने उसे साथ चलने को कहा तो बोला, जहां कहेंगे वहां चलता हूं। पहले घर से आई बिरयानी तो खा लूं।