सनसनी ऑफ़ इंडिया न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। झपटमारी एक बदमाश का जुनून है, अपनी चील के जैसी आंखों से पलक झपकते ही वारदात को अंजाम देता है। लेकिन कहते हैं मुजरिम कितना ही शातिर हो उसका ठिकाना जेल ही होता है। जिन कपड़ो में उसने झपटमारी की थी, उसे क्या पता था वही कपड़े उसके लिए काल बन जाएंगे। पुलिस ने उन्हीं कपड़ों में सात दिन बाद उसे गिरफ्तार किया है।

फरार साथी की हो रही तलाश
बदमाश की पहचान मलिक अब्बास के रूप में हुई है। पुलिस ने इसके पास से एक बाइक व झपटमारी का एक मोबाइल बरामद किया है। पुलिस इसके फरार साथी आतिफ की तलाश कर रही है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि गत दो अगस्त को गोकलपुरी थाना क्षेत्र में बाइक सवार बदमाशों ने एक शख्स से फोन झपटा था। वारदात एक सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी।

सीसीटीवी में दिख गई बाइक की नंबर
बदमाशों की धरपकड़ के लिए हेड कांस्टेबल सचिन व अनिल ,कांस्टेबल शैलेंद्र, नितिन, रोहित अन्य की टीम बनाई। टीम ने जब सीसीटीवी की फुटेज खंगाली तो उसमें बाइक का नंबर दिखाई दिया, पुलिस उस नंबर के जरिये भागीरथी विहार में रहने वाले मलिक अब्बास के घर पहुँची।

जिस कपड़े में किया क्राइम उसी में हुई गिरफ्तारी
मलिक जब घर से नीचे आया तो इत्तेफाक से उन्हीं कपड़ो में था जो उसने वारदात के वक्त पहने हुए थे। पुलिस ने कपड़े देखते ही उसे दबोच लिया साथ ही घर से झपटमारी वाला फोन भी बरामद कर लिया। पूछताछ में उसने पुलिस को बताया कि झपटमारी उसका जुनून है, अपने साथी आतिफ के साथ मिलकर वारदातों को अंजाम देता है। पुलिस ने इसकी गिरफ्तारी से झपटमारी, लूट और चोरी के दस मामले सुलझाने का दावा किया है।

घर की तलाशी ली गयी जहां वह स्नैच मोबाइल बरामद हुआ

गोकलपुरी थाना प्रभारी के अनुसार
दिनांक 02/08/20 एक FIR No-407/20 U/s 379/356/34 IPC मोबाइल स्नेचिंग की गोकलपुरी थाने में रजिस्टर की गई। हेड कांस्टेबल सचिन, हेड कॉन्स्टेबल अनिल ,कांस्टेबल शैलेंद्र, कांस्टेबल नितिन तथा कांस्टेबल रोहित को टीम बनाकर इस केस को सॉल्व करने का जिम्मा सौपा गया। क्षेत्र के सभी CCTV फुटेज को खंगाला गया,एक फुटेज में अपराधियों की बाइक ट्रेस हुई। पुलिसकर्मियों ने अपने मुखबिरों के साथ बाइक की फोटो साझा की। जल्द ही पता लग गया कि मोटरसाइकिल किसकी है। पुलिसकर्मियों द्वारा एक टीम भेजकर पूछताछ में गाड़ी का मालिक अब्बास S/o जाफर उम्र 21 साल, R/O D124 मेंन नाला रोड, भगीरथी विहार भिजवा कर पूछताछ की गई,ओर इसके घर की तलाशी ली गयी जहां वह स्नैच मोबाइल बरामद हुआ, इत्तेफाक से अपराधी उन्ही कपड़ो में था जो कि उसने स्नैचिंग की वारदात के समय पहने हुए थे।। पुलिस पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल किया,स्नेचिंग करना उसका PASSION है। मोबाइल फोन जिसे SNATCH किया गया था उसे रिकवर किया गया।

घर की तलाशी ली गयी जहां वह स्नैच मोबाइल बरामद हुआ

इस व्यक्ति के ऊपर पहले से ही केसों की फहरिस्त लम्बी है।
1) FIR No-189/20, U/s 379 IPC, गोकलपुरी थाना।
2) FIR No-136/20, U/s 379 /356/34 IPC, शाहदरा थाना।
3) FIR No-113/20, U/s 379 IPC, मानसरोवर पार्क थाना।

पुलिस कार्यवाही में इसने अपने एक दोस्त की पहचान आतिफ R/o अली बिल्डर वाली गली इंद्रा विहार बताई।दोनों ने मिलकर बहुत से मोबाइल स्नैच किया।

उनसे पूछताछ में उनका निम्न मुकदमो में शामिल होना बताया।
1) FIR No-340/20, U/s 379/356/34 IPC, दयालपुर थाना।
2) FIR No-327/20, U/s 379/356/34 IPC, दयालपुर थाना।
3) FIR No-353/20, U/s 379/356/34 IPC, गोकलपुरी थाना।
4) FIR No-353/20, U/s 379/356/34 IPC, दयालपुर थाना।
5) FIR No-379/20, U/s 379/356/34 IPC, गोकलपुरी थाना।
6) FIR No-383/20, U/s 379/356/34 IPC, दयालपुर थाना।
7) FIR No-384/20, U/s 379/356/34 IPC, गोकलपुरी थाना।
8) FIR No-387/20, U/s 379/356/34 IPC, गोकलपुरी थाना।
9) FIR No-386/20, U/s 379/356/34 IPC, दयालपुर थाना।
10) FIR No-405/20, U/s 379/356/34 IPC, गोकलपुरी थाना।

इन अपराधी को पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है।