सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क
नई दिल्ली। मंडोली जेल में बंद कुख्यात बदमाश ने चादर का फंदा बनाकर बृहस्पतिवार देर रात खुदकुशी कर ली। मृतक की पहचान सलीम के रूप में हुई है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए शवगृह भेज दिया है। पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। कैदी की खुदकुशी से जेल में हड़कंप मचा हुआ है। पिछले वर्ष वेलकम कब्रिस्तान में हुई एक हत्या के मामले में जेल में सजा काट रहा था। सलीम के खिलाफ लूट, हत्या, हत्या के प्रयास के 25 मुकदमें दर्ज थे। शुरुआती जांच में पुलिस का कहना है कि सलीम ने पारिवारिक कलह के चलते खुदकुशी की है। हर्ष विहार पुलिस के अलावा एसडीएम मामले की जांच कर रहे हैं।

हत्या के मामले में किया गया था गिरफ्तार
पुलिस के अनुसार, सलीम अपने परिवार के साथ वेलकम इलाके में रहता था। परिवार में पिता शकील, पत्नी के अलावा एक भाई, एक बहन सहित कई सदस्य हैं। जनवरी 2019 में वेलकम कब्रिस्तान में महफूज नाम का शख्स अपनी बेटी की कब्र पर फातिहा पढ़ रहा था, तभी बदमाशों ने उसे घेरकर गोलियों से भूनकर हत्या कर दी थी। वारदात के कुछ वक्त बाद पुलिस ने हत्या के मुख्य आरोपित सलीम को दबोच लिया था। तभी से वह जेल नंबर 13 में बंद था।

घटना के वक्त बैरक में अकेला था सलीम
इस हत्या में शामिल सलीम का भाई नन्हे अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। इसकी बहन के खिलाफ भी हत्या का मामला दर्ज है। पुलिस का कहना है कि सली गैंगस्टर नासिर के लिए काम करता था। उसका खुद का भी एक गिरोह था, जो छोटे स्तर पर लूट, झपटमारी, उगाही की वारदातों को अंजाम देता है। बृहस्पतिवार रात सलीम ने बैरक में खुद को अकेला पाकर चादर का फंदा बनाकर खुदकुशी कर ली। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।