दो माह की मासूम बच्ची को डायन समझ सगी माँ ने वाशिंग मशीन में डालकर मार डाला

0

विजय कुमार दिवाकर
दिल्ली पुलिस ने एक ऐसी कलयुगी माँ को गिरफ्तार किया है जिसने अपनी सगी दो माह की मासूम बच्ची को चलती वाशिंग मशीन के अंदर डालकर इस वहम में मार डाला की उसे डायन बेटी पैदा हुई है और वह उसके चार वर्ष के बेटे को मार देगी। आरोपी महिला ने अपनी मासूम बच्ची को मारने के बाद बच्ची के शव को 16 घंटे पलंग पर लिटाकर रखा और राज खुलने के डर से बच्ची के शव को ओवन में छिपा दिया था। आरोपी मां की पहचान चिराग दिल्ली गांव निवासी डिंपल कौशिक पत्नी गुलशन कौशिक के रूप में हुई है जोकि मूलरूप से बुलंदशहर की रहने वाली हैं। डिंपल कौशिक की करीब छह वर्ष पहले गुलशन कौशिक से शादी हुई थी। आरोपी मां डिंपल के पिता हरिओम बुलंदशहर, यूपी में तांत्रिक हैं।

दक्षिण जिला डीसीपी बेनीटा मेरी जैकर के मुताबिक सोमवार शाम करीब साढ़े चार बजे मालवीय नगर पुलिस को चिराग दिल्ली गांव के मकान नंबर 656 में दो महीने की बच्ची के गायब होने की पीसीआर कॉल मिली थी। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस को पता चला कि बच्ची को परिवार वाले मदन मोहन मालवीय अस्पताल ले गये हैं, जहां पर डाक्टरों ने बच्ची को मृत घोषित कर दिया। तब तक बच्ची की हत्या किसने की इस बात का पता नहीं चल पाया था। मौके पर पहुंची पुलिस ने घंटों तक परिजनों और बच्ची की मां से पूछताछ की। बच्ची की माँ डिंपल कौशिक शुरू से ही बार बार अपना बयान बदल रही थी। शक होने पर पुलिस टीम ने बच्ची की माँ से सख्ती से पूछताछ की तो बड़ी चौकाने वाली बात सामने आई। बच्ची की मां डिंपल ने भी अपनी दो माह की मासूम बच्ची की हत्या करने की बात कबूल कर ली।

20 मार्च को करीब दोपहर 12 बजे आरोपी माँ डिम्पल दूसरी मंजिल पर वाशिंग मशीन में कपड़े धो रही थी। आरोपी माँ ने पहले अपनी दो माह की मासूम बेटी का मुंह दबाया और फिर उसे चलती वाशिंग मशीन में डाल दिया था। मासूम बच्ची को काफी देर वाशिंग मशीन में घूमाया जब उसे लगा की उसकी बच्ची मर गई है तब उसने बच्ची के शव को मशीन से बाहर निकाला। इसके बाद उसने शव को पहली मंजिल पर स्थित बैडरूम में ले जाकर लिटा दिया था। परिजनों ने जब बच्ची के बारे में पूछा तो डिंपल यही कहती रही कि उसकी तबीयत खराब है। उसे जुकाम हो गया है। वह सो रही है। तबीयत खराब होने की वजह से परिजनों ने बच्ची की तरफ ज्यादा ध्यान नहीं दिया था।

बच्ची का शव 16 घंटे रखे रहने के कारण काफी हद तक सड़-गल गया था। शव से बदबू भी आने लग गई थी। बच्ची के शव से बदबू आने से उसे लगा कि राज खुल जाएगा तो उसने 21 मार्च को शाम चार बजे बच्ची के शव को माइक्रोवेव ओवन में छिपा दिया था।
इसके बाद आरोपी मां डिंपल ने खुद को कमरे के अंदर बंद कर लिया और लेकिन शव से बदबू आने की वजह से उसका चार वर्ष का बेटा उलटी करने लगा। उलटी करने पर चार वर्षीय बेटे को पीटने लगी।

बच्ची की रोने की आवाज सुनकर आरोपी महिला का पति गुलशन कौशिक, उसका छोटा भाई व गुलशन की मां पहली मंजिल पर गए। डिंपल ने कमरा अंदर से बंद कर रखा था। कमरे का शीशा तोड़कर ये लोग अंदर गए। डिंपल बेहोश थी। उसे मदनमोहन मालवीय अस्पताल ले गए। डॉक्टरों ने बताया कि वह बेहोश होने का नाटक कर रही है। इसके बाद उसे घर ले गए। घर आकर बच्ची की याद आई तो गुलशन के छोटे भाई व पड़ोसियों ने अनन्या को खोजना शुरू कर दिया। घर में इधर उधर खोजने के बाद भी दो माह की बच्ची का पता नहीं चला। काफी खोजने के बाद अनन्या का शव ओवन में मिला था।

कई घंटों की लगातार पूछताछ करने के बाद आरोपी माँ डिंपल ने बताया कि वह बेटी पैदा होने से परेशान थी। साथ ही उसे लगता था कि उसकी बेटी डायन पैदा हुई है और वह राक्षस प्रवृति की है। बेटी बड़ी होकर उसके बेटे को मार देगी। बच्ची को लेकर उसके मन में डर की भावना पैदा हो गई थी। आरोपी मां डिंपल के पिता हरिओम बुलंदशहर, यूपी में तांत्रिक हैं। वह अपने पिता के पास इस मामले में जाती थी। पुलिस जल्द ही उसके पिता से पूछताछ करने की तैयारी कर रही है कि क्या वह बेटी को लेकर कोई बात करती थी क्या, वह बेटी पैदा होने को लेकर भी परेशान थी?पुलिस ने देर शाम को आरोपी डिंपल को कोर्ट में पेश किया।

सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क