मेवाती गैंग का मोस्ट वांटेड गाय तस्कर गिरफ्तार

0
विजय कुमार दिवाकर
वर्ष 2021 जून महीने में गाय तस्करी के दौरान पीछा कर रही पुलिस टीम पर कांच के टुकङे और जिन्दा गाय फेककर हमला करके फरार हुए मेवाती गैंग के कुख्यात और वांटेड बदमाश राकेश उर्फ भोंडू को स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज के एसीपी अत्तर सिंह की सुपरविजन और दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार व इंस्पेक्टर करमवीर सिंह के नेतृत्व में टीम ने लाडो सराय इलाके से गिरफ्तार किया है। आरोपी के खिलाफ डकैती, रेप, मारपीट, चोट, अपहरण, धमकी और आर्म्स एक्ट जैसे आधा दर्जन मामले दर्ज हैं। इसके पास से 315 बोर की एक सिंगल शॉट पिस्टल और 4 जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं।
वर्ष 2021 जून महीने में गाय तस्करी के समय पुलिस टीम पर हमला करके फरार मेवाती गैंग का कुख्यात और वांटेड बदमाश राकेश उर्फ भोंडू अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए लगातार अपने ठिकाने बदल रहा था। दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की कई टीमें कुख्यात और वांटेड बदमाश राकेश उर्फ भोंडू को दबोचने का प्रयास कर रही थी। लेकिन शातिर और कुख्यात राकेश उर्फ भोंडू पिछले एक साल से पुलिस टीमों को चकमा दे रहा था।
स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज के दबंग इंस्पेक्टर शिव कुमार की टीम भी राकेश पर लगातार नजर रखे हुए थी। लेकिन शातिर और कुख्यात राकेश उर्फ भोंडू ने अपने आपको नूंह, मेवात में छिपा रखा था और गिरफ्तारी से बचने के लिए अपने पास मोबाइल भी रखना बंद कर दिया था। इंस्पेक्टर शिव कुमार ने अपनी टीम के कुछ सदस्यों को मेवाती ड्रैस में राकेश उर्फ भोंडू के आसपास तैनात कर दिया। टीम के सदस्य मेवाती ड्रैस में पिछले काफी समय से मेवात नूह में राकेश उर्फ भोंडू की एक्टिविटी नजर रखे हुए थे। मेवाती गैंग के शातिर और कुख्यात राकेश उर्फ भोंडू ने मेवात में अपने आसपास स्थानीय लोगो का सुरक्षा चक्र बना रखा था इसलिए मेवात में दबोचना आसान नहीं था। इंस्पेक्टर शिव कुमार की टीम ने राकेश को दबोचने के लिए कई बार मेवात में छापेमारी की लेकिन मेवात इलाके में इंट्री करते ही राकेश को स्थानीय लोगो से इसकी जानकारी लग जाती थी और वो फरार हो जाता था।
इंस्पेक्टर शिव कुमार को पूरा भरोसा था की राकेश एक न एक दिन मेवात इलाके से बाहर जरूर निकलेगा। आख़िरकार कई महीनों के इंतजार के बाद इंस्पेक्टर शिव कुमार की टीम को सीक्रेट इनफार्मेशन मिली की राकेश दिल्ली के लाडो सराय इलाके में वारदात को अंजाम देने की योजना बना रहा है।
स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज के दबंग इंस्पेक्टर शिव कुमार राकेश उर्फ भोंडू को दबोचने का यह मौका हाथ से नहीं निकलने देना चाहते थे।
इंस्पेक्टर शिवकुमार ने स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज एसीपी अत्तर सिंह के साथ इनफार्मेशन shared की। स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज एसीपी अत्तर सिंह ने इनफार्मेशन से स्पेशल सेल के वरिष्ठ अधिकारीयों को अवगत कराया।
इनफार्मेशन मिलते ही वांटेड को दबोचने के लिए स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह ने स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज एसीपी अत्तर सिंह की सुपरविजन और स्पेशल सेल दक्षिणी रेंज के दबंग इंस्पेक्टर शिवकुमार व इंस्पेक्टर करमवीर सिंह के नेतृत्व में टीम का गठन किया।
टीम ने दिल्ली के लाडो सराय इलाके में राकेश की आवाजाही के बारे में और जानकारी जुटाई गई और इलाके में राकेश व उसके साथियों की गतिविधियों पर नजर रखनी शुरू कर दी।
इंस्पेक्टर शिव कुमार को कन्फर्म इनफार्मेशन मिली की मेवाती गैंग का कुख्यात और वांटेड बदमाश राकेश उर्फ भोंडू 15 फरवरी 2022 को महरौली बदरपुर के रास्ते फिरनी रोड मोड़ लाडो सराय के पास वारदात करने के लिए इलाके की रेकी करने आएगा। बदमाश को दबोचने के लिए फिरनी रोड मोड़ लाडो सराय के पास जाल बिछाया गया। रात करीब 9:15 मिनट पर राकेश आता हुआ दिखाई दिया। टीम ने तुरंत ही राकेश को चारो और से दबोच लिया। तलाशी लेने पर इसके पास से 315 बोर की एक सिंगल शॉट पिस्टल और 4 जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं।
गिरफ्तार मेवाती गैंग के बदमाश की पहचान विलेज फ़िरोज़पुर नमक, थाना नूह मेवात हरियाणा निवासी 27 वर्षीय राकेश उर्फ भोंडू पुत्र रतिराम के रूप में हुई।
जाँच में टीम को पता चला की 5 और 6 जून 2021की दरमियानी रात थाना ख्याला इलाके में वांटेड राकेश उर्फ भोंडू अपने 7 साथियों के साथ दिल्ली से चोरी की गायों को ट्रक में भरकर भाग रहा था। गस्त कर रही एक पीसीआर वैन ने ट्रक का पीछा किया और बदमाशों को रुकने को कहा। गाय चोरी करके भाग रहे वांटेड राकेश उर्फ भोंडू ने रुकने की वजाये अपने साथियों के साथ मिलकर पीसीआर वैन पर कांच की बोतलों से हमला कर दिया था। बदमाशों को दबोचने के लिए मौके पर लगभग आधा दर्जन पीसीआर वैन भेजी गईं थी। लेकिन बदमाश ट्रक से पुलिस की गाड़ियों को टक्कर मारकर कांच की बोतलों से हमला करते रहे। जब बदमाशों को लगा की वो चारों तरफ से घिर गए है तो उन्होंने पुलिस टीम पर ट्रक से जिन्दा गाय फेकनी शुरू कर दी थी। बदमाशों की इस हरकत से कई जिन्दा गायों को गंभीर चोटे आई थी और पीसीआर वैनो को भी भारी नुकसान हुआ था। घटना में चार पुलिसकर्मी भी घायल हो गए थे। मौका मिलते ही वांटेड राकेश उर्फ भोंडू अपने 7 साथियों के साथ ट्रक को अंधेरे में छोड़कर फरार होने में कामयाब रहा था। इसके अलावा राकेश व उसके साथी दिल्ली में कई कार व अन्य वाहन भी लूट चुके हैं।
स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह ने बताया की मेवात गैंग के सदस्य बेहद खूंखार, क्रूर और हिंसक होते हैं। यह अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए पुलिस पर हमला करने और यहां तक कि पुलिस पर गोली चलाने से भी नहीं हिचकिचाते हैं। मेवात गैंग के सदस्यों का काम बंदूक की नोंक पर कारों और मिनी ट्रकों को लूटना है। मेवात गैंग के सदस्य लुटे हुए वाहनों को दिल्ली एनसीआर और नेशनल हाइवे पर बन्दूक की नौक पर डकैती डालने में इस्तेमाल करते हैं।
इस गैंग के बाकी सदस्यों को दबोचने के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है।
सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क