सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क
नई दिल्ली/मेरठ। 15 अगस्त की पूर्व संध्या पर दिल्ली के शाहबाद डेरी थाना पुलिस ने मेरठ में अवैध हथियारों की एक फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है. पुलिस ने तस्करों को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक अवैध हथियार बनाने से लेकर उसे बेचने तक का बड़ा रैकेट चल रहा था.

अवैध कारखाने से पुलिस ने 312/12 बोर के 31 बैरल, ग्राइंडर, स्प्रिंग बनाने वाली तार, स्क्रू के पैकेट बरामद किए हैं. इसके अलावा कई सारे लोहे की प्लेट्स और लोहे काटने की मशीन भी बरामद की है. पुलिस के मुताबिक ये लोग हर रोज कई पिस्टल और तमंचे बना लेते थे. इसके अलावा पुलिस ने यहां से 7 तैयार तमंचे और 6 गोलियां बरामद की है. फिलहाल ये लोग ऑर्डर के मुताबिक काम करते थे.

इससे पहले 6 अगस्त की रात पुलिस ने शाहबाद डेरी इलाके से ही शुभम नाम के एक शख्स को 2 अवैध तमंचों के साथ गिरफ्तार किया था. शुभम ने पूछताछ में बताया कि वो इन तमंचों को लोकल बदमाशों को बेचने जा रहा था. शुभम ने पुलिस को बताया कि ये तमंचे उसे मेरठ के रहने वाले आजम ने दिए थे. इसके बाद पुलिस आजम की तलाश में जुट गई और हफ्ते भर बाद 13 अगस्त को आजम को 4 अवैध तमंचे और 4 कारतूस के साथ पकड़ लिया गया.

पूछताछ में मोहम्मद आजम ने पुलिस को बताया कि ये चारों तमंचे उसे कमरे आलम ने जो मेरठ का ही रहने वाला है, उसने दिए हैं. इसके बाद पुलिस की टीम कमरे आलम की तलाश में उसके घर पहुचीं. जहां पता लगा कि कमरे आलम जेल में है और साथ मे पुलिस को वहां से कुछ भी संदिग्ध नहीं दिखा, जिसके बाद पुलिस ने आजम से फिर से सख्ती से पूछताछ की.

चार गिरफ्तार
इसके बाद मोहम्मद आजम ने पुलिस को बताया कि वो इलियास नाम के शख्स के साथ मिलकर खुद ही अवैध हथियार की फैक्ट्री चलाता है. इसके बाद पुलिस ने इसके अलग-अलग ठिकानों पर छापा मारकर अवैध हथियार बनाने के कई सामान बरामद किए और पूछताछ के आधार पर इलियास और पंकज नाम के दो और आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इस मामले में अब तक 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है जबकि 4 की तलाश जारी है.