विजय कुमार दिवाकर
हैदराबाद
हैदराबाद में एक महिला वेटनरी डॉक्टर के साथ हुई दरिंदगी की वारदात ने सात साल पुराने निर्भया कांड की खौफनाक यादों को ताजा कर दिया. तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में एक महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप कर उसकी हत्या कर दी गई. पुलिस ने इस मामले में चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा करते हुए बताया कि दरिंदों ने कैसे इस घटना को अंजाम दिया. शुक्रवार देर शाम प्रेस कॉन्फेंस में साइबराबाद पुलिस ने पुष्टि की है कि महिला डॉक्टर की हत्या से पहले गैंगरेप किया गया था. पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने युवती के साथ गैंगरेप किया और बाद में गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी और शव को जला दिया. हैदराबाद के बाहरी इलाके शमशाबाद में टोंडुपल्ली टोल प्लाजा के पास युवती के साथ गैंगरेप किया गया. उसके शव को 25 किलोमीटर दूर ले जाकर रंगा रेड्डी जिले के चटनपल्ली पुल पर पेट्रोल छिड़ककर जला दिया. पुलिस के मुताबिक आरोपियों की पहचान मोहम्मद आरिफ, नवीन, चिंताकुंता केशावुलु और शिवा के रूप में हुई है. पुलिस ने इस बात की भी पुष्टि की है कि आरोपियों ने अपराध को अंजाम देने के दौरान शराब पी रखी थी. इस घटना का मुख्य आरोपी आरिफ है.

These are the four animals involved in the gang rape and murder of the Veterinary Doctor

पार्किंग के पास देख बनाया प्लान
पुलिस ने बताया कि चारों लड़के टोल प्लाजा पर खड़े थे. उसी दौरान दरिंदों ने डॉक्टर को पार्किंग के पास देखा था और फिर शराब पीते हुए गैंगरेप का प्लान बनाया. नवीन नाम के लड़के ने महिला डॉक्टर की स्कूटी को पंक्चर कर दिया था. रात 9.18 बजे के करीब महिला डॉक्टर अपनी स्कूटी लेने पहुंचीं. लेकिन गाड़ी पंक्चर थी तो आरिफ ने मदद करने के लिए हाथ बढ़ाया. शिवा नाम का लड़का स्कूटी लेकर गया और बताया कि दुकान बंद हो चुकी है.

मुंह-नाक दबाकर मारा, पेट्रोल से जलाया
इसके बाद इन दरिंदों ने महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप किया. पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने घटना को अंजाम देते हुए लड़की के मुंह और नाक को कसकर दबा रखा ताकि बाहर आवाज न जा सके और इसकी वजह से दम घूटने से लड़की की मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि गैंगरेप और लड़की हत्या के बाद आरोपियों ने पेट्रोल खरीदा और फिर जला दिया.
बता दें कि हैदराबाद-बेंगलुरु हाइवे पर एक सरकारी महिला डॉक्‍टर की अधजली लाश मिली थी. लाश मिलने के बाद माना जा रहा था कि 26 साल की महिला डॉक्‍टर के साथ रेप के बाद उसकी हत्‍या कर दी गई. हैवानियत की इंतहा यह थी कि आरोपियों ने डॉक्‍टर की लाश को जलाकर एक फ्लाईओवर के नीचे फेंक दिया था. असल में महिला डॉक्‍टर रात में अपने घर लौट रही थीं, इसी दौरान रास्‍ते में उनकी बाइक पंक्चर हो गई थी.

These are the four animals involved in the gang rape and murder of the Veterinary Doctor

पुलिस ने दिखाया लापरवाही भरा रवैया
वेटनरी डॉक्टर के साथ पहले आरोपियों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म किया गया इसके बाद उसे आग लगाकर मार डाला गया। इस नृशंस हत्या ने देश को हिलाकर रख दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डॉक्टर के पिता ने बताया कि ‘हमने सोचा कि मोबाइल इसलिए बंद हो गया कि उसकी बैटरी खत्म हो गई है। इसके बाद रात 10 बजे हम उसकी खोज में टोल बूथ पर गए। इसके बाद हमने पुलिस स्टेशन में शिकायत करने का निर्णय लिया। लेकिन पुलिस ने हमें एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन पर भेज दिया। वे तय नहीं कर पा रहे थे कि केस किसके थाने के अंतर्गत आता है।’

लड़की और उनकी बहन के बीच क्या बात हुई?
पीड़िता और उनकी बहन के बीच फ़ोन पर हुई बातचीत में यह महसूस होता है कि उन्हें उस समय किस तरह का डर महसूस हो रहा था. सूत्रों के हवाले से सनसनी ऑफ़ इंडिया संवाददाता ने दोनों बहनों की बातचीत का ब्यौरा दिया है. बातचीत में पीड़िता अपनी बहन को स्कूटी पंक्चर होने के बारे में बता रही है. इसके बाद युवती की बहन उन्हें स्कूटी छोड़कर घर आने के लिए कहती है लेकिन युवती जवाब देती है कि उन्हें अगले दिन भी काम पर जाना है इसलिए स्कूटी लाना बहुत ज़रूरी है. युवती अपनी बहन को ट्रक ड्राइवर के बारे में बताती है, साथ ही यह भी बताती है कि उन्हें बहुत ज़्यादा डर लग रहा है.

इस घटना के बाद हैदराबाद पुलिस के कमिश्नर अंजनी कुमार ने ट्वीट किया है.

उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि कोई भी शख़्स कभी भी डर महसूस करे तो वो 100 नंबर पर कॉल करे. पुलिस पेट्रोल कार आप तक 6-8 मिनट में पहुंच जाएगी, हैदराबाद सिटी पुलिस के पास 122 पेट्रोल कार हैं जो आपके पास मदद के लिए आएंगी. हम आपके साथ हमेशा हैं.

कोई वकील आरोपियों का केस नहीं लड़ेगा: बार एसोसिएशन
शादनगर के स्थानीय कोर्ट से संबंधित बार एसोसिएशन ने घटना के चारों आरोपियों का केस लड़ने से इनकार कर दिया है। बार एसोशिएसन ने कहा- कोई भी वकील अदालत में चारों आरोपियों की पैरवी करने नहीं जाएगा और उन्हें कानूनी सहायता भी उपलब्ध नहीं कराई जाएगी। दुष्कर्म और हत्या के आरोपियों को महबूबनगर के फास्ट ट्रैक कोर्ट में पेश किया गया।

डॉक्टर की स्कूटी। जांच के दौरान नंबर प्लेट हटा दी गई थी।

बुधवार रात डॉक्टर को अपने टू-व्हीलर का टायर पंक्चर मिला
बुधवार को भी डॉक्टर वेटनरी हॉस्पिटल से टोल प्लाजा पर लौटी और वहां से एक और क्लिनिक पर जाने के लिए रवाना हो गई। रात 9 बजकर 22 मिनट पर डॉक्टर ने अपनी बहन को फोन पर बताया कि उसके टू-व्हीलर का एक टायर पंक्चर है। एक व्यक्ति ने उसे मदद की पेशकश की है। कुछ देर बाद उसने दोबारा फोन कर बताया कि मदद की पेशकश करने वाला व्यक्ति कह रहा है कि आसपास की सभी दुकानें बंद हैं और पंक्चर ठीक करवाने के लिए गाड़ी को कहीं और ले जाना होगा।

डॉक्टर ने जब फोन किया, तब वह डरी हुई थी
परिवार के लोगों ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि जब डॉक्टर ने अपनी बहन को फोन किया, तब वह डरी हुई थी। बहन ने उसे सुझाव दिया कि वह टू-व्हीलर वहीं छोड़े और कैब बुक कर घर लौटे। लेकिन डॉक्टर ने कहा कि हाईवे पर स्थित टोल प्लाजा के किनारे इंतजार करने में उसे अजीब महसूस हो रहा है। डॉक्टर ने बाद में अपनी बहन से यह भी कहा कि आसपास अजनबी लोग हैं, वे उसे घूर रहे हैं और उसे डर लग रहा है। पास में ही एक लॉरी खड़ी है, जहां कुछ लोग मौजूद हैं। डॉक्टर ने अपनी बहन से कहा कि वह उससे फोन पर बात करती रहे। बाद में रात 9 बजकर 44 मिनट पर डॉक्टर का फोन स्विच ऑफ हो गया। परिवार ने पुलिस ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करा दी।

टोल प्लाजा से 30 किमी दूर डॉक्टर का जला हुआ शव मिला।

4 लोगों ने दुष्कर्म किया, हत्या के बाद शव को 30 किमी दूर ले गए
पुलिस के मुताबिक, रात के वक्त में नो एंट्री होने की वजह से तोंडुपल्ली टोल प्लाजा के पास ट्रक और लॉरियां खड़ी हो जाती हैं। बुधवार रात चार ट्रक ड्राइवर और क्लीनर टोल प्लाजा के पास शराब पी रहे थे। इसी दौरान उनकी टू-व्हीलर पंक्चर होने के कारण अकेली खड़ी डॉक्टर पर नजर पड़ी। वे पंक्चर ठीक करवाने के बहाने से उसे अपने साथ ले गए। वे बुधवार रात 9.30 बजे से गुरुवार तड़के 4 बजे तक डॉक्टर से दुष्कर्म करते रहे। इसके बाद डॉक्टर की हत्या कर दी। वे लाश को करीब 30 किमी एक पुल के नीचे ले गए। फिर शव को चादर में लपेटा और केरोसिन छिड़ककर आग लगा दी। इसके बाद दो आरोपी बाइक पर और बाकी लॉरी से लाैट आए।

किसान ने जला हुआ शव देखा
वेटनरी डॉक्टर हैदराबाद-बेंगलुरु हाईवे पर स्थित जिस टोल प्लाजा पर आखिरी बार देखी गई थी, वहां से करीब 30 किमी दूर एक किसान ने गुरुवार सुबह उसका जला हुआ शव देखा। उसने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने गुमशुदगी की रिपोर्ट के आधार पर डॉक्टर के परिवार के लोगों को घटनास्थल पर बुलाया। अधजले स्कार्फ और गोल्ड पेंडेंट से डॉक्टर के शव की पहचान हुई। पुलिस को आसपास से शराब की बोतलें भी मिलीं। पुलिस ने एक ट्रक के आधार पर जांच शुरू की। यह ट्रक राजेंद्र नगर में रहने वाले एक व्यक्ति का है। साइबराबाद पुलिस ने मो. आरिफ, जोल्लु शिवा, जोल्लु नवीन और चिंताकुंटा चेन्नकेशवुलु को हिरासत में लिया है। पुलिस ने केस फास्ट ट्रैक में चलाए जाने और दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिए जाने की मांग की है।

महिला सुरक्षा के मुद्दे पर हैदराबाद से दिल्ली तक प्रदर्शन
डॉक्टर की हत्या और दुष्कर्म के खिलाफ हैदराबाद में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने बेंगलुरु हाईवे जाम कर दिया। प्रदर्शन में बड़ी संख्या में स्कूली बच्चे भी शामिल हुए। राजधानी दिल्ली में भी घटना के बाद महिला सुरक्षा के मुद्दे पर युवती अनु दुबे ने संसद के बाहर प्रदर्शन किया। शनिवार को राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा पीड़ित के परिवार से मिलने पहुंचीं। उन्होंने बताया कि परिवार पुलिस के रवैये से नाराज है। पुलिस अपने क्षेत्राधिकार को लेकर लड़ रही थी, इस वजह से कार्रवाई में देरी हुई। अगर पुलिस तेजी दिखाती, तो उन्हें बचाया जा सकता था। रेखा शर्मा ने कहा कि दोषियों को मौत की सजा मिलनी चाहिए। तेलंगाना की राज्यपाल डॉ. तमिलिसई सुंदरराजन ने भी पीड़िता के परिजन से मुलाकात की।

तेलंगाना में एक और महिला का जला हुआ शव मिला
शम्शाबाद के सिद्दुला गुट्टा मंदिर इलाके में शुक्रवार को एक और महिला का जला हुआ शव मिला। यह क्षेत्र आरजीआई एयरपोर्ट पुलिस स्टेशन की जद में आता है। डीसीपी प्रकाश रेड्डी ने बताया कि पुलिस को स्थानीय लोगों से सूचना मिली थी कि मंदिर के पास एक महिला का शव जल रहा है। हालांकि, लोगों ने आग बुझाने की कोशिश की, मगर वे नाकाम रहे। शव करीब 35 वर्षीय महिला का है, उसकी पहचान नहीं हो पाई।