ब्रांडेड कंपनियों का नकली और मिलावटी घी बनाने वाले गैंग का भंडाफोड़

0

विजय कुमार दिवाकर दिल्ली पुलिस की स्पेशल स्टाफ, आउटर डिस्ट्रिक्ट ने दो ऐसे मिलावटखोरों को दबोचा है जिसमे मास्टरमाइंड पहले ओला में ड्राइविंग करता था लेकिन ओला की कमाई से संतुष्ट नहीं था और महंगी गाड़ी व विंदास लाइफ स्टाइल जीने के लिए शार्ट कट तरीके से जल्दी और मोटा पैसा कमाने के लालच में अपने एक साथी के साथ मिलकर नकली घी बनाने का धंधा करने लगा। इससे पहले की वो नकली और मिलावटी घी के धंधे से अपने सपने पुरे कर पाते पुलिस ने इन्हे धरदबोचा। गिरफ्तार आरोपियों की पहचान गैंग का मास्टरमाइंड 30 वर्षीय अर्जुन कुमार व 22 वर्षीय अंशुल बंसल के रूप में हुई है। दोनों रोहिणी दिल्ली के रहने वाले है। पुलिस ने इनके पास से मधुसूदन, पारस, मदरडेयरी व पतंजलि ब्रांड का नकली और मिलावटी 1258 किलोग्राम देसी घी के साथ एक महिंद्रा बोलेरो पिक अप कार बरामद की है। बाहरी जिला डीसीपी समीर शर्मा ने बताया की एसएमसी फ़ूड व वीआरएस फ़ूड लिमिटेड कम्पनी के मार्केटिंग इंटेलिजेंस अधिकारी जितेंद्र सिंह ने थाना मंगोलपुरी में शिकायत दी उनकी कम्पनी के पास पारस, मधुसूदन व मिलफूड ब्रांड के देसी घी डिस्ट्रीब्यूशन का राइट है। लेकिन कुछ लोग बाहरी जिले में उनके ब्रांड का नकली और मिलावटी देसी घी बेचकर लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं और कंपनी के असली देसी घी के पैकेटों से छेड़छाड़ कर उसमें नकली घी डालकर उसे असली घी के रूप में बेच रहे हैं।

थाना मंगोलपुरी में एफआईआर संख्या 585/2022 धारा 420, 272, 273, 120 बी के तहत मामला दर्जकर जाँच शुरू कर दी। बाहरी जिला डीसीपी समीर शर्मा के अनुसार देसी घी हर घर में इस्तेमाल होता है और नकली और मिलावटी देसी घी से लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ेगा। जोकि वो कतही बर्दाश्त नहीं करेंगे। बाहरी जिला डीसीपी समीर शर्मा ने मामले को बड़ी गंभीरता से लेते हुए नकली और मिलावटी देसी घी बनाने वाले आरोपियों को जल्द से जल्द दबोचने के लिए अरुण कुमार चौधरी एसीपी ऑपरेशन्स के नेतृत्व में इंस्पेक्टर अजमेर सिंह, एसआई प्रदीप कुमार, राजकुमार, रामकिशन, हेड कांस्टेबल जगप्रवेसे, कांस्टेबल कपिल और कांस्टेबल दीपक की एक टीम का गठन किया। टीम ने मुखबिरों का जाल बिछाकर सस्पेक्ट इलाके की दुकानों पर नजर रखनी शुरू कर दी। टीम के कुछ सदस्य खुद सादी बर्दी में सस्पेक्ट दुकानों पर जा जाकर घी खरीदने के बहाने असली और नकली घी पहचान करने लगे। टीम को पुख्ता जानकारी मिली की पुष्पांजी एन्क्लेव में पुनीत रिटेल स्टोर ब्रांडेड कंपनी के नाम से नकली और मिलावटी देसी घी बेच रहा है। इनफार्मेशन कन्फर्म होते ही बाहरी जिला डीसीपी समीर शर्मा नकली और मिलावटी देसी घी बनाने और बेचने वालों को किसी भी हाल में बख्शना नहीं चाहते थे। बाहरी जिला डीसीपी समीर शर्मा ने तुरंत ही अरुण कुमार चौधरी एसीपी ऑपरेशन्स के नेतृत्व में शिकायतकर्ता व एफएसओ की टीम के साथ पुनीत रिटेल स्टोर पुष्पांजी एन्क्लेव दिल्ली में संयुक्त रेड मारी। छापेमारी में टीम को पुनीत रिटेल स्टोर से ब्रांडेड कंपनी के 250 से अधिक नकली और मिलावटी देसी घी के डिब्बे मिले। पुनीत रिटेल स्टोर के मालिक ने पूछताछ में बताया की अंशुल बंसल नामक एक व्यक्ति बालाजी ट्रेडिंग कंपनी के माध्यम से ब्रांडेड कंपनी का नकली और मिलावटी देसी घी उसके स्टोर पर सप्लाई करता है। जाँच टीम ने तुरंत पुनीत रिटेल स्टोर के मालिक की निशानदेही पर बालाजी ट्रेडिंग कंपनी पर छापेमारी की जहां नकली और मिलावटी देसी घी के 720 डिब्बे मिले। पुलिस ने बालाजी ट्रेडिंग कंपनी के मालिक अंशुल बंसल को गिरफ्तार कर लिया। अंशुल बंसल ने पूछताछ में पुलिस टीम को बताया की अर्जुन नामक व्यक्ति गैंग का मास्टर माइंड है जोकि नकली और मिलावटी देसी घी बनाकर उसे देता था और वो आगे दुकानों पर सप्लाई कर देता था। अंशुल बंसल की निशानदेही पर पुलिस टीम ने आरोपी अर्जुन की नकली और मिलावटी देसी घी बनाने वाली फैक्ट्री पर छापा मारा। फैक्ट्री में पुलिस को भारी मात्रा में नकली और मिलावटी देसी घी बनाने का सामान मिला जिसे पुलिस टीम ने जब्त कर आरोपी अर्जुन को गिरफ्तार कर लिया। गैंग का मास्टरमाइंड अर्जुन ने पूछताछ में पुलिस को बताया की वो पिछले नवम्बर से नकली और मिलावटी देसी घी बनाने का काम कर रहा है और दिल्ली के बड़े लगभग 16 स्टोरों पर वो नकली और मिलावटी देसी घी सप्लाई करता था। आरोपी ने आगे बताया की उसका बनाया ब्रांडेड कंपनी का नकली और मिलावटी देसी घी पूरी दिल्ली में फैल चुका है। पुलिस टीम ने इनके पास से नकली और मिलावटी 689 किलो पारस, 225 किलो मदरडेयरी, 45 किलो पतंजलि व 10 किलो दूध वाला मिलावटी देसी घी के साथ एक महिंद्रा बोलेरो पिक-अप कार बरामद की है। बाहरी जिला डीसीपी समीर शर्मा ने बताया की बाकि आरोपी फरार है उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमे लगातार छापेमारी कर रही है। गिरफ्तार आरोपी 10वीं कक्षा पास 22 वर्षीय अंशुल बंसल पुत्र परवीन बंसल मकान नंबर ए 3/148, सेक्टर 7 रोहिणी का रहने वाला है। यह बालाजी ट्रेडिंग के नाम से कंपनी की आड़ में नकली और मिलावटी देसी घी सप्लाई करता था। गैंग का मास्टरमाइंड 5वीं कक्षा पास 30 वर्षीय अर्जुन कुमार पुत्र महेंद्र मकान नंबर डी 1/31, डीडीए फ्लैट सेक्टर 4 रोहिणी का रहने वाला है। यह एक टेंपो और ओला चालक है। यह पहले ओला में ड्राइविंग करता था लेकिन ओला की कमाई से संतुष्ट नहीं हुआ और महंगी गाड़ी व विंदास लाइफ स्टाइल जीने के लिए शार्ट कट तरीके से जल्दी और मोटा पैसा कमाने के लालच में नकली घी बनाने का धंधा करने लगा। सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क