13 साल बाद भगोड़ा गिरफ्तार

0

सनसनी ऑफ़ इंडिया
नई दिल्ली, भजनपुरा।
नई दिल्ली जिला पुलिस ने ठगी के मामले में फरार आरोपित को 13 वर्ष बाद हरियाणा के भिवानी से गिरफ्तार किया है। उसके खिलाफ भजनपुरा थाने में ठगी का मुकदमा दर्ज था। मुकदमा होने के बाद से ही पुलिस से बचने के लिए वह छुपकर रह रहा था। आरोपित के खिलाफ नई दिल्ली में भी ठगी के दो मुकदमे दर्ज हैं।

नई दिल्ली के डीसीपी डा. ईश सिंघल ने बताया कि वर्ष 2007 में शिव कुमार के साथ आरोपित व उनके साथियों ने ठगी की थी। आरोपितों ने रकम दोगुनी करने का झांसा देकर पीड़ित से 90 हजार रुपये ठग लिए थे। इस संबंध में भजनपुरा थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था।

इस मामले में हरीश ठाकुर, देव दत्त शर्मा, प्रेम पाल और भगत सिंह को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। लेकिन बलबीर सिंह फरार चल रहा था। मंदिर मार्ग थाने की टीम आरोपित की तलाश में जुटी थी। इसी बीच पुलिस को पता चला कि आरोपित हरियाणा के भिवानी स्थित लुहारी जाटू गांव में छुपा हुआ है। इसके बाद एसआइ जय सिंह और एएसआइ इंदर सिंह ने 19 जनवरी को बलबीर सिंह को गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ पहले मंदिर मार्ग और कनॉट प्लेस थाने में भी ठगी का मुकदमा दर्ज है।

दिल्ली पुलिस : थाना मंदिर मार्ग पुलिस ने घोषित अपराधी ठग को 13 साल बाद भिवानी हरियाणा से किया गिरफ्तार। FIR No.148/1996 u/s 419/420/34 IPC थाना भजनपुरा में था वांछित। नई दिल्ली जिले के दो अन्य मुकदमों में भी था संलिप्त।

बातों में उलझाकर बदल लिया एटीएम कार्ड
इधर, निहाल विहार थाना क्षेत्र में एक किशोर अपनी मां का एटीएम कार्ड लेकर पैसे निकालने के लिए गया। वहां पहुंचने के बाद उसे दो अनजान युवक ने बातों में उलझा लिया और खाते से पैसे निकल लिए। पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।
जानकारी के अनुसार किशोर रविवार को एक एटीएम पहुंचा। किशोर एटीएम से पैसे निकालने लगा तभी एक युवक एटीएम के अंदर आकर उसकी मदद करने लगा। इस दौरान उस युवक ने किशोर का एटीएम कार्ड बदल दिया और पिन देख लिया। किशोर ने कोशिश की, लेकिन पैसा नहीं निकला। कुछ देर बाद वह घर आ गया। इस बीच किशोर की मां के मोबाइल पर खाते से पैसे निकाले जाने के संदेश आने शुरू हो गए। आरोपितों ने कुछ ही देर में 48 हजार रुपये निकाल लिए। मामले की तहकीकात जारी है।

आरोपित बलबीर सिंह 13 साल से फरार चल रहा था