विजय कुमार दिवाकर
ग्रेटर कैलाश, नई दिल्ली।
दिल्ली पुलिस ने चार ऐसे हाई प्रोफाइल सेंधमार गिरफ्तार किये हैं, जिनकी गिरफ्तारी से पुलिस ने लगभग दो करोड़ रुपये का हीरा, सोने-चांदी के आभूषण व लगभग चार लाख रुपये की घड़ियां बरामद की है. आरोपियों में से एक महिला भी है, जो इन आरोपियों में शामिल एक सेंधमार की पत्नी है. आरोपियों के नाम राजू उर्फ पप्पू उर्फ टोपीवाला, उसकी पत्नी पिंकी इसके अलावा हनी कुमार गुप्ता और सगीर है.

क्या है घटना ?
पुलिस के अनुसार 20 दिसंबर को ग्रेटर कैलाश इलाके में एक घर के अंदर सेंधमारी की वारदात को अंजाम दिया गया था. जिसमें चोरों ने घर के अंदर से हीरे, सोने, चांदी आदि के आभूषण के अलावा महंगी घड़ियां और कई महंगी मूर्तियां जो काफी एंटीक थी, चोरी कर ली थी. पुलिस ने इस संबंध में ग्रेटर कैलाश थाने में एफआईआर भी दर्ज की थी. इसकी जांच के लिए ग्रेटर कैलाश थाने की लगभग सारी टीम काम कर रही थी.

कैसे सुलझा मामला
साउथ डिस्ट्रिक्ट के डीसीपी अतुल कुमार ठाकुर का कहना है कि जांच के दौरान वारदात वाले घर के आसपास लगे कई सीसीटीवी कैमरों को खंगाला गया. इसके अलावा उन सेंधमारों के डोजियर भी चेक किए गए जो पहले इस तरह की वारदातों में शामिल रह चुके हैं और गिरफ्तार हो चुके हैं. इन सबकी मदद से पुलिस ने राजू उर्फ पप्पू उर्फ टोपीवाला नामक एक सेंधमार की पहचान की. यह भी स्पष्ट हो गया कि इस आरोपी ने ही इस वारदात को अंजाम दिया है. जिसके बाद पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की और उसे गिरफ्तार कर लिया. टोपीवाला की निशानदेही पर उसकी पत्नी सहित तीन साथियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया.

बरामदगी
पुलिस का कहना है कि इनके पास से लगभग 2 करोड़ रुपए के आभूषण बरामद किए गए हैं, जो इन लोगों ने चोरी किए थे. यह आभूषण हीरा, सोने, चांदी आदि के हैं. लगभग चार लाख रुपये की कीमत की कलाई घड़ियां व अन्य कीमती नग, एंटीक मूर्तियां आदि बरामद की गई है. पुलिस का कहना है कि यह गिरोह दक्षिणी दिल्ली की कई पॉश कॉलोनी में सक्रिय था और पहले भी ऐसी वारदातों को अंजाम दे चुका है. फिलहाल इन सभी से पूछताछ की जा रही है, हो सकता है कि कुछ और भी मामले सुलझ सकें.