विजय कुमार दिवाकर
फरीदाबाद। हरियाणा स्थित फरीदाबाद के तिगांव के जसाना गांव में हुए दंपती हत्याकांड में पुलिस ने हत्या का षड्यंत्र रचने के आरोप में मोनिका के बड़े भाई ब्रह्मजीत को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का दावा है कि ब्रह्मजीत और उसके साले विष्णु ने सुखवीर की हत्या की योजना बनाई थी, मगर मोनिका ने विष्णु को पहचान लिया इस लिए उसकी भी हत्या कर दी गई। इस मामले में पहले गिरफ्तार चार आरोपियों को पुलिस ने तीन दिन की रिमांड पर शुक्रवार को लिया था। जिनकी एक दिन की रिमांड कोर्ट ने सोमवार को बढ़ा दी है।

जसाना दोहरे हत्याकांड में फरीदाबाद पुलिस को ने मात्र24घंटे में मुख्य आरोपी विष्णु सहित 4आरोपी सोनू, यतिन, कुलदीप गिरफ्तार ACP क्राइम अनिल यादव के नेतृत्व मेंCIA सै०30,85,DLF व NITकी टीम ने दबोचा लिया था। पुलिस कमिश्नर स्वयं कर रहे थे केस की मॉनिटरिंग। ACP धारणा यादव ने किया खुलासा .
आरोपी ब्रह्मजीत मृतक मोनिका का भाई है

वहीं, क्राइम ब्रांच ने मोनिका और सुखवीर का मोबाइल और लैपटॉप हिंडन नदी से बरामद कर लिया है। अब इनकी फरेंसिक जांच के बाद पता चलेगा कि कथित रूप से जिन तस्वीरों को लेकर ब्लैकमेल करने की बात कही जा रही थी, वे इनमें हैं भी कि नहीं। क्राइम ब्रांच की टीम ने वारदात में इस्तेमाल किए गए देशी कट्टे और पिस्टल को भी मेरठ से बरामद कर लिया है। अभी आरोपियों के कपड़े तलाश किए जा रहे हैं जो उन्होंने वारदात के दौरान पहने थे।

11 अगस्त की दोपहर को जसाना गांव में सुखवीर और मोनिका की उनके ही घर में घुसकर चार बदमाशों ने हत्या कर दी थी। जिसके बाद क्राइम ब्रांच ने इस मामले में मृतका की भाभी के भाई विष्णु को गिरफ्तार किया था। जिसने पुलिस को बताया था कि मृतक सुखवीर उसकी बहन की आपत्तिजनक फोटो को लेकर ब्लैकमेल कर रहा था। जिसके चलते उसने तीन शूटर के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया।

मोबाइल और लैपटॉप हिंडन नदी से बरामद हुआ
इस कांड की अहम चीजें मोनिका और सुखवीर के मोबाइल और लैपटॉप के अवशेष क्राइम ब्रांच ने हिंडन नदी से बरामद कर लिए हैं। आरोपी विष्णु ने वारदात को अंजाम देने के बाद मोबाइल और लैपटॉप को तोड़कर नदी में फेंक दिया था। जिसके बाद क्राइम ब्रांच ने गोताखोरों की मदद से उन्हें ढूंढ निकाला है। दोनों का डाटा रिकवर करने के लिए इसे एफएसएल लैब में भेजा जाएगा।

जीजा से नाराज था ब्रह्मजीत
मोनिका के बड़े भाई ब्रह्मजीत ने पुलिस को बताया कि उसकी पत्नी की आपत्तिजनक तस्वीरें उसके जीजा सुखवीर के पास थीं। जिसे लेकर वो उसकी पत्नी को ब्लैकमेल कर रहा था। इस वजह से उसने अपने साले विष्णु संग मिलकर इस पूरी वारदात की साजिश रची। इसके साथ ही कई दिनों तक हत्या में इस्तेमाल होने वाले हथियार भी ब्रह्मजीत के पास ही रखे थे।

पुलिस को इस मामले में शक की सुई पहले दिन से ही परिवार के किसी सदस्य पर घूम रही थी।
पुलिस को इस मामले में शक की सुई पहले दिन से ही परिवार के किसी सदस्य पर घूम रही थी। हालांकि बाद में जब सीसीटीवी सामने आया तो विष्णु की पहचान हो गई। इसके बाद पुलिस ने गहनता से पूछताछ की तो सब राज खुल गया। अब इस डबल हत्याकांड में पुलिस मृतका की भाभी से भी पूछताछ कर सकती है। वहीं आरोपियों को रिमांड पर लेकर हथियार और अन्य सामान बरामद करवाने की कोशिश पुलिस करेगी।

इस मामले में आरोपी ब्रहमजीत ने बताया कि उसकी पत्नी की अश्लील फोटो उसके जीजा सुखबीर के पास थी, इसी को लेकर पहले भी लड़ाई झगड़ा हुआ था। इसके बाद ब्रहमजीत ने ही अपनी बहन और जीजा की हत्या की साजिश रची थी।

पुलिस प्रवक्ता एसीपी धारणा यादव

पुलिस प्रवक्ता एसीपी धारणा यादव ने प्रेस वार्ता में बताया कि फरीदाबाद पुलिस ने हत्या में प्रयोग की गई 2 देसी कट्टा, 1 पिस्तौल, एक जिंदा कारतूस और एक चोरी की मोटरसाइकिल मेरठ शहर के पास मेन रोड पर झाड़ी में से आरोपियों की निशानदेही पर बरामद की हैं।

दूसरी मोटरसाइकिल पास ही दूसरी झाड़ी में मिली और यह उन्होंने मेरठ के थाना परतापुर एरिया से चोरी की थीं। आरोपी विष्णु के घर से सैमसंग फोन, एक चैन सोने की और 1200 रुपए बरामद किए गए। आरोपी कुलदीप से 1 जोड़ी झुमका सोना, एक चांदी की चेन, ₹1000 मेरठ के कंकर खेड़ा में उसकी बहन के ससुराल से बरामद किए गए हैं।

आरोपी सोनू से एक लूटा हुआ लैपटॉप एक मोबाइल फोन सिम कार्ड के साथ ₹2000 बरामद किए गए हैं। आरोपी जतिन से 1 जोड़ी झुमका डकैती के ₹2000 और वारदात में पहने हुए कपड़े बरामद किए गए हैं। इसके साथ ही उसके खुद का ओप्पो का मोबाइल और सिम भी बरामद की गई है।

ब्रह्मजीत के साले विष्णु ने वारदात के 15 दिन पहले ही वारदात में प्रयोग किया गया असला अपने जीजा ब्रह्मजीत को लाकर दिया था। वारदात वाले दिन ब्रह्मजीत ने यह असला वापस विष्णु को दे दिया और ब्रह्मजीत के घर पर होने की खबर भी ब्रह्मजीत ने विष्णु को दी थी।

एसीपी क्राइम अनिल यादव ने बताया कि आरोपी ब्रह्मजीत मृतक मोनिका का भाई है। मृतक मोनिका और सुखबीर की हत्या, विष्णु ने अपने उपरोक्त साथियों के साथ योजना के अनुसार वारदात को अंजाम दिया था।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि पूछताछ पर मुख्य आरोपी विष्णु ने बताया कि उसकी बहन कि कुछ फोटोग्राफ्स मृतक सुखबीर के पास थी, जिसको लेकर मृतक सुखबीर, आरोपी विष्णु की बहन (मोनिका की भाभी) को ब्लैकमेल कर रहा था। इसके चलते आरोपी विष्णु ने अपने उपरोक्त तीन साथियों सहित मिलकर मोनिका और सुखबीर की योजना के तहत हत्या कर दी थी।