सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क
हरियाणा, पलवल।
नकली टीटीई को ईएफटी (अतिरिक्त किराया वसूलने वाली रसीद) जारी करने पर पलवल स्टेशन पर कार्यरत चीफ बुकिंग सुपरवाइजर (सीबीएस) को रेल प्रशासन ने सस्पेंड कर दिया है। साथ ही इस पूरे मामले की तह तक जांच की जा रही है कि नकली टीटीई किस आधार पर सीबीएस से ईएफटी हासिल किया था। बताया जाता है कि पकड़ा गया नकली टीटीई पलवल, फरीदाबाद और हजरत निजामुद्दीन स्टेशनों पर रुकने वाली ट्रेनों में बैठता था और यात्रियों से अवैध उगाही करता था। हैरानी की बात ये है कि पलवल स्टेशन से रोज सहायक कॉमर्शियल मैनेजर अशोक कुमार और फरीदाबाद-पलवल सेक्शन के सीएमआई रोज दिल्ली आते जाते हैं लेकिन उनको इसकी भनक तक नहीं लगी।

पकड़ा गया आरोपी मनीष पुत्र देवेंद्र कुमार निवासी खटैला जिला पलवल। खुद को खेल कोटे से भर्ती होने का दिया था हवाला

तीन दिन पहले निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की चैकिंग के दौरान लाइन के टीटीई स्टाफ ने इस नकली टीटीई को पकड़ा था। संदेह होने पर उसे जीआरपी के हवाले कर दिया गया। जीआरपी ने उसके कब्जे से ईएफटी, सेंट्रल रेलवे का आईकार्ड भी बरामद किया है। वह टीटीई की वर्दी में यात्रियों से वसूली का प्रयास कर रहा था। उसके पास से बरामद ईएफटी में दो रसीद भी काट चुका था।

पकड़े गए नकली टीटीई की पहचान पलवल के गांव खटैला निवासी मनीष पुत्र देवेंद्र कुमार के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि वह टीटीई की ड्रेस भी पहन रखी थी ताकि किसी को सक न हो। खुद को वह कब्बडी का राष्ट्रीय स्तर का खिलाड़ी बताता है। सीनियर डिवीजन कॉमर्शियल मैनेजर प्रवीन कुमार ने बताया कि इस पूरे मामले की जांच की जा रही है। नकली टीटीई को ईएफटी जारी करने पर पलवल के सीबीएस को भी सस्पेंड कर दिया गया है।