सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क
नई दिल्ली। मध्य जिला पुलिस ने वर्दी में लोगों से उगाही करने वाले बदमाश को उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद से गिरफ्तार किया है। आरोपित की पहचान लोनी गाजियाबाद निवासी सुभाष चंदर उर्फ मुकेश के रूप में हुई है। वह डीटीसी का बर्खास्त कर्मचारी है और दिल्ली में नौ मामले में शामिल रहा है। गत दिनों बदमाश ने मध्य जिला के आईपी एस्टेट और दरियागंज थाना क्षेत्र में लगातार वर्दी में दो वारदात की थी। वह पुलिस की वर्दी पहनकर रौब दिखाकर लोगों से जबरन रुपये छीन लेता था। पुलिस अब उस ऑटो की तलाश कर रही है जिसपर बैठकर आरोपित उगाही करता था।

गाजियाबाद के लोनी में रहने वाला एक शख्स गिरफ्तार हुआ है। यह पुलिस की वर्दी में लोगों से उगाही करता था।

मध्य जिला के डीसीपी संजय भाटिया ने बताया कि आईपी एस्टेट इलाके में 23 जुलाई को फूड डिलीवरी ऐप के कर्मचारी रजत कुमार के साथ घटना घटी थी। रजत मोटरसाइकिल से डीडीयू मार्ग पर जा रहे थे। तभी रास्ते में वर्दी पहने एक शख्स ने उन्हें रोक तेज गति वाहन चलाने पर 8000 रुपये का चालान भरने को कहा था। इसके बाद में उसने जबरन ऑटो में बिठाकर पीड़ित का मोबाइल फोन छीन लिया था। रजत के पास रुपये नहीं थे तो आरोपित एटीएम से रुपये निकालवाने के लिए उसे कनॉट प्लेस ले गया। लेकिन, रजत किसी तरह नजर बचाकर भागने में सफल रहे थे। इसी प्रकार की घटना दरियागंज इलाके में 31 जुलाई को भी घटी थी।

खुद को पुलिसकर्मी बताकर बदमाश ने हरियाणा के सोनीपत स्थित एक कंपनी में सुपरवाइजर अमित से दस हजार रुपये जबरन ले लिए थे। बाद में आरोपित ऑटो से फरार हो गया था। घटना जानकारी मिलने पर बदमाश को दबोचने के लिए एसीपी कमला मार्केट अनिल कुमार की टीम को लगाया गया। छानबीन में पुलिस को जानकारी मिली कि आरोपित सुभाष चंदर गाजियाबाद का रहने वाला है। जिसके बाद उसे दबोच लिया गया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुभाष चंदर पहले डीटीसी में काम करता था। लेकिन, भ्रष्टाचार के कारण विभाग ने उसे वर्ष 2005 में बर्खास्त कर दिया था। इसके बाद से ही वह ट्रांसपोर्ट अधिकारी अथवा पुलिस कर्मी की वर्दी पहनकर लोगों से उगाही करने लगा था। सुभाष दिल्ली में अलग-अलग थाना क्षेत्र में अब तक नौ वारदात कर चुका है। पुलिस ने उसके घर से वर्दी भी बरामद कर ली है।