एस्कॉर्ट सर्विस की आड़ में ग्राहकों को लूटने वाले गैंग का पर्दाफाश

0

सनसनी ऑफ़ इंडिया
नोएडा सेक्टर-24 थाना पुलिस ने एस्कॉर्ट सर्विस की आड़ में देह व्यापार के बहाने ग्राहकों से लूटपाट करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने सेक्टर-54 खरगोश पार्क से गिरोह की महिला सरगना, उसके पति सहित तीन अन्य महिलाओं को भी गिरफ्तार किया गया है।
गाजियाबाद के खोड़ा कॉलोनी निवासी एक व्यक्ति ने थाना पुलिस को शिकायत दी थी कि उसके साथ चार महिलाओं सहित एक युवक ने लूटपाट की है। इस पर पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी। पुलिस ने मंगलवार सुबह सेक्टर-54 खरगोश पार्क से गिरोह की सरगना महिला, उसके पति सहित तीन अन्य महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों की पहचान गिरोह की सरगना दिल्ली के मंडावली निवासी रोशनी, उसके पति दिव्यांश सोनी, दिल्ली बदरपुर निवासी सरिफा खातून, हरियाणा बल्लभगढ़ निवासी मंजू और परमिला के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपियों से वारदात में इस्तेमाल कार, युवक से लूट के साढ़े तीन हजार रुपये और पांच मोबाइल सहित आपत्तिजनक सामग्री बरामद की है।

देह व्यापार करने वाले/ग्राहकों के साथ लूटपाट करने वाले गिरोह का खुलासा, गैंग चलाने वाली गैंग की सरगना तथा गैंग के 04 सदस्य गिरफ्तार। कब्जे से लूटे हुये रुपये, कार, मोबाइल फोन आदि सामान बरामद। थाना सेक्टर-24 नोएडा

चैट करके फंसाती थीं ग्राहक
पुलिस जांच में सामने आया है कि गिरोह की सरगना रोशनी एस्कॉट सर्विस चलाती है। उसने जस्ट डायल सहित अन्य वेबसाइट पर अपने मोबाइल नंबर अपलोड कर रखे हैं। इससे ग्राहक इंटरनेट से उनके मोबाइल नंबर लेकर बात करते हैं। रोशनी कई दिनों तक ग्राहक से मोबाइल पर चैट करती है। फिर ग्राहक के पास कुछ युवतियों के फोटो भेजती है। फिर ग्राहक से एक युवती चुनने के लिए कहती है। जब ग्राहक एक फोटो पसंद कर उसके पास भेजता है तो वह ग्राहक को किसी सुनसान जगह पर बुलाती है। इसके बाद उसे अपनी कार में बैठाकर झूठ केस दर्ज कराने की धमकी देकर लूटपाट करती है। पुलिस को आरोपी महिला के मोबाइल से कई लोगों की वॉट्सऐप चैट मिली है।

एनसीआर में दो साल से चल रहा धंधा
डीसीपी राजेश सिंह ने बताया कि गिरोह पिछले दो साल से एनसीआर में सक्रिय है। यह अभी तक नोएडा, दिल्ली व गुरुग्राम के सैकड़ों लोगों को अपना शिकार बना चुका है। कई ग्राहकों की डिटेल आरोपियों के पास मिली है। इसके अलावा आरोपियों के मोबाइल से भी अन्य जानकारी जुटाई जा रही है। उन्होंने बताया कि आरोपी ग्राहकों के पास सुंदर युवतियों के फोटो भेजकर उन्हें अपने पास बुलाती थीं, जबकि वह लड़की उसके पास नहीं होती थी। पुलिस ने सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया।