वीडियो कॉल को एडिट कर बनाते थे अश्लील वीडियो, फिर करते थे उगाही, 6 गिरफ्तार

0

नई दिल्ली
सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क

ये बदमाश शुरुआत में तो चैटिंग करते हैं, लेकिन कुछ दिनों बाद ये वीडियो कॉल करते हैं, जब वीडियो कॉल चल रही होती तो ये एक मोबाइल में पोर्न वीडियो चला देते बाद में ये वीडियो को कुछ इस तरह से एडिट कर देते हैं कि लगता है कि फोन पर बात करने वाला ही कोई अश्लील हरकत कर रहा है.

दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने मॉर्फ वीडियो के नाम पर ब्लैकमेल करके ठगी करने वाले 6 शातिर बदमाशों को मेवात इलाके से गिरफ्तार किया है. पकड़ में आये बदमाश लोगों को वीडियो कॉल करते थे, वो पूरी कॉल को रिकॉर्ड कर लेते और साथ मे एक फोन में पोर्न वीडियो चला देते थे बाद में ये शातिर बदमाश वीडियो को मॉर्फ़ कर देते.

दिल्ली पुलिस साइबर सेल ने बुधवार को इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान वारिस (28), रईस (22), अनय खान (21), वहीद (23), मुफीद (30) और अकरम (21) के तौर पर हुई है। पुलिस ने बताया कि सभी आरोपी राजस्थान के भरतपुर में एक गांव से यह वसूली गैंग चला रहे थे।

वीडियो देखने पर ऐसा लगता कि सामने वाला शख्स अश्लील हरकत कर रहा है. इस वीडियो को दिखा कर वो ये कहते कि या तो उनको पैसे दो वर्ना वो ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर देंगे. पुलिस ने आरोपियों के पास से 17 मोबाइल फोन बरामद किया है और इनमें से 40 वीडियो भी बरामद किया है.

कुछ दिनों पहले दिल्ली की साइबर सेल में एक शख्स ने शिकायत दी थी कि कुछ लोग उसे ब्लैकमेल कर रहे हैं. पीड़ित ने पुलिस को बताया कि वो लोग कह रहे हैं कि उनके पास एक वीडियो कॉल है जिसमे मैं अश्लील हरकतें कर रहा हूं, लेकिन मैंने ऐसी कोई कॉल नही की है, पुलिस ने उस फोन नंबर के जरिए आरोपियों को तलाशना शुरू किया तो पता चला कि आरोपी नंबर तो किसी दूसरे प्रदेश का इस्तेमाल कर रहे हैं लेकिन ये नंबर भरतपुर के इलाके में एक्टिव है.

जांच में और पीड़ित से बात करने पर पुलिस को पता चला कि आरोपी फेक फेसबुक प्रोफाइल बनाते हैं. इसे बेहद आकर्षक फोटो लगाते हैं इसके बाद वो कई लोगो को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज देते हैं. जो लोग इनके रिकवेस्ट को स्वीकार लेते हैं ये उनमें से अपना टारगेट सेट करते हैं.

इसके बाद शुरुआत में तो ये चैटिंग करते हैं, लेकिन कुछ दिनों बाद ये वीडियो कॉल करते हैं, जब वीडियो कॉल चल रही होती तो ये एक मोबाइल में पोर्न वीडियो चला देते बाद में ये वीडियो को कुछ इस तरह से एडिट कर देते हैं कि लगता है कि फोन पर बात करने वाला ही कोई अश्लील हरकत कर रहा है.

पुलिस ने टेक्निकल सर्विलांस के आधार पर भरतपुर इलाके से 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पकड़ में आए आरोपियों के नाम रईस, वाहिद, अकरम, मुफीद, अनस और वारिस हैं. पुलिस ने इनके पास से 17 मोबाइल फोन बरामद किया है और इनके 10 बैंक खातों की भी जानकारी पुलिस को मिली है.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपियों ने लोगों से 25 लाख रुपये ठग लिए थे। गिरोह से जुड़े 10 बैंक खातों की पहचान की गई है और उन पर रोक लगा दी गई है। उन्होंने बताया कि गैंग के बारे में पिछले कुछ हफ्ते में मिली शिकायतों के आधार पर दिल्ली पुलिस की साइबर सेल जांच कर रही थी।

डीसीप (साइबर सेल) अन्येश राय ने कहा कि शिकायतों के मुताबिक, फेसबुक जैसे सोशल मीडिया फ्लैटफॉर्म पर फर्जी प्रोफाइल बनाकर लोगों से संपर्क किया जाता था। इसके बाद वॉट्सऐप से वीडियो कॉल करने को कहा जाता। कॉल के दौरान अश्लील क्लिप दिखाए जाते थे और फिर इस कॉल को रिकॉर्ड कर लिया जाता था।

उन्होंने बताया कि गैंग के सदस्य 2,000 रुपये से लेकर 30,000 रुपये तक की मांग करते थे। तकनीक का इस्तेमाल करते हुए आरोपियों के ठिकानों का पता लगाया गया। बाद में राजस्थान में भरतपुर पुलिस के सहयोग से आरोपियों को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया।