सनसनी ऑफ़ इंडिया
आप सभी गूगल के सह-संस्थापक लैरी पेज और सर्गी ब्रेन के बारे में जानते हैं जिन्होंने सुंदर पिचाई के लिए गूगल और इसकी मूल कंपनी एल्फाबेट दोनों के सीईओ के रूप में कार्यभार संभालने का मार्ग प्रशस्त किया।

इनके अलावा एक तीसरे सह-संस्थापक भी हैं जिनका नाम स्कॉट हसन हैं, जो लगभग भुलाए जा चुके हैं, लेकिन आजकल सुर्खियों में हैं, बहरहाल उनके खबरों में रहने की यह वजह कुछ ठीक नहीं है। हसन की पत्नी का उन पर आरोप है कि दोनों के बीच चल रही तलाक की कार्यवाही के बीच उनके पति ने अपने रोबोटिक स्टार्टअप को जानबूझकर एक ‘फायर सेल’ (जहां भारी छूट पर चीजों की ब्रिकी की जाती है) में बेच दिया है।

फोर्ब्स की रिपोर्ट के मुताबिक, डेलावेयर में दर्ज एक शिकायत में एलिसन हुआन ने कहा है कि उनके पति जो प्रौद्योगिकी कंपनी के सीईओ हैं, ने कंपनी की मूल संपत्ति को चार लाख डॉलर के ‘न बेचे जाने योग्य’ मूल्य पर डेनमार्क स्थित कंपनी ब्लू ओशन को बेच दिया है।

दर्ज शिकायत में कहा गया है कि कंपनी की मूल पोर्टफोलियो, कुल संपत्ति और इसकी लाइसेंसिंग क्षमता को ध्यान में रखते हुए इसे और अधिक कीमत में बेचा जाना चाहिए था। पति और पत्नी के बीच फिलहाल इस मुद्दे को लेकर बहस जारी है।

रिपोर्ट के मुताबिक, इनकी शादी साल 2001 में हुई थी और साल 2015 में कैलीफोर्निया में इनके बीच तलाक की कार्यवाही शुरू हुई जिसे अब तक सुलझाया नहीं जा सका है। रिपोर्ट कहता है कि इस कंपनी में एलिसन ने भी पैसे लगाए थे और इसके चलते कंपनी के एक हिस्सेदार के रूप में वह हसन पर मुकदमा करने के योग्य हैं।