सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क
नई दिल्‍ली । दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने पीएमओ का अधिकारी बता गुजरात के एक कारोबारी से 36 करोड़ की ठगी करने वाले ठग को नोएडा से गिरफ्तार किया है। आरोपित की पहचान पीयूष बंद्योपाध्याय के रूप में हुई है। उसने अपनी पत्नी श्वेता के साथ मिलकर ठेका दिलाने का झांसा देकर कारोबारी से ठगी की थी। लोगों को झांसा देने के लिए आरोपित पांच सितारा होटलों में बैठक कर लोगों से मिलता था और नीली बत्ती लगी कार में वहां आता था। पुलिस अब आरोपित की पत्नी श्वेता की तलाश में जुट गई है।

दिल्‍ली पुलिस की आर्थिक शाखा ने पीयूष बंद्योपाध्याय नामक शख्‍स को गिरफ्तार किया है। इस शख्‍स पर एक गुजरात के व्‍यापारी से 36 करोड़ रुपये ठगने का आरोप है।

ईओडब्ल्यू के ज्वाइंट कमिश्नर ओपी मिश्रा ने बताया कि गुजरात की बायोट्वायलेट बनाने वाली एक कम्पनी ने पुलिस में खुद को पीएमओ अधिकारी बताने वाले एक शख्स द्वारा 36 करोड़ रुपये ठगी किए जाने की शिकायत की थी। कंपनी के मालिक दया शंकर मिश्रा ने 27 मई को दी शिकायत में बताया था कि वर्ष 2014 में उनकी मुलाकात एक मित्र के माध्यम से श्वेता नाम की महिला से हुई थी। बाद में श्वेता ने उनकी मुलाकात आईएफएस अधिकारी बता अपने पति पीयूष बंद्योपाध्याय से कराई थी। पीयूष ने खुद को पीएमओ में तैनात बताया था और अपना विजिटिंग कार्ड भी दिया था। लोगों को झांसे में लेने के लिए अशोका होटल में होने वाली मुलाकात के दौरान पीयूष नीली बत्ती लगी कार में आता था। श्वेता ने पीड़ित को बताया था कि पीयूष केंद्र सरकार की मेक इन इंडिया योजना से जुड़े हुए हैं। उनके कई बड़े अधिकारियों से संपर्क हैं। लिहाजा वह किसी भी कंपनी को बड़ा ठेका दिला सकते हैं।

दिल्‍ली पुलिस की आर्थिक शाखा ने पीयूष बंद्योपाध्याय नामक शख्‍स को गिरफ्तार किया है। इस शख्‍स पर एक गुजरात के व्‍यापारी से 36 करोड़ रुपये ठगने का आरोप है।

मुलाकात के दौरान पीयूष ने पीड़ित की कंपनी को बड़ा ठेका दिलवाने का वादा किया। पीड़ित ठग के झासे में आ गए और ठेके के लिए रुपये देने को राजी हो गए। वर्ष 2014 से 2018 के बीच पीयूष और श्वेता ने अलग-अलग बहाने से कारोबारी से करीब 36 करोड़ रुपये ठग लिए। बाद में आरोपितों ने पीड़ित का फोन उठाना बंद कर दिया। शक होने पर दया शंकर ने पीएमओ कार्यालय में पीयूष के बारे में जानकारी ली। इसमें पता चला कि वहां इस नाम से कोई अधिकारी नहीं है। बाद में उन्होंने ठगी की शिकायत ईओडब्ल्यू में की। पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने तकनीकी सर्विलांस से पीयूष और उसकी पत्नी श्वेता की तलाश शुरू की। इसी बीच जानकारी मिलने पर पीयूष को नोएडा से धर दबोचा गया। अब पुलिस आरोपित की पत्नी की तलाश के साथ ही यह पता लगाने में जुटी है कि आरोपितों ने अब तक कितने और लोगों को ठगा है।