कारोबारी ने पहले नस व गला काटा, फिर होटल से छलांग लगाकर की आत्महत्या

0

सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क
फरीदाबाद, हरियाणा।
ब्रेकरी कारोबारी ने सेक्टर-31 स्थित एक ओयो होटल में पहले दोनों हाथ की नसें काटीं फिर गला रेता। इसके बाद दूसरी मंजिल से छलांग लगा आत्महत्या कर ली। पुलिस को होटल के कमरे से सुसाइड नोट मिला है। इसमें कई लोगों से पैसों के लेनदेन की बात सामने आई है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। कारोबारी शनिवार दोपहर करीब साढ़े बारह बजे घर से निकले थे। शाम तक वापस न आने पर रात में जब बेटे ने फोन किया तो उन्होंने रविवार सुबह घर आने की बात कहकर फोन काट दिया था। रविवार सुबह परिजनों को उनके मौत की सूचना मिली।
कारोबारी की पहचान इंद्रप्रस्थ कॉलोनी सेक्टर-31 निवासी राम कृपाल सिंह के रूप में हुई है। सूचना मिलने पर क्राइम ब्रांच और फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंचकर इन्होंने जांच पड़ताल शुरू कर दी। मृतक के बेटे नितेश सिंह की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। बेटे ने आत्महत्या की घटना को सिरे से खारिज करते हुए पिता की हत्या होने की आशंका जताई है।
फिलहाल पुलिस हर एंगल से जांच कर रही है। पुलिस के अनुसार कारोबारी रामकृपाल सिंह ब्रेकरी का कारोबार करते थे। परिवार में पत्नी और दो बेटे हैं। बड़ा बेटा नितेश सिंह पिता के साथ कारोबार में हाथ बंटाता है। गांव बसंतपुर सेहतपुर के पास इनकी दुकान भी है।
बेटे नितेश सिंह के अनुसार उनके पिता शनिवार दोपहर करीब 12.30 बजे घर से निकले थे। लेकिन कुछ बताकर नहीं गए कि वह कहां जा रहे हैं। नितेश भी फैक्टरी चले गए थे। शाम चार बजे जब नितेश घर लौटकर आए तो फोन किया। पिता ने फोन पर कहा कि वह किसी दोस्त के साथ हैं। शाम तक आ जाएंगे।
नितेश के अनुसार शाम 6-7 बजे तक जब पिता घर नहीं आए तो उन्होंने दोबारा उनके मोबाइल पर कॉल किया लेकिन फोन नहीं उठा। इसके बाद उनके परिचितों को फोन करना शुरू किया। पिता के दोस्तों ने भी अपने-अपने स्तर पर पता करने का प्रयास किया लेकिन कुछ सुराग नहीं लगा।
फिर तिलपत निवासी त्रिलोक पंडित ने बताया कि उनकी बात हुई है पप्पू से। पप्पू से प्लाट का मैटर चल रहा है। पप्पू ने पिता रामकृपाल के ग्रीनफील्ड में होने की बात बताई थी। बेटे ने जब पप्पू को फोन किया तो एक बार घंटी बजी फिर उसने फोन बंद कर दिया।

फरीदाबाद. थाने पहुंचे मृतक कारोबारी के परिजन।

कारोबार में पापा को काफी नुकसान हुआ था: नितेश
बेटे नितेश सिंह ने बताया कि कारोबार में उनके पापा को काफी नुकसान हुआ था। कर्ज भी है। इससे भी वह परेशान चल रहे थे। एक-दो पार्टनर थे। जो पैसे नहीं दे रहे थे। किसी से कोई दुश्मनी भी नहीं थी। सुसाइड नोट में बृजेश यादव का नाम लिखा है। पप्पू से कहा है कि जीपीए हमारे बेटे के नाम कर देना। सुसाइड नोट से यह लग रहा है कि किसी ने दबाव डालकर गन प्वाइंट पर उनसे यह लिखवाया है।

रात 9.30 बजे फोन रिसीव किया
रात करीब साढ़े नौ बजे कारोबारी रामकृपाल ने बेटे का फोन रिसीव किया और दोस्तों के साथ होने और सुबह घर आने की बात कही थी। रविवार सुबह करीब 8 बजे उनकी मौत की सूचना बेटे को मिली। पुलिस के मुताबिक मृतक रामकृपाल ने सेक्टर 31 स्थित ओयो होटल से छलांग लगाकर आत्महत्या की है। वह इस होटल के कमरा नंबर 103 में रुके थे।
पुलिस ने होटल के कमरे से छह पेज का सुसाइड नोट बरामद किया है। इसमें कई लोगों से पैसों के लेनदेन की बात लिखी है। पुलिस ने सबको अपने कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। बेटे का कहना है कि जिस तरह से होटल के कमरे में खून बिखरा पड़ा है और दोनों हाथ व गला कटा है।
ऐसी हालत में कोई व्यक्ति कमरे से बाहर निकलकर छत पर जाकर आत्महत्या कैसे कर सकता है। उन्होंने हत्या होने की आंशका जताई है। सेक्टर 31 थाना प्रभारी मनोज कुमार का कहना है की सीसीटीवी फुटेज के आधार पर हर एंगल से घटना की जांच की जा रही है।