गौ हत्या करने वाला गैंग 30 मिनट का रास्ता नाप लेता था मात्र पांच मिनट में, स्पेशल स्टाफ ने दबोचा

0
विजय कुमार दिवाकर
शाहदरा स्पेशल स्टाफ ने पालतू व सड़क पर रहने वाली गायों को देर रात चोरी व हत्या करके उनका मांस बेचने वाले एक ऐसे गैंग को दबोचा है जो गाय चोरी की वारदात को अंजाम देने के बाद पुलिस से बचने व अपने ठिकाने पर जल्द से जल्द पहुंचने के लिए इतनी स्पीट में गाड़ी चलाते थे कि 30 मिनट का रास्ता मात्र पांच मिनट मे नाप लेते थे। यह गैंग इतना खूंखार व खतरनाक था कि गाये चोरी करने के बाद अपने ठिकाने पर पहुंचकर पलक छपकते ही जिन्दा गाये के दर्जनों टूकड़े कर तुरंत ही गौ मांस को ठिकाने लगा देता था। गिरफ्तार गौ हत्यारों की पहचान 33 वर्षीय चांद उर्फ अरशद, 20 वर्षीय अरकम, 21 वर्षीय नसीम उर्फ अयान, 30 वर्षीय अनस व 23 वर्षीय अहमद गुफरान के रूप में हुई है।
डीसीपी शाहदरा आर सत्यसुंदरम ने बताया कि 15 फरवरी 2022 को सीबीडी ग्राउंड, मजार से थाना आनंद विहार में गाय चोरी की एक कॉल आई थी। तुरन्त ही थाना आनंद विहार में एफआईआर संख्या 178/22 धारा 379/429, 11 पीसीए एक्ट और 4/12 डीएसीपी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू की गई। स्थानीय पुलिस ने अपने स्तर पर गाये चोरों को खोजने की हर संभव कोशिश की लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी।
डीसीपी शाहदरा आर सत्यसुंदरम का शाहदरा जिले में क्रिमिनलों को क्लियर व कड़ा मैसेज है की क्राइम छोटा हो या बड़ा क्रिमिनलों को किसी भी कीमत पर बक्शा नहीं जायेगा। क्रिमिनल अपने दिमाग से गलतफहमी निकाल दे की अपराध करके वो बच जायेगा। क्राइम को अंजाम देने वाले क्रिमिनल के साथ साथ क्राइम में क्रिमिनल की मदद करने वाले किसी को भी बक्शा नहीं जायेगा।
डीसीपी शाहदरा आर सत्यसुंदरम ने गाय चोरों को दबोचने का काम शाहदरा स्पेशल स्टाफ को सौंपा और महेन्द्र सिंह एसीपी ओपरेशन की सुपरविजन व इंस्पेक्टर विकास कुमार के नेतृत्व में एसआई विनीत प्रताप, प्रशांत हैड कांस्टेबल अनुज, सर्वेश, राजीव, राजेश, सुधीर, देवेंद्र, सिद्धार्थ, विजय, सचिन, अंकुर, कांस्टेबल नितिन, कुलदीप, विपिन, हरकेश और जगमोहन की एक क्रेक टीम का गठन किया।
गाये चोरी की घटना को 15 से 20 दिन हो गये थे ऐसे में चोरों के खिलाफ सुराख जुटाने में शाहदरा स्पेशल स्टाफ को थोड़ी परेशानी का सामना तो करना पड़ा लेकिन टीम ने हिम्मत नहीं हारी। टीम ने नये सीरे से जांच करते हुए सबसे पहले वारदात वाले दिन का क्राईम सीन के आस पास लगे सीसीटीवी फुटेज और मोबाईल डैम डाटा को स्कैन किया।
जिस रूट से गाये चोरों के आने और जाने की आशंका थी जाँच टीम ने उस रूट पर पड़ने वाले सभी कॉर्नर्स, मल्टीप्ल टर्न्स, मकानों, दुकानों, बस स्टॉप और रेड लाइट पर लगे सीसीटीव फुटेजों को खंगाला।
सीसीटीवी फुटेज और मोबाईल डैम डाटा में गाय काटने के तीन मामलों में वांटेड अहमद गुफरान की लोकेशन क्राईम सीन पर दिखाई दी।
अहमद गुफरान की लोकेशन क्राईम सीन के पास मिलने से इंस्पेक्टर विकास कुमार को समझने में देरी नहीं लगी की यह कोई गाय चोरी की आम घटना नहीं है।
एक आरोपी की पहचान होने पर इंस्पेक्टर विकास कुमार की टीम ने गाय चोरी घटना की वजाय गाय काटकर मास बेचने वाले गैंग के एंगल पर काम करना शुरू कर दिया।
इंस्पेक्टर विकास कुमार ने गाये हत्यारों के गैंग को दबोचने के लिये मुखबिरों का जाल बिछाने के साथ साथ आरोपियों की एक्टिविटी और मूवमेंट पर एडवांस लेटेस्ट टेक्नोलॉजी से नजर रखनी शुरू कर दी।
इंस्पेक्टर विकास कुमार को मुखबिरों से पता चला की 10 व 11 अप्रैल की दरमियानी रात शाहदरा जिले में काऊ स्लॉटर गैंग होंडा सिटी कार नंबर डीएल 4 सीएनसी 1898 से आ सकता है।
इंस्पेक्टर विकास कुमार आरोपियों को दबोचने का यह मौका किसी भी हाल में हाथ से नहीं जाने देना चाहते थे। इंस्पेक्टर विकास कुमार ने टीम के साथ तुरन्त ही गीता कॉलोनी इलाके में अपना जाल बिछा दिया।
स्पेशल स्टाॅफ की एक टीम एडवांस लेटेस्ट टेक्नोलॉजी से आरोपियों की मूवमेंट पर नजर रखे हुए थी टीम को आरोपियों की लोकेशन सीमापुरी में दिखाई दी लेकिन मात्र पांच मिनट के बाद आरोपियों की लोकेशन आनन्द विहार में थी जोकि अपने आप में संभव नहीं था क्योंकि कार से सीमापुरी से आनन्द विहार तक पहुंचने में कम से कम 30 से 40 मिनट का समय लगता है। थोड़ी देर बाद गौ हत्यारों की मूवमेंट गीता कॉलोनी इलाके में आती हुई दिखाई दी।
इंस्पेक्टर विकास कुमार ने टीम को अलर्ट कर दिया। टीम ने होंडा सिटी कार नंबर डीएल 4 सीएनसी 1898 को बहुत तेज गति आते हुए देखा। टीम ने कार को रोकने का प्रयास किया लेकिन वे नहीं रुके और फरार हो गए। लेकिन टीम ने भी तेज स्पीट के साथ काफी दूर तक कार का पीछा किया।
आरोपियों को जब लगने लगा की अब वो बच नहीं सकते है तो उन्होंने गीता कॉलोनी के चाचा नेहरू अस्पताल के पास पुस्ता रोड पर अपनी होंडा सिटी कार से स्पेशल स्टाफ शाहदरा की पुलिस कार को टक्कर मार दी। टक्कर लगने के बाद भी शाहदरा स्पेशल स्टाफ ने गाड़ी का संतुलन बनाए रखा और बदमाशों की होंडा सिटी कार के बिलकुल सामने पुलिस गाड़ी को खड़ा कर उनके भागने के रास्ते को रोक दिया। आरोपियों में से एक ने एक देशी पिस्तौल से पुलिस पर गोली चलाने की कोशिश की लेकिन वह चूक गया।
टीम ने चारों और से घेरकर आरोपियों पर काबू पाने की कोशिश की। आरोपियों में से एक ने देशी पिस्तौल से पुलिस टीम पर गोली चलाने की कोशिश की, लेकिन आरोपी चूक गया। एक आरोपी ने स्पेशल स्टाफ शाहदरा के एक एसआई पर चाकू से हमला कर दिया, जिससे एसआई के दाहिने हाथ में चोट लग गई। बड़ी मशक्कत के बाद टीम ने सभी आरोपितों को काबू कर लिया।
गिरफ्तार गौ हत्यारों की पहचान जिला अमरोहा तहसील हसनपुर थाना नंगली उत्तर प्रदेश निवासी 33 वर्षीय चाँद उर्फ अरशद पुत्र रफीक व 20 वर्षीय अरकम पुत्र इशरार और विलेज एंड मोहल्ला नाला, जिला संभल उत्तर प्रदेश निवासी 21 वर्षीय नसीम उर्फ अयान पुत्र जाहिसुद्दीन, 30 वर्षीय अनस पुत्र नासिर और 23 वर्षीय अहमद गुफरान पुत्र भूरा के रूप में हुई।
तलाशी में गौ हत्यारों के पास से गाय का मांस, गाय के मांस को दुकानों तक ले जाने में इस्तेमाल होंडा सिटी कार नंबर डीएल 4 सीएनसी 1898, एक देशी पिस्तौल के साथ एक मिस्ड कार्टि्रज, लगभग एक फीट लंबे दो चाकू और एक लंबा स्क्रू ड्राइवर बरामद हुआ है।
पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि पिछले काफी समय से यमुना पार इलाके के थाना आनंद विहार, गाजीपुर व मयूर विहार में गोहत्या की वारदातों को अंजाम देते आ रहे है। आरोपियों ने आगे बताया कि एक गाय का मांस लगभग बीस हजार रुपये में बेचते थे। दिनांक 10 व 11 अप्रैल की दरमियानी रात को उनकी गैंग ने शास्त्री पार्क, सीलमपुर और गोकलपुरी इलाकों से सड़क पर रहने वाली तीन गायों को उठाकर श्याम गिरि मंदिर, शास्त्री पार्क के पास उनकी हत्या कर दी।
आरोपियों के खिलाफ थाना गीता कॉलोनी में एफआईआर संख्या 46/22 धारा 186/353/332/307/153ए, 295ए/429/34 और 4/7/8/12 डीएसीपी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया। आरोपियों से गोमांस खरीदने वालों को दबोचने के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है।
आरोपी चाँद उर्फ अरशद की लंबी क्राईम हिस्ट्री है यह थाना गाजीपुर, कल्यानपुरी व जगतपुरी में चोरी के 9 मामलों में पाया गया है। आरोपी नसीम उर्फ अयान थाना गीता काॅलोनी व आनन्द विहार में गाये काटने के दो मामलों में वांडेट था।
आरोपी अनस पुत्र नासिर के खिलाफ थाना गीता काॅलोनी में गौ हत्या का पहले से ही एक मामला दर्ज है।
आरोपी अहमद गुफरान थाना आनंद विहार, गाजीपुर व मयूर विहार में गोहत्या के तीन मामलों में वांडेट पाया गया है।
सनसनी आॅफ इंडिया नेटवर्क