सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क
पीतमपुरा, नई दिल्ली।
दिल्ली के पीतमपुरा इलाके में रिलायंस ज्वेलरी शोरूम (Reliance Jewels Pitampura) से साढ़े तीन करोड़ की डकैती के मामले में पुलिस ने सात लोगों को गिरफ्तार किया है. बदमाशों के पास से करीब पौने दो करोड़ के जेवरात और वारदात में इस्तेमाल होंडा सिटी कार और चोरी की मारुति कार बरामद हुई है. गिरफ्तार सभी बदमाशों पर पहले से आपराधिक मामले दर्ज हैं. मामले का मास्टरमाइंड पिंटू शेख और उसका दूसरा साथी डकैती की वारदात करने के बाद अपने हिस्सा का सोना लेकर ट्रेन से पश्चिम बंगाल रवाना हो गया. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने हजारीबाग (Hazaribagh) आरपीएफ को सूचना दी. जिसके बाद उसे हावड़ा मेल से दबोच लिया गया.

दिल्ली (Delhi) के नॉर्थ-वेस्ट डिस्ट्रिक्ट की डीसीपी उषा रंगरानी ने बताया कि गिरफ्तार बदमाशों की पहचान शाहबाद डेयरी निवासी शंकर, रोहिणी निवासी सूरज, रिठाला के सलीम, बवाना के रहने वाले पिंटू शेख और दौलतपुर निवासी राहुल के रूप में हुई है.

आरोपियों की क्राइम कुंडली
दिल्ली (Delhi) के नॉर्थ-वेस्ट डिस्ट्रिक्ट की डीसीपी उषा रंगरानी ने बताया कि गिरफ्तार बदमाशों की पहचान शाहबाद डेयरी निवासी शंकर, रोहिणी निवासी सूरज, रिठाला के सलीम, बवाना के रहने वाले पिंटू शेख और दौलतपुर निवासी राहुल के रूप में हुई है. वहीं खरीदारों की बात करें तो बवाना का मिंटू और रोहिणी का सानू को भी मामले की जानकारी थी. सूरज केएनकाटजू मार्ग थाने का घोषित बदमाश है. 14 जनवरी की सुबह कार से आए कुछ बदमाशों ने पीतमपुरा स्थित रिलायंस ज्वेलरी शोरूम पर धावा बोला. बदमाशों ने गार्ड विनय शुक्ला को बंधक बनाया और गोली मारने की धमकी दी.

दिल्ली के रोहिणी स्थित रिलायंस ज्वेलरी दुकान में डाका डाल भाग रहे दो अपराधियों को आरपीएफ ने धनबाद के हजारीबाग रोड रेलवे स्टेशन पर कालका मेल से गिरफ्तार किया है। दोनों के पास से करीब एक करोड़ रुपये की ज्वेलरी भी बरामद की गई है। यह गिरफ्तारी शनिवार तड़के धनबाद रेल मंडल के हजारीबाग रोड रेलवे स्टेशन पर हुई। गिरफ्तारी के बाद आरपीएफ ने रोहिणी के एसपी को वीडियो कॉल कर अपराधियों की गिरफ्तारी की जानकारी दी। वीडियो कॉल के माध्यम से एसपी ने अपराधियों की पहचान सुनिश्चित की।

6.9 Kg जेवर लूटे, 7 गिरफ्तार 4 अब भी फरार
जांच में पुलिस को पता चला कि बदमाश शोरूम से करीब 6.9 किलोग्राम के जेवरात ले गए थे. मौर्या एंक्लेव थाना पुलिस और Delhi Police के स्पेशल स्टाफ ने कई टीम बनाकर जांच आगे बढ़ाई. तकनीकी जांच और लोकल इंटेलिजेंस से जानकारी हासिल करने के बाद पुलिस ने 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. वारदात में चार अन्य बदमाश शामिल हैं जो फिलहाल फरार हैं. पुलिस का कहना है कि लगातार दबिश जा रही है और जल्द ही उन्हें पकड़ा जाएगा.

पुलिस ने जिन आरोपियों को गिरफ्तार किया है, उनमें दिल्ली के निवासी शंकर, सूरज, पिंटू शेख, राहुल और सानू रहमान, झारखंड निवासी सलीम शामिल हैं. बताया जाता है कि सूरज के खिलाफ चोरी के 96 मामले दर्ज हैं. सभी आरोपियों के खिलाफ पहले से कोई न कोई केस दर्ज है.

महीने भर से कर रहे थे रेकी
बदमाशों से पूछताछ में पता चला है कि वारदात के लिए महीने भर से रेकी जारी थी. वारदात का मास्टर माइंड पिंटू शेख और सूरज है. दोनों ने वर्ष 2019 में इसी ज्वेलरी शोरूम में सेंधमारी की थी. जिसमें इन लोगों ने छह सौ ग्राम जेवरात की चोरी की थी. गहने बेचने पर तब इन्हें काफी पैसे मिले थे पकड़े गए तो जेल में पिंटू और सूरज ने साजिश रची कि अगली बार इसी शोरूम में डकैती को अंजाम देकर बड़ा हाथ मारेंगे. एक महीने के रेकी के दौरान पता चला कि शोरूम में नया गार्ड आया है. उसके बाद डकैती की साजिश को आखिरी टच दिया गया था.