60 वर्षीय कुख्यात हथियार तस्कर गिरफ्तार, 10 पिस्टल और 20 कारतूस बरामद

0

विजय कुमार दिवाकर
स्पेशल सेल की साउथर्न रेंज टीम ने इंटरस्टेट गन रनिंग रैकेट का भंडाफोड़ करते हुए उत्तर प्रदेश के हमीरपुर निवासी एक 60 वर्षीय आर्म्स सप्लायर कासिम अली को जीरो पॉइंट बत्तीस की सात सेमी ऑटोमैटिक पिस्तौल, तीन सिंगल शॉट पिस्तौल और 20 जिन्दा कारतूस के साथ दिल्ली के पुल प्रहलादपुर इलाके से गिरफ्तार किया है। आरोपी पिछले 15 सालों से दिल्ली एनसीआर, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अवैध हथियारों और कारतूस की तस्करी कर रहा था। आरोपी मध्य प्रदेश से कम दाम में पिस्टल खरीदकर दिल्ली एनसीआर, यूपी और हरियाणा के गैंगस्टरों को अधिक कीमत में बेचता था। गिरफ्तार आरोपी habitual offender है और इसकी लम्बी क्राइम हिस्ट्री है।

स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह के अनुसार स्पेशल सेल साउथर्न रेंज के एसीपी अत्तर सिंह की सुपरविजन में स्पेशल सेल ने मध्य प्रदेश के सेंधवा, खरगोन, धार और बुरहानपुर से अवैध हथियार लाकर दिल्ली एनसीआर में अवैध हथियार सप्लाई करने वालो को दबोचने के लिए अभियान चलाया हुआ था।

स्पेशल सेल साउथर्न रेंज के तेज तर्रार इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह की टीम को इनपुट मिला की गांव बकरई तहसील रथ जिला हमीरपुर यूपी निवासी 60 वर्षीय कासिम अली अपने साथियों के साथ मिलकर दिल्ली एनसीआर में अवैध हथियार सप्लाई करने में लगा हुआ है।

जसमीत सिंह, डीसीपी स्पेशल सेल

इनफार्मेशन मिलते ही स्पेशल सेल साउथर्न रेंज के तेज तर्रार इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह की टीम ने मैनुअल सर्विलांस से अवैध हथियार तस्कर कासिम अली और उसके सिंडिकेट पर नजर रखनी शुरू कर दी। हथियार तस्कर कासिम अली को दबोचने के लिए टीम ने मुखबिरों का जाल बिछा दिया।

दो महीने की कड़ी मेहनत के बाद स्पेशल सेल साउथर्न रेंज के इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह की टीम को पुख्ता इनफार्मेशन मिली की 29 जनवरी 2022 को कासिम नाम का एक कुख्यात हथियार तस्कर दिल्ली में एमबी रोड, पुल प्रह्लाद पुर रेलवे पुल के पास रात लगभग 8 बजे से 9 बजे के बीच अपने एक संपर्क को अवैध हथियार सप्लाई करने आएगा।

सूचना मिलते ही स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह ने हथियार तस्कर कासिम अली को दबोचने के लिए स्पेशल सेल साउथर्न रेंज के एसीपी अत्तर सिंह की supervision और इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह के नेतृत्व में एसआई सतविंदर, एसआई संजीव, हेड कॉन्स्टेबल तरुण, सुरेश और आश मोहम्मद की एक टीम का गठन किया।

एसीपी अत्तर सिंह, स्पेशल सेल साउथर्न रेंज

टीम ने महरौली बदरपुर रोड पर पुल प्रह्लादपुर के समीप रेलवे अंडर bridge के चारों तरफ जाल बिछाकर अपनी अपनी पोजिशन ली। रात लगभग आठ बजकर 15 मिनट पर हथियार तस्कर कासिम अली एक बैग के साथ पुल प्रह्लादपुर रेलवे अंडर bridge के नीचे से आता दिखाई दिया और रेलवे अंडर bridge के पास खड़ा होकर किसी का इंतजार करने लगा। लगभग 10 15 मिनट इंतजार करने के बाद हथियार तस्कर कासिम अली चलने लगा। टीम ने घेराबंदी कर आरोपी को दबोच लिया। आरोपी के कब्जे से जीरो पॉइंट बत्तीस की सात सेमी ऑटोमैटिक पिस्तौल, तीन सिंगल शॉट पिस्तौल और 20 जिन्दा कारतूस बरामद किये गये।

स्पेशल सेल इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह के नेतृत्व वाली टीम ने आरोपित के खिलाफ आर्म्स अधिनियम की नई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है, जिसमें न्यूनतम 10 साल व अधिकतम आजीवन कारावास की सजा का प्राविधान है।

सेंधवा, खरगोन, धार और बुरहानपुर मध्य प्रदेश से हथियार खरीदकर उसे दिल्ली एनसीआर में आपूर्ति करने हथियार तस्करों के खिलाफ सेल लगातार अभियान चला रही है।

ईश्वर सिंह, इंस्पेक्टर स्पेशल सेल, दक्षिणी रेंज

उसी कड़ी में सेल को यह सफलता भी मिली। आरोपी ने पूछताछ में खुलासा किया कि वह दिल्ली एनसीआर, हरियाणा व पश्चिमी यूपी में 15 वर्षों से अवैध हथियारों की तस्करी कर रहा था। आरोपी ने पूछताछ में आगे बताया की पहले यह यूपी के एक हथियार तस्कर के लिए करियर के रूप में काम किया करता था, मगर पिछले पांच वर्षों से इसने हथियारों की तस्करी का अपना नेटवर्क बना लिया था। वह मध्य प्रदेश के मदवानी से अवैध हथियार निर्माता से अवैध हथियार खरीदता था। ये मध्य प्रदेश से अवैध पिस्टल 10 से 12 हजार रुपये में लाता था और उसे आगे बदमाशों को 20 हजार रुपये में बेचता था।

कासिम ने यह भी बताया कि वह तीन साल में दिल्ली एनसीआर में 500 से ज्यादा अवैध हथियारों की सप्लाई कर चुका है।

जाँच में टीम को यह भी पता चला है की गिरफ्तार कासिम अली हथियारों की तस्करी के पांच मामलों और दिल्ली एनसीआर समेत यूपी में ड्रग सप्लाई के एक मामले में पहले भी गिरफ्तार किया गया था।

डीसीपी जसमीत सिंह ने बताया की स्पेशल सेल साउथर्न रेंज के एसीपी अत्तर सिंह की supervision में आरोपी से आगे की पूछताछ जारी है। उसके सिंडिकेट के बैकवर्ड और फॉरवर्ड लिंकेज का पता लगाने और उन्हें गिरफ्तार करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क