डॉक्टर की शिकायत पर डिफेंस कॉलोनी थाने में केस दर्ज हुआ और जब आसपास और कई रूट का सीसीटीवी फुटेज देखा गया तो एक ऑटो संदिग्ध हालात में दिखा.

सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क
नई दिल्ली। दक्षिणी दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे गैंग को पकड़ा है जिसका नाम गुलेल गैंग (Gulel Gang) है. इस गैंग के लोग पहले दूर से गुलेल के जरिये दूर से किसी कार का शीशा तोड़ते थे, फिर कार में रखे महंगे सामान जैसे लैपटॉप और आईपैड जैसे सामान चोरी कर लेते थे. पुलिस ने गैंग के 3 लोगों और एक चोरी के सामान के रिसीवर को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक 2 सितंबर को गार्गी कॉलेज के पास एम्स के एक डॉक्टर ने अपनी कार पार्क की और कुछ देर बाद जब वो वापस लौटा तो उसकी कार का शीशा टूटा मिला और उसका लैपटॉप और आईपैड गायब था. डॉक्टर की शिकायत पर डिफेंस कॉलोनी थाने में केस दर्ज हुआ और जब आसपास और कई रूट का सीसीटीवी फुटेज देखा गया तो एक ऑटो संदिग्ध हालात में दिखा.

ऑटो के रजिस्ट्रेशन नम्बर के जरिये मैदानगढ़ी थाने की पुलिस ने पहले संगम विहार से एक आरोपी मोहम्मद ज़ाकिर को पकड़ा फिर उसकी निशानदेही पर उसके 2 साथी अंकित और अजय भी पकड़े गए.

सभी ने पूछताछ में बताया कि वो ऑटो में बैठकर पहले सड़क पर पार्क कारों की रेकी करते हैं,जिस कार में कोई बैग या महंगा सामान रखा होता है उस कार का दूर से गुलेल से शीशा तोड़ते हैं. शीशा तोड़ने के बाद थोड़ी देर तक अगर कार के आसपास कोई हलचल नहीं होती तो कार के पास जाकर कार में रखा सामान निकाल लेते हैं.

फिर चोरी का ये सामान हरियाणा के हिसार में मुकेश पुनिया नाम के एक शख्स को बेच देते हैं, पुलिस ने हिसार से मुकेश पुनिया को भी गिरफ्तार किया है.

आरोपियों ने बताया कि वो पुलिस से बचने के लिये धंधे की बात फ्री टोन्स एप के जरिये करते थे. पुलिस ने आरोपियों के पास से बड़ी मात्रा में लैपटॉप, आईपेड और दूसरा सामान बरामद किया है और वारदात में इस्तेमाल होने वाली गुलेल भी बरामद की है, इस गैंग के पकड़े जाने से दर्जनों वारदात सुलझी हैं.