आरोपी मनीष ने पूछताछ में चौंकाने वाला खुलासा करते हुए बताया कि वो 1 साल से पिज्जा शॉप में पिज्जा बनाने का काम करता था. प्लान के तहत किसी को शक न हो इसलिए उसने 16 अगस्त को दोपहर में छुट्टी ली. उसके बाद देर रात मनीष ने रेकी की.

सनसनी ऑफ़ इंडिया नेटवर्क
गाजियाबाद। गाजियाबाद के इंदिरापुरम में पिज्जा की दुकान में हुई लूट के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. पुलिस को जांच में पता चला है कि गर्लफ्रेंड के महंगे शौक को पूरा करने के लिए पिज्जा बनाने वाले शख्स ने ही लूट की वारदात कराई थी.

गिरफ्तार आरोपी मनीष

दरअसल, 16 अगस्त को गाजियाबाद के इंदिरापुरम इलाके में रात 1 बजे पिज्जा की दुकान में 4 नकाबपोश बदमाशों ने हथियारों के दम पर लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया था. इस मामले में गाजियाबाद पुलिस ने 17 अगस्त को एफआईआर दर्ज की थी और जांच शुरू कर दी थी. पुलिस ने आस-पास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जिससे सुराग मिला. इसके बाद पुलिस ने 2 आरोपियों मनीष और मोहित को गिरफ्तार किया.

आरोपी मनीष ने पूछताछ में चौंकाने वाला खुलासा करते हुए बताया कि वो 1 साल से पिज्जा शॉप में पिज्जा बनाने का काम करता था. प्लान के तहत किसी को शक न हो इसलिए उसने 16 अगस्त को दोपहर में उसने छुट्टी ली. उसके बाद देर रात मनीष ने रेकी की. मनीष ने अपने साथी मोहित और उसके साथ मौजूद 2 और साथियों के साथ रात 1 बजे दुकान में हथियार के दम पर डरा धमका कर 35 हजार रुपये और मोबाइल फोन लूट लिए.

इस घटना को अंजाम देने के बाद सभी दुकान से आराम से फरार हो गए. हालांकि घटना तुरंत प्रकाश में आ गई क्योंकि इंदिरापुरम के खास इलाके में इसे अंजाम दिया गया था. पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर मनीष को धर दबोचा. पूछताछ में मनीष ने बताया कि वो बुलंदशहर का रहने वाला है. उसे पिज्जा बनाने से ज्यादा पैसे नहीं मिल पा रहे थे. उसकी गर्लफ्रेंड भी थी जिसका शौक पूरा नहीं कर पा रहा था. इसके बाद अपने दोस्तों को भी इसने लालच दिया कि लूट से काफी पैसे मिलेंगे. लिहाजा लूट का प्लान बना और घटना को अंजाम दिया गया. इस मामले में मनीष के 2 सहयोगी धीरज और रोहित की तलाश की जा रही है.