सनसनी ऑफ़ इंडिया
जालंधर।

रवेज अहमद खान ने बताया कि मोटी कमाई के चक्कर में वह उक्त चोर गिरोह में शामिल हो गया। वह श्रीनगर से अपने साथी ताहिर हुसैन के साथ फ्लाइट लेकर दिल्ली में कार चोरी करने जाते थे।

सीआइए स्टाफ वन ने अंतर्राज्यीय लग्जरी कार चोर गिरोह का राजफाश करते हुए इसके दो सदस्यों को दिल्ली से चुराई गईं दो कारों समेत गिरफ्तार किया है। प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि यह गिरोह दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा व पंजाब से अब तक 45 लग्जरी गाड़ियां चोरी कर श्रीनगर में बेच चुका है। पकड़े गए आरोपितों की पहचान परवेज अहमद खान पुत्र नाजिर अहमद निवासी लक्ष्मणपुरा थाना बटमालू जिला श्रीनगर और ताहिर हुसैन डार पुत्र अली मुहम्मद डार निवासी गांव रजीक कादल थाना नवाटा जिला श्रीनगर जम्मू कश्मीर के रूप में हुई है।

सीआइए वन के प्रभारी सब इंस्पेक्टर हरमिंदर सिंह ने बताया कि उन्हें गुप्त सूचना मिली थी कि जम्मू-कश्मीर, दिल्ली व उत्तर प्रदेश के कुछ लोगों ने चोर गिरोह बना रखा है। यह गिरोह पंजाब, हरियाणा, दिल्ली व अन्य राज्यों से लग्जरी कारें चोरी कर उनके चेसिस व इंजन नंबर से छेड़छाड़ करने के बाद जाली दस्तावेज तैयार कर श्रीनगर व आसपास के शहरों में बेच देते हैं। इसी सूचना के आधार पर टीम ने परवेज अहमद खान को जम्मू-कश्मीर बाईपास और ताहिर हुसैन डार को पठानकोट बाईपास से गिरफ्तार किया है। उनसे दिल्ली से चोरी की गई क्रेटा कार नंबर डीएल 8सी-एवी-7847 और बलेनो नंबर डीएल 8सी-एएक्स 4006 बरामद की गई।

फ्लाइट में जाते थे कार चोरी करने
परवेज अहमद खान ने पूछताछ में बताया कि वह पहले टैक्सी चलाता था। इस दौरान उसका संपर्क अनंतनाग में सक्रिय चोर गिरोह के सदस्यों से हुआ। इस गिरोह से उत्तर प्रदेश व दिल्ली के चोर पहले ही जुड़े हुए थे। मोटी कमाई के चक्कर में वह उक्त चोर गिरोह में शामिल हो गया। पूछताछ में उसने कहा कि वह श्रीनगर से अपने साथी ताहिर हुसैन के साथ फ्लाइट लेकर दिल्ली में कार चोरी करने जाते थे। दिल्ली पहुंचने के बाद वहां के साथी चोरों से उनकी मुलाकात होती थी। इनके साथ मिलकर वो लग्जरी गाड़ियां चोरी करते और फिर उन्हें कश्मीर पहुंचा देते। वहां पर इनके इंजन व चेसिस नंबर से छेड़छाड़ करने के बाद जाली दस्तावेज तैयार कर कश्मीर में बेच देते।

रवेज अहमद खान ने बताया कि मोटी कमाई के चक्कर में वह उक्त चोर गिरोह में शामिल हो गया। वह श्रीनगर से अपने साथी ताहिर हुसैन के साथ फ्लाइट लेकर दिल्ली में कार चोरी करने जाते थे।

परवेज लाया ताहिर को गिरोह में
कश्मीरी चोर गिरोह से संपर्क होने के बाद परवेज खान ने ताहिर हुसैन को अपने साथ मिला लिया। ताहिर हुसैन भी टैक्सी ड्राइवर था। दोनों को गाड़ी चलाने का अच्छा अनुभव था, इसलिए दोनों इस गिरोह के सरगर्म सदस्य बन गए।

दिल्ली, जम्मू में छापेमारी जारी
एसआइ हरमिंदर सिंह ने कहा कि इनसे पूछताछ के बाद गिरोह के जिन बाकी सदस्यों का पता चला है, उनके गिरफ्तारी वारंट हासिल कर लिए गए हैं। उनकी तलाश में लगातार दिल्ली व जम्मू में छापेमारी की जा रही है। इसके अलावा जिन लोगों की यह कारें चोरी की गईं, उनसे भी संपर्क किया जा रहा है ताकि दिल्ली से कार चोरी के बारे में जानकारी हासिल की जा सके।