सनसनी ऑफ़ इंडिया
गोपालगंज, बिहार।

राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के एक पूर्व नेता को साइबर ठगी (Cyber Cheating) के मामले में उत्‍तर प्रदेश (UP) की एसटीएफ (STF) ने गिरफ्तार किया है। उसपर नौकरी के नाम पर बेरोजगारों से ठगी का आरोप है। विदित हो कि हाल ही में एक शादी के दौरान फायरिंग (Firing) करते उसका वीडियो (Video) भी वायरल हुआ था।

बिहार के एक साइबर ठग को लखनऊ में सूपी एसटीएफ ने गिरफ्तार किया। उसपर बेराेजगारों को ठगने का आरोप है। यह ठग पहले आरजेडी का नेता था।

लखनऊ में हुई गिरफ्तारी
बिहार के पूर्व आरजेडी नेता प्रदीप देव (Pradeep Deo) सहित तीन लोगों को यूपी एसटीएफ की टीम ने साइबर ठगी के मामले में लखनऊ (Lucknow) के चिनहट (Chinhat) के समीप गिरफ्तार कर लिया। तीनों पर नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगारों को ठगने के आरोप हैं। उनके कब्जे से 16 एटीएम कार्ड, 21 हजार नकदी, दो आधार कार्ड व दो पैन कार्ड भी बरामद किए गए। आरोपितों को पूछताछ के बाद जेल भेज दिया गया।

इन्‍हें किया गया गिरफ्तार
गिरफ्तार आरोपित छपरा जिले के नेथुआ थाना क्षेत्र के मढौरा गांव निवासी राकेश कुमार सिंह उर्फ पिंटू ठाकुर, गोपालगंज नगर थाना क्षेत्र के मानिकपुर गांव निवासी श्रीराम साह के पुत्र तथा पूर्व में राजद में रहे प्रदीप देव व हथुआ थाना क्षेत्र के रूपनचक गांव निवासी बिट्टू यादव हैं। यूपी एसटीएफ ने बताया कि तीनों ने स्वीकार किया है कि वे नौकरी के नाम पर ठगी करते हैं। प्रदीप देव दो सहयोगियों के साथ लखनऊ के चिनहट में किसी कार्य से गया था। इसकी जानकारी यूपी एसटीएफ को मिल गई।

बिहार के एक साइबर ठग को लखनऊ में सूपी एसटीएफ ने गिरफ्तार किया। उसपर बेराेजगारों को ठगने का आरोप है। यह ठग पहले आरजेडी का नेता था।

प्रदीप पर पहले भी लग चुके ये आरोप
बताया जाता है कि प्रदीप देव के विरुद्ध फर्जीवाड़ा का यह अकेला मामला नहीं। पहले भी गोपालगंज जिले के हथुआ थाने में भी उसके खिनाफ फर्जीवाड़ा करने के आरोप में भी एफआइआर दर्ज है। प्रदीप का एक शादी के समारोह के दौरान फायरिंग करते हुए वीडियो भी हाल में सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।

पांच साल पूर्व आरजेडी से निष्‍कासित
गोपालगंज आरजेडी जिलाध्यक्ष रेयाजुल हक राजू ने बताया कि प्रदीप देव को पांच साल पूर्व पार्टी से निकाल दिया गया था।