मोइनुद्दीन और अशफाक

हिदुंवादी नेता कमलेश तिवारी के कातिलों की फोटो यूपी पुलिस ने सोमवार शाम को जारी कर दी। इनके नाम मोइनुद्दीन और अशफाक बताए गए हैं। इन दोनों के सिर पर सोमवार को डीजीपी ने ढ़ाई-ढ़ाई लाख रुपये का इनाम घोषित किया है।
सोमवार को ही नागपुर एटीएस ने एक और संदिग्ध को गिरफ्तार किया। पकड़े गए आरोपी का नाम सैय्यद आसिम अली बताया जा रहा है। नागपुर पुलिस ने बताया कि सैय्यद दूसरे हत्यारों के साथ लगातार संपर्क में था। पुलिस ने बताया कि कमलेश तिवारी की हत्या में इसकी मुख्य भूमिका थी।
इससे पहले इस मामले से जुड़े तीन आरोपियों को यूपी एटीएस गुजरात से पकड़कर लखनऊ लेकर चुकी है। जिनसे एटीएस मुख्यालय में पूछताछ की गई। वहीं, शनिवार शाम को पुलिस ने लखनऊ के कैसरबाग स्थित खालसा होटल के उस कमरे की तलाशी ली, जिसमें कमलेश तिवारी के हत्यारे ठहरे हुए थे।

शुक्रवार दोपहर वारदात के बाद दोनों वापस होटल पहुंचे और कपड़े बदलकर भाग गए। पुलिस ने शनिवार देर रात होटल के कमरे से कमलेश की हत्या में इस्तेमाल चाकू और खून से सना भगवा रंग का कुर्ता बरामद किया था।

बरामद सामान को फोरेंसिक जांच के लिए भेजकर कमरा सील कर दिया गया। रिसेप्शन पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज में हत्यारों की मिठाई का डिब्बा लेकर बाहर जाते व अन्य तस्वीरें मिल गई हैं। पुलिस ने रजिस्टर व फुटेज कब्जे में ले लिया है।