केरल के हाईप्रोफाइल सीरियल मर्डर केस में तीनों आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. थामरसेरी जूडिशल फर्स्ट क्लास मजिस्ट्रेट कोर्ट ने तीनों को हिरासत में भेज दिया.

केरल के हाईप्रोफाइल सीरियल मर्डर केस में तीनों आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. थामरसेरी ज्यूडिशियल फर्स्ट क्लास मजिस्ट्रेट कोर्ट ने सोमवार को कोझिकोड सीरियल मर्डर केस के तीनों को हिरासत में भेज दिया.
पुलिस की टीम पूरे मामले की जांच कर रही है. जॉय, मैथ्यू और प्राजीकुमार को शुक्रवार शाम कोर्ट मे पेश किया गया था, और उनकी हिरासत की अवधि आज खत्म हो रही थी. जांच टीम ने इन तीनों आरोपियों को और हिरासत में रखने की मांग नहीं की क्योंकि वे पहले ही 8 दिन उनकी हिरासत में रहे. सभी आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

दो और बच्चों को मारने की योजना
केरल के इस हाईप्रोफाइल सीरियल मर्डर केस में कोझिकोड पुलिस का कहना है कि जॉली थॉमस ने दो और बच्चों को मारने की योजना बनाई थी. ये दोनों बच्चे जॉली के परिवार के काफी करीबी थे. केस की जांच कर रहे एसपी केजी साइमन का कहना था कि यह वास्तव में अजीब मामला है. जॉली ने दो और बच्चों को मारने की कोशिश की थी.
हालांकि, पुलिस ने दोनों के नामों का खुलासा नहीं किया था. दरअसल, जॉली ने 2002 से 2016 के बीच अपने परिवार के 6 लोगों के खाने में सायनाइड जहर मिलाकर हत्या कर दी थी.

कब-कब हुई मौतें?
साल 2002 में जॉली की सास अनम्मा की मौत खाना खाने के कुछ समय ही बाद हो गई थी . 6 साल बाद जॉली के ससुर टॉम थॉमस की मौत भी इसी तरह से हुई. इसके बाद 2011 में जॉली के पति रॉय की भी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. रॉय के शव से साइनाइड के सैंपल मिले थे. मौत का सिलसिला यहीं नहीं थमा. इसके बाद अप्रैल 2014 में अनम्मा के भाई मैथ्यू की मौत हो गई थी और फिर 2 साल के बच्चे अल्फाइन भी मारा गया जो जॉली का रिश्तेदार लगता था. अल्फाइन की मौत के बाद 2016 में अचानक अल्फाइन की मां फिली को भी बेचैनी उठती है और अचानक उसने भी दम तोड़ दिया. ये उस घर में छठी मौत थी.odisa serial murder case